'जनता कर्फ्यू' पर रार! BJP ने RJD को कहा 'राजनीतिक कोरोना', जानें क्यों

बिहार भाजपा ने तेजस्‍वी यादव पर साधा निशाना.

आरजेडी नेता ने कहा कि जहां दुनिया आज चांद पर जा रही है, वहीं लोगों को थाली पीटने को कहा जा रहा है. आरजेडी नेता ने कहा कि यह एक इवेंट के अलावा कुछ नहीं है.

  • Share this:
पटना. परिस्थिति कोई भी हो या मामला कैसा भी हो, बिहार में हर बात पर राजनीति होती है. कोरोना वायरस (Corona virus) जैसी 'महामारी' को लेकर जहां लोगों से सतर्क बरतने की बात कही जा रही है, वहीं इस पर राजनीति भी जारी है. 22 मार्च को प्रधानमंत्री द्वारा जनता कर्फ्यू के ऐलान के बाद बिहार में राजनीतिक बयानबाजी तेज हो गई है. आरजेडी (RJd) इस पूरी कवायद को नौटंकी करार दे रही है तो बीजेपी (BJP) ने पलटवार किया है.
आरजेडी जनता कर्फ्यू को बताया नौटंकी

प्रधानमंत्री मोदी के 22 मार्च को जनता कर्फ्यू के ऐलान को आरजेडी ने नौटंकी करार दिया है. पार्टी के नेता सुबोध राय ने कहा प्रधानमंत्री मोदी का जनता कर्फ्यू का ऐलान नौटंकी के सिवा कुछ नहीं है. जहां दुनिया आज चांद पर जा रही है, वहीं लोगों को थाली पीटने को कहा जा रहा है. आरजेडी नेता ने कहा कि यह एक इवेंट के अलावा कुछ नहीं है. देश की खराब होती अर्थव्यवस्था को छिपाने का एक प्रयास है.
आरजेडी को बताया राजनीति का कोरोना

जनता कर्फ्यू को नौटंकी बताए जाने के बाद बीजेपी भड़क गई है. बीजेपी ने आरजेडी को राजनीति का करोना करार दिया है. पार्टी प्रवक्ता निखिल आनंद ने कहा कि कोरोना जैसी महामारी को रोकने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बड़ा सार्थक फैसला लिया है.

इससे कोरोना से लड़ने में मदद मिलेगी. ऐसी परिस्थिति में भी आरजेडी का यह बयान बेहद शर्मनाक है. ऐसा लगता है जैसे आरजेडी राजनीति का कोरोना हो. आरजेडी के पास संवेदनशीलता नाम की चीज नहीं है.

'खत्म हो जाएगा आरजेडी का नमोनिशान'
वहीं, जेडीयू प्रवक्ता राजीव रंजन ने भी आरजेडी पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि यह सुधरने वाली पार्टी नहीं है. ऐसे समय में ऐसा बयान शर्मनाक है. पीएम मोदी ने भावनात्मक अपील की है. कोरोना से लड़नेने के लिए सबको साथ आना होगा. ऐसे बयानों के कारण आज आरजेडी की यह हालत है. आने वाले दिनों में आरजेडी का नामोनिशान खत्म हो जाएगा.
शिवानंद तिवारी ने भी बताया था नौटंकी

22 मार्च को होने वाले जनता कर्फ्यू को आरजेडी के वरिष्ठ नेता शिवानन्द तिवारी ने भी कल नौटंकी करार दिया था. उन्होंने कहा था कि यह बेवजह का किया जा रहा नौटंकी है इससे कोरोना ठीक नहीं होगा. वहीं पार्टी के विधायक भोला यादव ने भी इसे अघोषित आपातकाल कहते हुए विरोध किया है.
जनता कर्फ्यू के लिए लोगों से अपील

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी ने 22 मार्च को लोगों से जनता कर्फ्यू लगाने की अपील की है. रविवार के दिन सभी अपने घरों में परिवार के साथ रहे ताकि कोरोना से लड़ा जा सके और इसका प्रसार कम हो.


घरों की बालकनी से बजाएं ताली और थाली

पीएम ने ये भी अपील की है किजो लोग कोरोना मरीज की देखभाल में लगे हैं या किसी भी प्रकार से उनकी मदद कर रहे हैं, उन्हें शुक्रिया कहने के लिए अपने-अपने घरों के बालकोनी में खड़े होकर ताली या फिर थाली बजाएं.


ये भी पढ़ें

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.