बिहार: सपा-बसपा की राह पर महागठबंधन !
Patna News in Hindi

बिहार: सपा-बसपा की राह पर महागठबंधन !
बिहार में महागबंधन में बिखराव के संकेत

मांझी ने कहा, जब बाढ़ आती है तब पेड़ पर हर तरह के जीव सवारी करते हैं. महागठबंधन का स्वरूप जो चुनाव के पहले बना था, वह अभी नहीं दिख रहा है. कांग्रेस अकेले अपनी डफली बजा रही है.

  • Share this:

बिहार के पूर्व सीएम और हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा के अध्यक्ष जीतन राम मांझी ने सोमवार को दो बड़े बयान दिए. पहला ये कि महागठबंधन में बिखराव हो गया है. दूसरा यह कि अब सब अपनी डफली-अपना राग बजा रहे हैं. मांझी के इस बयान के बाद सवाल उठ रहे हैं कि क्या उत्तर प्रदेश की सपा-बसपा गठबंधन का जैसा हाल हुआ, क्या बिहार में भी महागठबंधन के साथ ऐसा ही होने जा रहा है?


अलग-अलग विरोध प्रदर्शन से बिफरे मांझी


दरअसल मांझी ने ये बयान उस संदर्भ में दिया, जिसमें चमकी बुखार और बिहार में गिर रही कानून व्यवस्था को लेकर आरजेडी ने सोमवार को अलग होकर धरना दिया. उनका मानना था कि इस मुद्दे पर सभी को एक मंच पर आकर सरकार को घेरना चाहिए था.


मांझी के बयान से बिखराव के संकेत


इसी के साथ मांझी ने कह दिया कि उनकी पार्टी भी इस मसले लेकर 26 जून को महाधरना का आयोजन करेगी. मांझी ने कहा,  जब बाढ़ आती है तब पेड़ पर हर तरह के जीव सवारी करते हैं. महागठबंधन का स्वरूप जो चुनाव के पहले बना था, वह अभी नहीं दिख रहा है. कांग्रेस अकेले अपनी डफली बजा रही है. आरजेडी  भी अलग राह पर है. दूसरे दल भी अलग-अलग काम कर रहे हैं.


तेजस्वी में नहीं है लालू वाला तेवर


मांझी ने कहा कि महागठबंधन में अब पहले वाली बात नहीं रही. सभी अपने हिसाब से चल रहे हैं. इसमें अब बिखराव हो गया है. आरजेडी नेता तेजस्वी यादव के अज्ञातवास पर उन्होंने कहा कि वे अभी  अपरिपक्व हैं और उनमें लालू वाला तेवर नहीं है. उनके परिवार में फूट से भी राजद को नुकसान हुआ है. मांझी ने झारखंड में राजद में फूट का कारण भी नेतृत्व की कमी को बताया.




अलग होने की कवायद में कांग्रेस


गौरतलब है कि बिहार विधानसभा में कांग्रेस के नेता सदानंद सिंह गठबंधन से अलग होकर कांग्रेस को चुनाव में अकेले उतरने की सलाह दे चुके हैं. उन्होंने कहा था कि पार्टी को वैशाखी से उबरना होगा. अपनी जमीन तो मजबूत करनी ही होगी.


महागठबंधन की बैठक से दूर रही कांग्रेस


गौरतलब है क लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद बिहार में महागठबंधन के विभिन्न दलों ने 29 मई को समीक्षा बैठक की. पूर्व सीएम राबड़ी देवी के आवास पर हुई इस बैठक में महागठबंधन के घटक दलों के कई बड़े नेता इसमें शामिल हुए, लेकिन इसमें कांग्रेस पार्टी की ओर से कोई प्रतिनिधि नहीं पहुंचा था.


ये भी पढ़ें-


लॉ एंड ऑर्डर पर घिरे CM नीतीश, 20 दिन में दूसरी बार बुलाई बड़ी बैठक

मॉनसून सत्र: बड़े संकट में घिरी RJD, महीने भर से अज्ञातवास पर तेजस्वी यादव!
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज