लाइव टीवी

बिहार: मुस्लिम-यादव के बाद अब दलित वोटरों पर RJD की नजर, खेला ये मास्टर कार्ड

Anand Amrit Raj | News18 Bihar
Updated: November 14, 2019, 6:15 PM IST
बिहार: मुस्लिम-यादव के बाद अब दलित वोटरों पर RJD की नजर, खेला ये मास्टर कार्ड
आंतरिक चुनाव में आरजेडी आरक्षण देगा (फाइल फोटो)

आरजेडी का दावा है कि बिहार में किसी भी पार्टी ने अपने कार्यकर्ताओं की जानकारी के लिए ऐसा कदम नहीं उठाया होगा जो आरजेडी इस बार अपने कार्यकर्ताओं की जानकारी के लिए कर रहा है.

  • Share this:
पटना. राष्ट्रीय जनता दल (RJD) ने दलितों को पार्टी से जोड़ने के लिए नया राजनीतिक दांव खेला है. आरजेडी ने तय किया है कि पार्टी संगठन में अब एससी-एसटी (SC-ST) को आरक्षण दिया जाएगा. आरजेडी की निचली इकाई से लेकर राज्य और राष्ट्रीय कार्यकारिणी में अब एससी-एसटी से आने वाले नेताओं को आरक्षित (Reservation) दिया जाएगा. स्पष्ट है कि आरजेडी की नजर एमवाई (MY Equation) समीकरण से बढ़कर दलित वोट बैंक को अपने पाले में करने की है.

निगाहें 2020 के चुनाव पर

दरअसल तेजस्वी यादव की गैर-मौजूदगी में गुरुवार को उनके सरकारी आवास पर संगठन चुनाव को लेकर आरजेडी की महत्वपूर्ण समीक्षा बैठक हुई. इस बैठक को इसलिए भी महत्वपूर्ण माना जा रहा था क्योंकि नजरें इस बात पर टिकी थीं कि आरजेडी के विधायक कितनी संख्या में इसमें शामिल होंगे, लेकिन पार्टी के लिए अच्छी खबर ये रही की उसके अधिकांश एमएलए और एमलसी बैठक में शामिल हुए. साथ ही पूरे प्रदेश से पार्टी के जिलाध्यक्ष भी इस बैठक में पहुंचे.

संगठन में SC-ST को आरक्षण

बैठक में संगठन चुनाव प्रभारियों को भी बुलाया गया था. तीन घंटे तक चली बैठक में कई फैसले लिए गए लेकिन सबसे महत्वपूर्ण था संगठन में SC-ST को आरक्षण देना. बैठक के बाद जगदानंद सिंह ने बताया कि संगठन में एससी-एसटी को आरक्षण देने का फैसला किया गया है. जिसमें 17 फीसदी SC/ST और 28 फीसदी आरक्षण अतिपिछड़ा वर्ग को दिया जाएगा. ये बड़ा फैसला सामाजिक न्याय के लिए लिया गया है. जगदानंद सिंह ने कहा कि ये फैसला लालू यादव-तेजस्वी यादव की सामाजिक न्याय की लड़ाई को और मजबूत करेगा.

पार्टी ने किया दावा

आरजेडी का दावा है कि बिहार में किसी भी पार्टी ने अपने कार्यकर्ताओं की जानकारी के लिए ऐसा कदम नहीं उठाया होगा जो आरजेडी इस बार अपने कार्यकर्ताओं की जानकारी के लिए कर रहा है. हर दल से अलग आरजेडी अपने कार्यकर्ताओं का दस्तावेज तैयार कर रहा है. इस दस्तावेज में हर बूथ के सक्रिय सदस्य का दस्तावेज पार्टी कार्यालय में रहेग. पार्टी का दावा है कि आज तक किसी दल के पास लिखित दस्तावेज नहीं है. ये दस्तावेज आरजेडी कार्यालय में रखे जाएंगे जिससे कोई भी जानकारी ले सकता है.
Loading...

ये भी पढ़ें- गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण को नीतीश ने दी श्रद्धांजलि, PMCH नहीं दे सका एंबुलेंस

31 कंप्यूटर जितना सटीक था वशिष्ठ नारायण सिंह का कैलकुलेशन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 14, 2019, 4:05 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...