'मर्द' समीकरण के जरिए बिहार उपचुनाव फतह करने की तैयारी में राजद

कभी एमवाई (मुस्लिम- यादव) समीकरण के सहारे लंबे समय तक बिहार की सियासत पर राज करने वाले राजद अब एक और नया समीकरण MARD की राजनीति पर बहुत ही सफाई से उपचुनाव में आगे बढ़ रही है

Anand Amrit Raj | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: February 13, 2018, 5:41 PM IST
'मर्द' समीकरण के जरिए बिहार उपचुनाव फतह करने की तैयारी में राजद
फाइल फोटो (news18)
Anand Amrit Raj | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: February 13, 2018, 5:41 PM IST
बिहार उपचुनाव में राजद एक नया समीकरण बनाकर एनडीए को शिकस्त देने की तैयारी कर रही है. राजद के इस समीकरण का नाम है मर्द यानी MARD. मर्द का मतलब M- मुस्लिम, A- अहिर (यादव), R-राजपूत, D-दलित है.

राजद के प्रवक्ता और विधायक शक्ति यादव का कहना है कि बिल्कुल हम लोग मर्द की तरह राजनीति करेंगे. चाहे हिन्दू हो, मुस्लिम हो, राजपूत हो दलित या महादलित. सभी लोगों को साथ लेकर मिलाकर हम लोग चुनाव लड़ेंगे. मर्द का समीकरण हिट करेगा और इसमें कोई शक नहीं है.

कभी एमवाई (मुस्लिम- यादव) समीकरण के सहारे लंबे समय तक बिहार की सियासत पर राज करने वाले राजद अब एक और नया समीकरण MARD की राजनीति पर बहुत ही सफाई से उपचुनाव में आगे बढ़ रही है. इसी समीकरण के सहारे राजद को उम्मीद है कि उपचुनाव में एनडीए को करारी शिकस्त देगी.

दरअसल, इस समीकरण पर राजद बहुत चतुराई से आगे बढ़ रहा है. इसे इस तरह समझा जा सकता है. राजद का माई समीकरण मजबूत आधार रहा है. राजपूत और दलित वोटरों को साधने के लिए राजपूत के बड़े नेता के तौर पर जाने जाने वाले आनंद मोहन से सहरसा जेल में जाकर राजद के वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी मुलाकात कर चुके हैं. वही, दूसरी तरफ दलित वोट बैंक को अपने पाले में करने के लिए तेजस्वी यादव दलित के घर जाकर भोजन कर रहे हैं और दूसरी तरफ जीतन राम मांझी को अपने पाले में करने के लिए भी पूरी शिद्दत से पार्टी जुट गई है.

उधर, राजद के 'मर्द' समीकरण को एनडीए ज्यादा तवज्जो नहीं दे रहा है. जदयू के प्रवक्ता नीरज कुमार ने कहा कि हमलोग ए टू जेड वाले हैं. हमलोग चुनिंदा नहीं हैं. बिहार के सभी तबको का हमलोगों का समर्थन है. वहीं, बीजेपी नेता मिथिलेश तिवारी का कहना है कि राजद का नेतृत्व बच्चा के हाथ है तो फिर मर्द समीकरण कहां से आ गया. जब से राजद का जन्म हुआ है तब से ये लोग नये नये समीकरण का नारा देते रहे हैं और बिहार की जनता को मुर्ख बनाते रहे हैं लेकिन अब जनता मुर्ख बनने वाली नहीं है.

अररिया लोकसभा सीट पर एमवाई का मजबूत समीकरण माना जा रहा है. भभुआ में राजपूत वोटर महत्वपूर्ण रोल अदा करेंगे जबकि जहानाबाद में मर्द समीकरण का असर सबसे महत्वपूर्ण रहेगा.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर