दूध मार्केट बचाने के लिए भारी बारिश में धरने पर बैठे तेजस्वी यादव

News18 Bihar
Updated: August 21, 2019, 11:28 PM IST
दूध मार्केट बचाने के लिए भारी बारिश में धरने पर बैठे तेजस्वी यादव
धरना स्थल पर तेजस्वी यादव

आरजेडी नेता तेजस्वी यादव (Tejaswi Yadav) ने कहा यदि दूध वालों को पुनर्स्थापित नहीं किया गया तो बिहार (Bihar) में बड़ा आंदोलन होगा.

  • Share this:
आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव (Lalu Yadav) के छोटे बेटे और बिहार (Bihar) के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव (Tejaswi Yadav) बुधवार की शाम पटना (Patna) जंक्शन के पास दूध मार्केट (Milk Market) पहुंचे और भारी बारिश के बीच धरने पर बैठ गए. दूध मार्केट तोड़े जाने का विरोध कर रहे आरजेडी (RJD) नेता तेजस्वी ने कहा कि सरकार स्मार्ट सिटी के नाम पर गरीबों को तंग कर रही है. दूध बेचने वाले किसानों को तंग कर रही है. सरकार लालू यादव के किए गए कामों को मिटाना चाहती है.

आरजेडी नेता ने कहा यदि दूध वालों को पुनर्स्थापित नहीं किया गया तो राज्य में बड़ा आंदोलन होगा. हम अपने खून का कतरा-कतरा बहा देंगे लेकिन चुप नहीं बैठेंगे. खास बात है कि तेज बारिश में भी तेजस्वी यादव धरने पर बैठे हैं. उनके थोड़े समर्थक भी है और हटने का नाम नही ले रहे हैं. उनकी मांग है कि जब तक कोई अधिकारी बात नहीं करेगा, तब तक धरना से नहीं हटेंगे.

धरने की वजह से पटना जंक्शन पर जाम लग गया है. वहीं, तेजस्वी यादव ने आरजेडी के सभी नेताओं को धरना स्थल पर पहुंचने को कहा है.

तेजस्वी ने ट्वीट कर कहा,  'पटना रेलवे जंक्शन के पास दशकों से स्थित दुग्ध मार्केट को नीतीश प्रशासन ने अचानक ध्वस्त कर दिया. दूध व्यवसायियों ने प्रशासन से मार्केट तोड़ने के आदेश की कॉपी मांगी लेकिन प्रशासन यह दिखाने में असमर्थ रहा और बंदूक की नोंक पर जबरदस्ती एक मंदिर सहित मार्केट को तोड़ दिया.'


Loading...

एक दूसरे ट्वीट में तेजस्वी ने कहा,  'भारी बारिश के बावजूद ढाई घंटे से घटनास्थल पर हूं लेकिन कोई भी वरिष्ठ अधिकारी यहां मार्केट तोड़ने के आदेश की कॉपी लेकर नहीं आया है. सभी बड़े अधिकारियों ने फोन बंद कर लिए हैं. परसों जन्माष्टमी है लेकिन आज ही भगवान श्रीकृष्ण मंदिर को तोड़ दिया. कायर सरकार छुप क्यों रही है?

ये भी पढ़ें-

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 21, 2019, 10:32 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...