RJD नेता की नसीहत: उपहास का पात्र न बनें मांझी, उम्र CM बनने की नहीं सलाहकार बनने की है

News18 Bihar
Updated: August 30, 2019, 12:17 PM IST
RJD नेता की नसीहत: उपहास का पात्र न बनें मांझी, उम्र CM बनने की नहीं सलाहकार बनने की है
जीतन राम मांझी को शिवानंद तिवारी ने नसीहत दी.

शिवानंद तिवारी ने कहा कि दो-तीन दिन पहले महागठबंधन की बैठक हुई थी. उस बैठक में जीतन बाबू भी मौजूद थे. अगर उनके मन में कोई बात थी तो उसको उस बैठक में रखकर सुलझा लिया जाना चाहिए था.

  • Share this:
बिहार में महागठबंधन (Grand Alliance) दलों के बीच जारी खींचतान के बीच गुरुवार को जीतन राम मांझी (Jitan Ram Manjhi) ने खुद के सीएम बनने को लेकर एक बयान दे दिया. उन्होंने कहा,  नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Tejaswi Yadav )में अभी अनुभव की कमी है. जबकि मेरा मुख्यमंत्रित्व का कार्यकाल बेहतर रहा है. चुनाव के बाद यदि महाठबंधन को बहुमत मिलता है और और अगर उन्हें नेता चुनाव जाता है तो वे तैयार हैं. जाहिर है उनके इस बयान के बाद से ही महागठबंधन में जबरदस्त बेचैनी देखी जा रही है. इसी क्रम में शुक्रवार को राष्ट्रीय जनता दल (Rashtriya Janta Dal) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी (Shivanad Tiwari) ने कहा कि मांझी जी अधीर हो रहे हैं और खुद उपहास के पात्र भी बन रहे हैं.

आपस में मिल बैठकर करें फैसला
शिवानंद तिवारी ने अपने जारी बयान में कहा, महागठबंधन का नेतृत्व कौन करेगा या  बहुमत मिलने पर कौन मुख्यमंत्री बनेगा यह मीडिया में तय नहीं होता है. इसको महागठबंधन के सभी घटक दल आपस में बैठकर तय करेंगे. उन्होंने नसीहत देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री मीडिया में बयान देकर नहीं बना जाता,अब उम्र सलाहकार की भूमिका में रहने की है. अब सत्ता की दौड़ में शामिल होने की उम्र नहीं है.

खूंटे में बांधकर नहीं रखा जा सकता

उन्होंने कहा कि जो खुद अपनी बखान करे वो आदमी हल्का होता है. जितना मौका मिलना था मांझी को मिल गया.अगर कही जाना चाहते है तो स्वतंत्र हैं. किसी की खूंटा से बांधकर नहीं रखा जा सकता. उवरिष्ठ नेता होने के नाते उन्हें समझदारी दिखानी चाहिए.

विरोधियों को न दें मौका
उन्होंने आगे कहा कि अभी दो-तीन दिन पहले महागठबंधन की बैठक हुई थी. उस बैठक में जीतन बाबू भी मौजूद थे. अगर उनके मन में कोई बात थी तो उसको उस बैठक में रखकर सुलझा लिया जाना चाहिए था. वहाँ इस विषय पर आप मौन रहे. अब मीडिया के ज़रिए सवाल उठाकर  जीतन बाबू विरोधियों को मौक़ा दे रहे हैं कि वे हमारा उपहास उड़ाएं.
Loading...

सार्वजनिक विवाद का विषय न बनाएं
राजद नेता ने कहा कि इससे सिर्फ महागठबंधन का ही उपहास नहीं उड़ रहा है बल्कि जीतन बाबू भी उपहास का पात्र बन रहे हैं. जीतन बाबू महागठबंधन के सम्मानित नेता हैं. उनसे नम्रता पूर्वक मैं अनुरोध करता हूं कि इस प्रकरण में उन्हें जो कुछ भी कहना हो, महागठबंधन के भीतर कहे. इस विषय को सार्वजनिक विवाद का विषय  न बनाएं.

बीजेपी ने साधा निशाना
मांझी के बयान पर एनडीए को महागठबंधन पर हमला करने का मौका मिल गया है. बीजेपी नेता और बिहार सरकार में मंत्री राणा रणधीर ने जीतन राम मांझी के सीएम बनने की इच्छा पर कहा कि महागठबंधन स्वार्थी लोगों का गठबंधन है. इन्हें जनता के मुद्दे से कोई लेना देना नहीं है.

बिहार में फिर जीतेगा एनडीए- बीजेपी
उन्होंने कहा कि हर आदमी मुख्यमंत्री बनने में लगा है. इसलिए पहले उन्हें जनता की सेवा करने की ज़रूरत है. लेकिन, सेवा कर रहे हैं नीतीश कुमार और सुशील मोदी. उन्होंने दावा किया कि बिहार में एक बार फिर दो तिहाई बहुमत से एनडीए की सरकार बनेगी.

इनपुट- अमित कुमार सिंह/रवि एस नारायण

ये भी पढ़ें- 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 30, 2019, 11:53 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...