लाइव टीवी

RJD ने CAB को नकारा, कहा - संविधान के ‘वी द पीपल’ को ‘वी द हिंदू’से बदलने की कोशिश

News18 Bihar
Updated: December 11, 2019, 2:34 PM IST
RJD ने CAB को नकारा, कहा - संविधान के ‘वी द पीपल’ को ‘वी द हिंदू’से बदलने की कोशिश
RJD ने CAB को नकारा, कहा - संविधान के ‘वी द पीपल’ को ‘वी द हिंदू’से बदलने की कोशिश

शरद यादव ने कहा कि यह विधेयक संविधान की भावना के खिलाफ है. उन्होंने आरोप लगाया कि संविधान की प्रस्तावना में 'वी द पीपुल' को 'वी द हिंदू' से बदलने का यह एक प्रयास है.

  • Share this:
पटना. राष्ट्रीय जनता दल (राजद) ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा संसद में लाए गए नागरिकता संशोधन विधेयक (CAB) की निंदा की. राजद ने ने जदयू के इसका समर्थन किए जाने पर मंगलवार को उनपर अपने लिए 'ताबूत में कील ठोकने' का काम करने का आरोप लगाया है.

राजद की राष्ट्रीय परिषद की बैठक और खुले अधिवेशन में पार्टी नेताओं ने आरोप लगाया कि विधेयक ने संविधान की प्रस्तावना 'वी द पीपुल' को 'वी द हिंदू' के रूप में व्याख्या करनी चाही है. इसे संसद में पेश किया जाना भारतीय लोकतंत्र के इतिहास में एक "काले दिन" के रूप में माना जाएगा.

पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव के छोटे बेटे और पूर्व उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा कि यहां मौजूद अन्य सभी दिग्गज नेताओं की तरह, नीतीश जी कभी मेरे पिता के सहयोगी थे. हमारे मतभेदों के बावजूद मैंने उन्हें चाचा कहा, इसलिए मैं विशेषतासूचक शब्द का इस्तेमाल नहीं करूंगा'.

नीतीश के मंत्रिमंडल में कभी उप-मुख्यमंत्री रहे तेजस्वी ने कहा कि भाजपा अपनी फासीवादी और सांप्रदायिक नीतियों के लिए जानी जाती है, जो लोकतंत्र की हत्या करना चाहती है. लेकिन नीतीश जी अधिक घृणा के पात्र हैं. उन्हें अपने अतीत के बारे में सोचना चाहिए कि वे किस विचारधारा से जुड़े रहे और उन्होंने अपनी सत्ता को संरक्षित करने के लिए किन-किन हदों को पार किया.

उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी के पास बिहार में सबसे अधिक विधायक हैं, लेकिन लोकसभा में एक भी सदस्य नहीं है. फिर भी हम इस विधेयक का हर तरह से विरोध करेंगे.
राजद विधायकों का एक वर्ग नीतीश के संपर्क में होने की चर्चा पर तेजस्वी ने कहा - 'मैं चाचा को चेतावनी देना चाहता हूं, हमें आपके शौक के बारे में जानकारी है. दूसरे लोगों के घरों को तोड़ने की कोशिश न करें. वरना, आपके अपने घर को आग लगा दी जाएगी'.

राजद के इस खुले अधिवेशन को दिग्गज समाजवादी नेता शरद यादव ने संबोधित करते हुए कहा कि सोमवार को भारतीय लोकतंत्र के इतिहास में एक काला दिन था. जब इस विधेयक को लोकसभा में पेश किया गया और भारी बहुमत से पारित किया गया. यह विधेयक संविधान की भावना के खिलाफ है.उन्होंने आरोप लगाया कि संविधान की प्रस्तावना में 'वी द पीपुल' को 'वी द हिंदू' से बदलने का यह एक प्रयास है.

जदयू के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष रहे शरद यादव ने नीतीश पर प्रहार करते हुए कहा कि भाजपा हमेशा संविधान पर हमले के लिए जानी जाती है. लेकिन जदयू ने जो किया है वह अपने ताबूत में कील ठोकने का काम किया है. मैं जानता था कि NRC जैसे मुद्दों के खिलाफ बोल रही जदयू CAB के पक्ष में मतदान करेगी.

ये भी पढ़ें -

नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ सड़क पर उतरा RJD, रालोसपा, हम और वीआईपी पार्टी भी साथ में

नागरिकता संशोधन विधेयक: JDU ने विरोध करने वाले अपने नेताओं पर दिए कार्रवाई के संकेत

नीतीश कुमार को अब कभी 'चाचा' नहीं कहेंगे तेजस्वी, पढ़ें वजह

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 11, 2019, 2:34 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर