Home /News /bihar /

आज बिहार में कन्हैया, हार्दिक, जिग्नेश की हुई एंट्री और RJD-Congress का हो गया ब्रेकअप

आज बिहार में कन्हैया, हार्दिक, जिग्नेश की हुई एंट्री और RJD-Congress का हो गया ब्रेकअप

बिहार में टूट गया आरजेडी-कांग्रेस का गठबंधन

बिहार में टूट गया आरजेडी-कांग्रेस का गठबंधन

Rjd-Congress Alliance Split : कन्हैया कुमार, हार्दिक पटेल, और जिग्नेश मेवानी की तिकड़ी आज पटना पहुंच रही है. अब ऐसे में राजनीतिक खेमे में यह चर्चा तेज होने लगी है कि कांग्रेस ने तीनों युवा चेहरों पर इतना भरोसा किया है कि अब आरजेडी से वर्षों पुराने गठबंधन को भी तोड़ दिया है.

अधिक पढ़ें ...

पटना.  बिहार के सियासी गलियारे में इन दिनों बड़ी हलचल मची है. लंबे अरसे से बिहार में आरजेडी के साथी रहे कांग्रेस ने अब महागठबंधन (Bihar  Alliance in Crisis) से अलग होने का फैसला ले लिया है. बिहार कांग्रेस प्रभारी भक्त चरण दास (Bhakt Charan Das) ने पटना में साफ-साफ कहा दिया है कि अब कांग्रेस महागठबंधन (Rjd-Congress Split) का हिस्सा नहीं है. इस बार उपचुनाव तो अलग लड़ ही रहे हैं. साथ ही आगामी लोकसभा चुनाव में भी बिहार की सभी 40 सीटों पर कांग्रेस अकेले चुनाव लड़ेगा. बिहार की राजनीति के लिहाज से यह आज की बड़ी खबर मानी जा रही है. लेकिन, इसी बीच एक और संयोग यह भी है कि आज ही तीन युवा चेहरे कन्हैया कुमार (Kanhaiya Kumar), हार्दिक पटेल (Hardik Patel) और जिग्नेश मेवानी (Jignesh Mevani) की तिकड़ी पटना पहुंच रही है. अब ऐसे में राजनीतिक खेमे में यह चर्चा तेज होने लगी है कि कांग्रेस ने तीनों युवा चेहरों पर इतना भरोसा किया है कि अब आरजेडी से वर्षों पुराने गठबंधन को भी तोड़ दिया है. दरअसल कन्हैया कुमार बिहार की राजनीति के उभरते युवा चेहरे के रूप में सबके सामने आ रहे हैं, वहीं वर्मतान में आरजेडी की पूरी बागडोर को संभाल रहे तेजस्वी यादव बिहार की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी के युवा चेहरे के तौर पर चुनावी मैदान में हैं. ऐसे में कन्हैया के कांग्रेस में शामिल होने के बाद से ही बिहार में महागठबंधन में गांठ पड़नी शुरू हो गयी थी.

दरअसल बिहार विधानसभा के 2 सीटों तारापुर और कुशेश्वरस्थान पर होना वाला उपचुनाव अब काफी दिलचस्प हो गया है. एक तरफ जहां जदयू अपनी जीती हुई सीट को लेकर दावा कर रही है. तो दूसरी तरफ तेजस्वी यादव ने तारापुर (Tarapur) और कुशेश्वरस्थान (Kusheshwarsthan) में लगातार नुक्कड़ सभाएं और डोर टू डोर अभियान चलाकर जीत के लिए पूरी ताकत लगा दी है. महागठबंधन से अलग राह अपनाने के बाद अब कांग्रेस ने भी दोनों सीटों पर फ्रेंडली फाइट के बजाय अपनी पूरी ताकत झोंक दी है.

कांग्रेस देना चाहती है आरजेडी को संदेश

उपचुनाव में प्रचार के लिए पहुंच रहे तीनों युवा चेहरों कन्हैया, जिग्नेश और हार्दिक पटेल का कांग्रेस ने अपने मुख्यालय सदाकत आश्रम में जोरदार स्वागत करने की तैयारी की है. सदाकत आश्रम में प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा, कांग्रेस विधायक दल के नेता अजीत शर्मा समेत दूसरे नेता शामिल भी इस स्वागत समारोह में मौजूद रहेंगे. सदाकत आश्रम में तीनों नेताओं की मौजूदगी में कई युवा कांग्रेस की सदस्यता भी लेंगे. कांग्रेस इन तीनों नेताओं को उपचुनाव के मैदान में प्रचार के लिए उतार कर यह संदेश देना चाहती हैं कि इस उपचुनाव को कांग्रेस गंभीरता से लड़ रही है. और आरजेडी से अलग होने का उसे कोई मलाल नहीं है.

तेजस्वी के खिलाफ कांग्रेस के तीन युवा
तारापुर और कुशेश्वरस्थान में आरजेडी की कमान संभाल रहे तेजस्वी यादव को जवाब देने के लिए कांग्रेस ने युवा चेहरे को ही सामने खड़ा कर दिया है. वो भी सिर्फ एक नहीं बल्कि एक साथ तीन-तीन युवा नेता तेजस्वी को चुनौती देंगे. बिहार विधानसभा चुनाव में यह पहली बार देखने को मिलेगा जब तेजस्वी, कन्हैया, हार्दिक पटेल एक दूसरे के खिलाफ ही हमला बोलते हुए दिखाई पड़ेंगे. अब ऐसे में यह कहना गलत नहीं होगा कि कांग्रेस ने बिहार में इन तीनों चेहरे की बदौलत खुद के अस्तित्व और बिहार में अलग चुनाव लड़ने की अपनी ताकत को सामने लाने की पूरी कोशिश में जुटी है.

दांव पर लगी है कांग्रेस की साख

इस पूरे मामले को लेकर बिहार के वरिष्ठ राजनीतिक संपादक अरुण कुमार पांडेय का कहना है कि बिहार में जिस तरह से अपनी एक पारंपरिक सीट कुशेश्वरस्थान को लेकर कांग्रेस ने अपने तेवर दिखाये हैं. उसे देखकर तो यही अंदाजा लगाया जा सकता है कि कांग्रेस एक बार फिर से बिहार में खो चुके अपने जनाधार को वापस जुटाना चाहती है. हालांकि चुनाव परिणाम में कांग्रेस दूसरे नंबर पर भी आ जाए तो यह बड़ी बात होगी. वहीं अरुण पांडेय ने कांग्रेस के महागठबंधन से अलग होने के बयान को एक तरह का राजनीतिक स्टंट करार दिया है. उनका कहना है कि कांग्रेस आगे भी इस बयान पर कायम रहेगी इसका मुझे कम ही यकीन है. कन्हैया, हार्दिक और जिग्नेश की बिहार में एंट्री से चुनाव परिणाम पर कोई खास असर नहीं पड़ने वाला है. भले कांग्रेस ने कन्हैया को बिहार में अपना चेहरा बनाया हो लेकिन इससे कुछ खास असर नहीं पड़ने वाला है. कुल मिलाकर उपचुनाव में कांग्रेस की साख दांव पर लगी है.

Tags: Bihar News, Bihar politics, Congress, Kanhaiya kumar, RJD

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर