RJD की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की आज बैठक, तेजस्वी के आने या न आने पर टिकी निगाहें

इस बैठक में RJD के सभी वरिष्ठ नेताओं के शामिल होने की संभावना है, लेकिन सबकी निगाहें इस बात पर ही टिकी रहेंगी कि तेजस्वी यादव आएंगे या नहीं.

News18 Bihar
Updated: July 6, 2019, 9:00 AM IST
RJD की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की आज बैठक, तेजस्वी के आने या न आने पर टिकी निगाहें
आरजेडी राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में तेजस्वी के आने या न आने पर संशय
News18 Bihar
Updated: July 6, 2019, 9:00 AM IST
राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक आज यानी शनिवार को पटना में हो रही है. पटना के होटल मौर्य में होने वाले इस बैठक में लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार के साथ ही 2020 में होने वाले बिहार विधानसभा चुनाव की तैयारी पर विचार किया जाएगा. बैठक में RJD के सभी वरिष्ठ नेताओं के शामिल होने की संभावना है, लेकिन सबकी निगाहें इस बात पर ही टिकी रहेंगी कि तेजस्वी यादव आएंगे या नहीं?

पार्टी के कार्यक्रमों से दूर रह रहे तेजस्वी

दरअसल बीते कुछ दिनों से तेजस्वी पार्टी के कई कार्यक्रमों से दूर रह रहे हैं. शुक्रवार को पार्टी के स्थापना दिवस समारोह से भी वो दूर रहे थे. इससे पहले लालू यादव के जन्मदिन 11 जून पर भी पार्टी कार्यालय में आयोजित कार्यक्रमों में उन्होंने हिस्सा नहीं लिया. ऐसे में राष्ट्रीय कार्यकारिणी में उनके आने और न आने को लेकर राजनीतिक गलियारों में चर्चाओं का बाजार तेज है.

नेतृत्व की कमी से जूझ रही RJD

लालू यादव के नहीं रहने की स्थिति में माना जा रहा था कि उनकी राजनीतिक विरासत तेजस्वी यादव संभालेंगे. लेकिन लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद जिस तरह से तेजस्वी ने मैदान छोड़ दिया और राजनीतिक अज्ञातवास पर चले गए, इससे आरजेडी ने नेतृत्व में कमी महसूस की. माना जा रहा है कि तेज प्रताप, तेजस्वी और मीसा भारती के त्रिकोणीय जंग में आरजेडी फिलहाल नेतृत्व की कमी से जूझ रहा है.

तेज प्रताप-तेजस्वी की तकरार!

तेज प्रताप यादव अक्सर खुद को लालू यादव का दूसरा रूप बताते हैं. जाहिर तौर पर वो पार्टी में बड़ी जिम्मेदारी की चाहत रखते हैं. जब तेजस्वी यादव महीने भर के अज्ञातवास पर थे तो वो काफी सक्रिय थे. वो बिहार विधानसभा के शुरू हुए मॉनसून सत्र में भी आ रहे थे. वो कभी मां राबड़ी देवी के साथ दिख जाते हैं. लालू-राबड़ी मोर्चा, डीएएस और अब तेज सेना का गठन कर चुके हैं. साथ ही वो कभी बदलाव यात्रा, कभी प्रदेश कार्यालय में जनता दरबार लगाकर तेजस्वी को चुनौती देते दिखते हैं.
Loading...

बहरहाल लालू यादव की गैर मौजूदगी में हो रही इस बैठक में हाल में संपन्न हुए लोकसभा चुनाव की हार की समीक्षा की जाएगी और 2020 में होने वाले बिहार विधानसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर मंथन किया जाएगा. साथ ही देश के वर्तमान राजनीतिक और सामाजिक परिवेश में पार्टी की भूमिका और आगे की रणनीति पर भी विचार-विमर्श किया जाएगा.

बता दें कि देश के 24 प्रदेशों में आरजेडी की निर्वाचित इकाई है जबकि कई राज्यों में भी तदर्थ कमेटी काम कर रही है.

(इनपुट- अमित कुमार सिंह)

ये भी पढ़ें-


जातिगत टिप्पणी मामला: पटना की अदालत में आज पेश होंगे राहुल गांधी




तेजस्वी पर भड़के शिवानंद तिवारी, बोले- लाठियां खाइए, जेल जाना पड़े जाइए, लेकिन लड़िए

First published: July 6, 2019, 8:18 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...