Home /News /bihar /

हाईकोर्ट ने केंद्र से पूछा- कोटा से छात्रों को वापस बिहार लाने की व्यवस्था कैसे होगी? अब पांच मई को होगी सुनवाई

हाईकोर्ट ने केंद्र से पूछा- कोटा से छात्रों को वापस बिहार लाने की व्यवस्था कैसे होगी? अब पांच मई को होगी सुनवाई

कोटा में फंसे छात्रों के प्रकरण में पटना हाई कोर्ट में पांच मई को होगी सुनवाई

कोटा में फंसे छात्रों के प्रकरण में पटना हाई कोर्ट में पांच मई को होगी सुनवाई

हाई कोर्ट ने केंद्र सरकार को जवाब देने का निर्देश देते हुए यह बताने को कहा है कि इन्हें वापस लाने कैसे व्यवस्था होगी. इस मामले पर अगली सुनवाई 5 मई को की जाएगी.

    पटना. कोटा व अन्य राज्यों में लॉकडाउन (Lockdown) में फंसे बिहार के छात्रों की घर वापसी के मामले पर सुनवाई 5 मई तक टल गई है. पटना हाई कोर्ट (Patna High court) के जस्टिस हेमंत कुमार श्रीवास्तव की खंडपीठ ने अधिवक्ता अजय कुमार ठाकुर व अन्य द्वारा दायर जनहित याचिकाओं पर सुनवाई सुनवाई करते हुए केंद्र सरकार को जवाब देने के लिए एक सप्ताह की मोहलत दी. पिछली सुनवाई में हाइकोर्ट ने केंद्र व राज्य सरकारों से इस मुद्दे पर जवाब-तलब किया था.

    केंद्र ने एक सप्ताह की मोहलत मांगी

    कोर्ट ने राज्य सरकार को वहां फंसे छात्रों को सभी संभव मदद करने को कहा. केंद्र सरकार की ओर से बताया गया कि सुप्रीम कोर्ट में बाहर से आये मजदूरों की वापसी से संबंधित मामला सुनवाई के लिए लंबित है, इसलिए केंद्र सरकार ने इस मामले पर जवाब देने के लिए पटना हाईकोर्ट से एक सप्ताह की मोहलत मांगी, जिसे कोर्ट ने स्वीकार कर लिया.



    अगली सुनवाई अब 5 मई को

    इससे पहले राज्य सरकार ने अपनी रिपोर्ट में कोर्ट को बताया था कि केंद्र सरकार के दिशा निर्देश के आलोक में इन छात्रों को लॉकडाउन में वापस लाने में असमर्थ है. हाई कोर्ट ने केंद्र सरकार को जवाब देने का निर्देश देते हुए यह बताने को कहा है कि इन्हें वापस लाने कैसे व्यवस्था होगी. इस मामले पर अगली सुनवाई 5 मई को की जाएगी.

    बिहार सरकार ने की ये घोषणा

    देशव्यापी लॉकडाउन को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से हुई बैठक के बाद बिहार सरकार ने राज्य के बाहर फंसे छात्रों के लिए बड़ा ऐलान किया है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सरकार ने ऐलान किया है कि लॉकडाउन की वजह से बिहार के लाखों लोग भारत के अलग-अलग शहरों में फंसे हुए हैं. इन सभी लोगों को राज्य सरकार ने उनके खाते में एक-एक हजार रुपये देने की घोषणा की है.

    बिहार के बाहर राज्य के हजारों छात्र-छात्राएं भी अलग-अलग शहरों में हैं. सरकार इन छात्रों के खाते में भी एक हजार रुपये डालेगी. राज्य सरकार के सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के सचिव अनुपम कुमार ने सोमवार को यह जानकारी दी.

    (इनपुट- आनंद वर्मा)

    ये भी पढ़ें

    Tags: Bihar News, Corona Virus, COVID 19, Lockdown, Patna high court, PATNA NEWS

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर