लाइव टीवी

बिहार में बिखराव की ओर क्यों बढ़ रहा है महागठबंधन ? पढ़ें अंदर की कहानी

News18 Bihar
Updated: November 9, 2019, 4:02 PM IST
बिहार में बिखराव की ओर क्यों बढ़ रहा है महागठबंधन ? पढ़ें अंदर की कहानी
बिहार में महागठबंधन की एकता तार-तार होती दिख रही है.

महागठबंधन से अलग होने की मांझी की घोषणा के साथ ही बिहार में बीजेपी के कई नेताओं का उनसे मिलने-जुलने का सिलसिला बढ़ गया है. गुरुवार को बीजेपी के एमएलसी संजय पासवान ने मांझी से मुलाकात की थी. इसके बाद शुक्रवार को बीजेपी विधायक रामप्रीत पासवान भी उनके मिलने पहुंचे.

  • Share this:
पटना. बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा (Hindustani awam Morcha) के अध्यक्ष जीतन राम मांझी (Jitan Ram Manjhi) ने अपनी पार्टी के बिहार में महागठबंधन (Grand Alliance) से अलग होने का एलान कर दिया है. हालांकि कांग्रेस (Congress) और आरएलएसपी (RLSP) कह रही है कि वह मांझी की पीड़ा समझते हैं और जल्दी ही सबकुछ ठीक कर लिया जाएगा. वे यह भी दावा कर रहे हैं कि आगामी 13 नवंबर को महागठबंधन की संयुक्त बैठक होगी जिसमें मांझी भी जरूर आएंगे.

मांझी से मिले BJP नेता
महागठबंधन से अलग होने की मांझी की घोषणा के साथ ही बिहार में बीजेपी के कई नेताओं का उनसे मिलने-जुलने का सिलसिला बढ़ गया है. गुरुवार को बीजेपी के एमएलसी संजय पासवान ने मांझी से मुलाकात की थी. इसके बाद शुक्रवार को बीजेपी विधायक रामप्रीत पासवान भी उनके मिलने पहुंचे. हालांकि इस दौरान दोनों के बीच क्या बातें हुईं इसको लेकर कुछ खुलासा नहीं हुआ है.

मांझी को मनाएगी RLSP

इस बीच मांझी ने भी बीजेपी नेताओं से मुलाकात पर सफाई देते हुए कहा कि इसमें कोई राजनीतिक बात नहीं है. ये लोग व्यक्तिगत कारणों से मिलने आए थे और मैं एनडीए में शामिल नहीं हो रहा हूं. वहीं रालोसपा रालोसपा के राष्ट्रीय महासचिव माधव आनंद ने कहा कि हम मांझी की नाराजगी नहीं समझ पा रहे हैं जो कि एक वरिष्ठ और सम्मानित नेता हैं.

मांझी से माधव आनंद की अपील
रालोसपा नेता ने कहा कि ऐसा लगता है कि वे महागठबंधन के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार और प्रत्येक घटक दल के लिए सीटों की हिस्सेदारी को लेकर आतुर हैं. हम उनसे केवल यह आग्रह कर सकते हैं कि वह जल्दबाजी में महागठबंधन को और नुकसान नहीं पहुंचाएं.
Loading...

अगर माधव आनंद की बात को गहराई से समझें तो वह बीते उपचुनाव में नाथनगर विधानसभा सीट से मांझी के उम्मीदवार उतारने की ओर था. इस सीट पर राजद हार गयी थी और हार का अंतर हम उम्मीदवार को मिले वोटों से कम था. लेकिन हकीकत ये है कि उपचुनाव में विकासशील इंसान पार्टी ने भी अपने तेवर दिखा दिए हैं कि वह भी महागठबंधन से अलग हो सकती है.

VIP के तेवर और कांग्रेस के सवाल
बता दें कि बीते उपचुनाव में वीआईपीट ने ने भी सिमरी बख्तियारपुर सीट से राजद का उम्मीदवार होने के बावजूद अपना प्रत्याशी खड़ा कर दिया था. वहीं, कांग्रेस की ओर से भी कई बार सख्त बयान आए हैं. समस्तीपुर लोकसभा और किशनगंज विधानसभा सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी की हार के लिए पार्टी ने आरजेडी कार्यकर्ताओं द्वारा सहयोग नहीं किए जाने को लेकर सवाल उठाए थे. जाहिर है महागठबंधन बिखराव की कगार पर खड़ा है.

उपचुनाव में सामने आई खींचतान
दरअसल बीते लोकसभा चुनाव नतीजों के बाद से ही बिहार में महागठबंधन दलों के बीच सबकुछ ठीक नहीं है. पूर्व सीएम जीतन राम मांझी कई बार तेजस्वी यादव को अनुभवहीन बता चुके हैं. अक्टूबर में हुए एक लोकसभा और 5 विधानसभी सीटों पर हुए उपचुनाव में महागठबंधन के अंदर की खींचतान सामने आ गई थी.

कांग्रेस ने भी किया था RJD के कदम का विरोध
जाहिर है ऐसा कर आरजेडी ने अपने सहयोगी दलों को मैसेज देने की कोशिश की कि महागठबंधन में उसकी ही चलेगी. हालांकि आरजेडी के इस कदम का कांग्रेस ने भी विरोध किया था और पार्टी ने सभी 5 सीटों पर अपना उम्मीदवार उतारने की बात कही थी. हालांकि बाद में समझौता हो गया और वह समस्तीपुर लोकसभा और किशनगंज विधानसभा सीट पर लड़ी.

मांझी को चाहिए 36 तो कुशवाहा को 27 सीटें
हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा की ओर से बीते जून महीने में पार्टी प्रवक्ता विजय यादव ने कहा था हम लोग बिहार में 35 से 40 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे. वहीं पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी आरएलएसपी भी 27 सीटों पर चुनाव लड़ने की दावेदारी कर चुकी है.

वहीं, कांग्रेस पहले से कह रही है कि लोकसभा चुनाव में उनकी पार्टी ने एक सीट जीती थी इससे साबित होता है कि उनका जनाधार अधिक है, ऐसे में हिस्सेदारी भी ज्यादा होनी चाहिए. जाहिर है बिहार में महागठबंधन के भीतर मची रार के पीछे 2020 में होने वाले विधानसभा चुनाव में अधिक से अधिक सीटों की हिस्सेदारी को लेकर है.

ये भी पढ़ें

महागठबंधन से अलग हुई जीतन राम मांझी की पार्टी, BJP के साथ जाने की अटकलें

बिहार BJP अध्यक्ष ने अपनी ही सरकार के घोटालों की खोली पोल! गबन का लगाया आरोप

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 9, 2019, 3:58 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...