Assembly Banner 2021

Bihar News: शराब पर हाहाकार, आरजेडी MLC का दावा- सीएम आवास के बाहर होती है शराब की डिलीवरी

बिहार में शराबबंदी सख्ती से लागू करने के लिए 2021 में 2010 के नीतीश की जरूरत है.

बिहार में शराबबंदी सख्ती से लागू करने के लिए 2021 में 2010 के नीतीश की जरूरत है.

Liquor Ban in Bihar: मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar)पर आरजेडी लगातार शराबबंदी को लेकर हमला बोल रही है. इस बीच आरजेडी के एमएलसी सुनील कुमार सिंह ने सीएम आवास के बाहर शराब की डिलीवरी होने का बयान देकर सनसनी फैला दी है.

  • Share this:
पटना. बिहार में शराब को लेकर हाहाकार मचा हुआ है और आरजेडी लगातार शराबबंदी (Liquor ban) को लेकर मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar)पर हमला बोल रही है. वहीं, सीतामढ़ी में शराब माफिया के द्वारा पुलिस पार्टी पर किए गए हमले में एक सब इंस्पेक्टर की मौत से राज्‍य सरकार सकते में है, तो विपक्ष इस मुद्दे पर और ज्यादा हमलावर हो गया है. इस बीच आरजेडी के एमएलसी सुनील कुमार सिंह (RJD MLC Sunil Kumar Singh)ने यह कहकर और सनसनी फैला दी है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सरकारी आवास 1 अने मार्ग के बाहर अब शराब की डिलीवरी होती है. यही नहीं, उन्‍होंने ताल ठोक कर कहा कि अगर पुलिस ईमानदारी से जांच करना चाहे तभी असलियत सामने आएगी, लेकिन न तो पुलिस और न ही सरकार शराबबंदी को लेकर तत्‍पर है.

बहरहाल, आरजेडी नेता सुनील कुमार सिंह के बयान से सदन के अंदर और बाहर सनसनी फैल गई है. जबकि कांग्रेस ने भी इस मुद्दे को लपक लिया है. कांग्रेस के एमएलसी प्रेमचंद मिश्रा ने सीतामढ़ी कांड की उच्चस्तरीय जांच की मांग की है और साथ ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से पूरे मामले में सदन में जवाब देने को को कहा है. उन्‍होंने कहा, 'सीतामढ़ी की घटना से पता चलता है कि शराब माफिमाओं का सूबे में कितना मनोबल बढ़ा हुआ है जब पुलिस वाले खुद सुरक्षित नहीं हैं तो भला आम लोगों की हिफाजत कौन करेगा. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार चूंकि सूबे के गृह मंत्री भी हैं जाहिर है उन्हें सदन में यह स्पष्ट करना चाहिए कि बिहार में ला एंड ऑर्डर की समस्या इतनी क्यों बिगड़ रही है.'

तेजस्वी यादव ने नीतीश सरकार पर हमला बोला
इससे पहले बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने नीतीश सरकार पर हमला बोला था. उन्‍होंने सीतामढ़ी जिले में शराब तस्करों द्वारा इंस्पेक्टर की हत्या की घटना का जिक्र करते हुए कहा कि बिहार में कानून-व्यवस्था पूरी तरह से भगवान के भरोसे है, यही कारण है कि दारोगा हो या कोई और पुलिसकर्मी, उन्‍हें सरेआम गोली मार दी जाती है. वहीं, तेजस्‍वी ने लगे हाथों नीतीश कुमार को चिट मिनिस्टर करार दिया और कहा कि नेता तो नीतीश कुमार कभी हुए ही नहीं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज