Ram Vilas Paswan Death: जब रामविलास पासवान ने गाया था- ये मेरा दीवानापन है, देखें EXCLUSIVE VIDEO

रामविलास पासवान को बॉलीवुड सॉन्‍ग गुनगनाने का था शौक.
रामविलास पासवान को बॉलीवुड सॉन्‍ग गुनगनाने का था शौक.

केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान (Ram Vilas Paswan) को बॉलीवुड से भी खास लगाव था. यही वजह है कि गंभीर नेता के रूप में पहचान रखने वाले पासवान ने न्‍यूज 18 के एक कार्यक्रम में हिन्‍दी फिल्‍मों के प्रति अपना प्रेम बताया था.

  • Share this:
पटना. केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान (Ram Vilas Paswan) का निधन हो गया है और इस समय उनके बारे में तमाम किस्‍से सामने आ रहे हैं. पिछले साल यानी 2019 में लोकसभा चुनाव की मतगणना से पहले देश दुनिया ने उनका एक अलग अंदाज देखा था. उस समय गंभीर नेता के रूप में पहचान रखने वाले पासवान का न्‍यूज़ 18 इंडिया पर लोगों ने बॉलीवुड प्रेम देखा था. इस दौरान उन्‍होंने 'हम उस देश के वासी हैं जिस देश में गंगा बहती है, ये मेरा दीवानापन है, प्‍यार किया तो डरना... जैसे तमाम गाने गुनगुना कर अपना एक अलग अंदाज पेश किया था. यही नहीं, उन्‍होंने एक्सक्लूसिव इंटरव्‍यू के दौरान बॉलीवुड से अपने लगाव को भी जाहिर किया था.

बहरहाल, देश के दिग्‍गज नेताओं में शुमार पासवान पिछले कुछ समय से बीमार थे और दिल्ली के एक अस्पताल में भर्ती थे. मोदी सरकार में उपभोक्ता, खाद्य और सार्वजनिक वितरण प्रणाली से जुड़े मंत्रालय की जिम्‍मेदारी निभाने वाले पासवान का हाल ही में दिल का ऑपरेशन किया गया था. पिछले साल उन्‍होंने चुनावी राजनीति में 50 वर्ष पूरे किए थे. इस दौरान रामविलास पासवान को 6 प्रधानमंत्रियों की मंत्रिपरिषद में केंद्रीय मंत्री के रूप में शामिल होने का मौका मिला था.





बिहार के खगड़िया से शुरू हुआ था सफर
रामविलास पासवान का जन्‍म 5 जुलाई 1946 को बिहार के खगड़िया जिले के शहरबन्नी गांव में हुआ था. इसके बाद वह कोसी कॉलेज और पटना यूनिवर्सिटी से अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद 1969 में बिहार के डीएसपी के तौर पर चुने गए थे. 1969 में पहली बार संयुक्त सोशलिस्ट पार्टी से विधायक बने थे. इसके अलावा रामविलास पासवान 1974 में पहली बार लोकदल के महासचिव बनाए गए थे. यही नहीं, उन्‍होंने अपने राजनीतिक सफर में 6 प्रधानमंत्रियों की मंत्रिपरिषद में केंद्रीय मंत्री के रूप में जिम्‍मेदारी निभाई. पासवान ने जिन पीएम के साथ काम किया उनमें पूर्व पीएम विश्वनाथ प्रताप सिंह, एच डी देवगौड़ा, इंद्र कुमार गुजराल, मनमोहन सिंह, अटल बिहारी वाजपेयी और नरेन्द्र मोदी शामिल हैं.



रामविलास पासवान को लालू प्रसाद यादव, नीतीश कुमार, शरद यादव और जार्ज फर्नांडीस जैसे समाजवादी नेताओं की श्रेणी में रखा जाता है और जेपी आंदोलन की उपज माना जाता है. इसके अलावा पासवान में राजनीतिक माहौल भांपने की गजब की काबिलियत थी. अपनी इसी काबिलियत के कारण वह सियासी हवा बखूबी पहचान लेते थे. यही वजह थी कि रामविलास पासवान को राजनीति का मौसम विज्ञानी माना जाता था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज