RJD सांसद अमरेंद्र धारी सिंह को आज ED कोर्ट में फिर से किया जाएगा पेश, जांच एजेंसी मांगेंगी रिमांड

अभी भी अमरेंद्र धारी सिंह इस घोटाले से सम्बंधित जानकारियां सही तरीके से और विस्तार से नहीं दे रहे हैं. (फाइल फोटो)

केंद्रीय जांच एजेंसी CBI ने IFFCO के पूर्व मैनेजिंग डायरेक्टर और CEO के खिलाफ भ्रष्टाचार से जुड़े आरोप के मामले में एक FIR दर्ज करके 12 लोकेशन पर छापेमारी की थी.

  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्रीय जांच एजेंसी ईडी (ED) की टीम सोमवार को दिल्ली स्थित ईडी की विशेष अदालत में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के मार्फत RJD सांसद अमरेंद्र धारी सिंह (A. D. Singh ) को पेश करेगी. बिहार मूल के रहने वाले और राष्ट्रीय जनता दल (Rastriya Janta Dal ) से सांसद अमरेंद्र धारी सिंह उर्फ एडी सिंह को 10 दिन पहले ही दिल्ली स्थित ईडी की टीम ने फर्टिलाइजर घोटाला (Fertilizer Scam) यानी IFFCO कंपनी से जुड़े एक बड़े घोटाला मामले में गिरफ्तार किया था. ईडी की दिल्ली ब्रांच की टीम द्वारा अमरेंद्र धारी सिंह को उसके दिल्ली स्थित डिफेंस कॉलोनी कोठी से गिरफ्तार किया गया था. ईडी की टीम उसके बाद वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के मार्फत कोर्ट में पेश किया था. तब कोर्ट द्वारा 10 दिनों की रिमांड दी गई थी. इस दौरान पूछताछ करने के बाद आज सोमवार को फिर से कोर्ट के सामने पेश किया जाएगा.

ईडी के सूत्रों के मुताबिक, आज फिर से चार दिनों की रिमांड मांगी जाएगी. ईडी मुख्यालय के वरिष्ठ सूत्र के मुताबिक, फर्टिलाइजर घोटाला मामले में यूएस अवस्थी और अमरेंद्र धारी सिंह के बेहद करीबी और कारोबारी संबंध रहा है, जिसे अब जांच एजेंसी पूछताछ कर रही है. उन तमाम मामलों में दुबई की कंपनी मेसर्स ज्योति ट्रेडिंग कॉर्पोरेशन के साथ आरोपी अवस्थी का क्या कनेक्शन रहा है, इस मामले में आने वाले वक्त में गिरफ्तार आरोपी से विस्तार से पूछताछ की जाएगी.



क्या था सीबीआई द्वारा दर्ज मामला
केंद्रीय जांच एजेंसी CBI ने IFFCO के पूर्व मैनेजिंग डायरेक्टर और CEO के खिलाफ भ्रष्टाचार से जुड़े आरोप के मामले में एक FIR दर्ज करके 12 लोकेशन पर छापेमारी की थी. इस दर्ज FIR में दुबई की कंपनी और उससे जुड़े लोगों के खिलाफ भी मामला दर्ज किया था. उसी FIR में सांसद अमरेंद्र धारी सिंह को भी नामजद किया था. लेकिन उन्हें सांसद के तौर पर नहीं बल्कि दुबई स्थित एक फर्टिलाइजर कंपनी में सीनियर वाईस प्रेसिडेंट के पद पर कार्यरत होने का आरोप लगा था . उस कंपनी का नाम है - मेसर्स ज्योति ट्रेडिंग कॉर्पोरेशन (M/s. Jyoti Trading Corporation, Dubai.). इस मामले में सीबीआई की टीम FIR दर्ज करने के बाद दिल्ली, हरियाणा के गुड़गांव सहित मुम्बई के कुल 12 लोकेशन पर छापेमारी की थी. दरअसल IFFCO और इंडियन पोटाश लिमिटेड कंपनी के खिलाफ मिले शिकायत के बाद सीबीआई की टीम ने ये कार्रवाई को अंजाम दिया था, जो सब्सिडी के नाम पर भारत सरकार को करोड़ों रूपये का चूना लगा दिया था.

कई और खुलासे सामने आ सकते हैं
ईडी के सूत्रों के मुताबिक, अभी भी अमरेंद्र धारी सिंह इस घोटाले से सम्बंधित जानकारियां सही तरीके से और विस्तार से नहीं दे रहे हैं. लिहाजा इसी वजह से चार अन्य दिनों की रिमांड मांगी जा रही है. इस दौरान ईडी की टीम कुछ अन्य आरोपियों से भी इनको आमना सामना करवाने वाली है, जिससे कई और खुलासे सामने आ सकते हैं. इस वजह को कोर्ट के सामने ईडी के वकील रखने वाले हैं.
इस केस में दर्ज FIR में नामजद आरोपियों की लिस्ट इस प्रकार से है
1. यू एस अवस्थी - IFFCO के पूर्व MD और CEO
2. परविंदर सिंह गहलोत - पूर्व MD, इंडियन पोटाश लिमिटेड
3. अमोल अवस्थी - यूएस अवस्थी के पुत्र और प्रमोटर मेसर्स कैटेलिस्ट बिज़नेस एसोसिएट्स प्राइवेट लिमिटेड
4.अनुपम अवस्थी - यू एस अवस्थी के पुत्र और प्रमोटर मेसर्स कैटेलिस्ट बिज़नेस एसोसिएट्स प्राइवेट लिमिटेड
5. विवेक गहलोत - आरोपी परविंदर सिंह गहलोत के पुत्र
6. पंकज जैन - मेसर्स ज्योति ट्रेडिंग कॉर्पोरेशन, दुबई
7. संजय जैन- मेसर्स ज्योति ट्रेडिंग कॉर्पोरेशन, दुबई
8. अमरेंद्र धारी सिंह - दुबई स्थित एक फर्टिलाइजर कंपनी में सीनियर वाईस प्रेसिडेंट
9. राजीव सक्सेना - चार्टेड अकाउंटेंट
10 .सुशील कुमार पचासिया
11. इफ्को के कई अज्ञात अधिकारी/कर्मचारी

इस मामले में सीबीआई के साथ- साथ अब ईडी की टीम काफी तेजी से तफ़्तीश में जुट गई है. ईडी ने इस मामले में मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (PMLA ) के तहत मामला दर्ज किया है. जल्द ही कई अन्य आरोपियों के खिलाफ भी बड़ी कार्रवाई होने वाली है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.