लाइव टीवी

बिहार: शराबबंदी पर जनमत संग्रह करवाएगी RJD, जेडीयू ने दिया ये जवाब

News18 Bihar
Updated: January 22, 2020, 1:49 PM IST
बिहार: शराबबंदी पर जनमत संग्रह करवाएगी RJD, जेडीयू ने दिया ये जवाब
आरजेडी विधायक भाई विरेंद्र ने कहा कि बिहार में शराबबंदी पर पार्टी जनमत संग्रह करवाएगी.

RJD विधायक भाई विरेंद्र ने कहा कि बिहार में शराबबंदी तो है नहीं, लेकिन बिहार सरकार (Bihar Government) की ओर से राजस्व की हानि के लिए सारा काम किया गया है.

  • Share this:
पटना. बिहार में शराब की बिक्री पर पूरी तरह से रोक है. इस बीच, RJD विधायक भाई विरेंद्र (RJD MLA Bhai Virendra) ने यह बयान देकर राजनीति गर्मा दी है कि जब बिहार में महगठबंधन की सरकार बनेगी तो शराबबंदी को लेकर जनमत संग्रह कराया जाएगा. उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि अवैध रूप से शराब की बिक्री हो रही है, जिसकी वजह से राजस्व का नुक़सान हो रहा है. हालांकि, जेडीयू (JDU) ने आरजेडी की बातों को सपना करार देते हुए तंज कसा है.

भाई विरेंद्र ने कहा कि बिहार में शराबबंदी तो है नहीं, लेकिन बिहार सरकार की ओर से राजस्व की हानि के लिए सारा काम किया गया है. सबसे खास यह कि ये पैसा सरकार से जुड़े रसूखदार अधिकारियों और नेताओं के खाते में जा रहा है. जब यह लागू हो रहा था तो हम भी उनके साथ थे, लेकिन हम ढकोसले के साथ नहीं हैं. इसलिए जब हमारी सरकार आएगी तो जनमत संग्रह करवाएगी और जो भी राय बनेगी उसके अनुसार फैसला लिया जाएगा.

जेडीयू के नेता और बिहार सरकार में मंत्री श्याम रजक ने इस पर पलटवार किया है. उन्‍होंने कहा कि जितने साल वे सत्ता में रहे और जितने साल से उनकी पार्टी है, इस सवाल के अलावा समाज में कटुता फैलाने, कई लोगों का शोषण और दोहन करवाने का भी जनमत संग्रह करवा लेना चाहिए. उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार के सीने पर बिहार के 12 करोड़ लोगों का ठप्पा पड़ गया है. वो सपना देखना चाहें तो देखते रहें.

आरजेडी के इस बात का समर्थन हिन्‍दुस्‍तान आवाम मोर्चा ने भी किया है और कहा है कि इसकी जरूर समीक्षा होनी चाहिए. हालांकि, इसके बाद हमारी टीम ग्रामीण महिलाओं के बीच पहुंचकर शराबबंदी पर राय जानी तो किसी भी महिला ने ये नहीं कहा कि शराब की बिक्री फिर सी शुरू हो, लेकिन इस बात को लेकर वे बेहद नाराज़ दिखीं कि अभी भी पहले की तरह शराब की बिक्री हो रही है जिसे तुरंत रोका जाना चाहिए.

बता दें कि बिहार में शराबबंदी के बाद हर साल करीब 4000 करोड़ रुपये का नुकसान होने की बात कही जाती है. हालांकि, इसकी भरपाई विभिन्न मदों में टैक्स की बढ़ोतरी कर की भी गई है, लेकिन फिर भी शराबबंदी को लेकर राजस्व हानि की बात बार-बार सामने आ रही है. यहां यह भी बता दें कि सीएम नीतीश कुमार ने पहले ही ये ऐलान कर रखा है कि जब तक वे हैं तब तक बिहार में शराबबंदी जारी रहेगी.

इनपुट- आनंद अमृतराज

ये भी पढ़ेंबैंक से घर लौट रही महिला को पहले लिफ्ट दिया, फिर जंगल में ले जाकर रेप किया और...

बिहार: महिला पुलिसकर्मी ने DGP से कहा- हटिए, नहीं तो टन्न से ठोक देंगे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 22, 2020, 1:06 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर