मुंगेर सीट से अनंत सिंह को उम्मीदवार बनाए महागठबंधन: RLSP

माना जा रहा है कि अनंत सिंह इस सीट से महागठबंधन की तरफ से या निर्दलीय चुनाव लड़ सकते हैं. वहीं, चर्चा ये भी है कि नीतीश कुमार के बेहद करीबी माने जाने वाले और बिहार सरकार के मंत्री ललन सिंह मुंगेर से चुनाव लड़ सकते हैं.
माना जा रहा है कि अनंत सिंह इस सीट से महागठबंधन की तरफ से या निर्दलीय चुनाव लड़ सकते हैं. वहीं, चर्चा ये भी है कि नीतीश कुमार के बेहद करीबी माने जाने वाले और बिहार सरकार के मंत्री ललन सिंह मुंगेर से चुनाव लड़ सकते हैं.

RLSP नेता नागमणि ने कहा कि NDA को हराने के लिए अनंत सिंह बेहतर प्रत्याशी हो सकते हैं, इसके लिए मैंने लालू यादव से भी मांग की है.

  • Share this:
मुंगेर लोकसभा सीट पर एनडीए के भीतर मची खींचतान के बीच निर्दलीय विधायक अनंत सिंह ने भी अपनी दावेदारी ठोकी तो सियासी घमासान मच गया. कभी नीतीश कुमार के करीबी माने जाने वाले अनंत सिंह ने लालू प्रसाद का गुणगान शुरू कर दिया. हालांकि तेजस्वी यादव ने उसे बैड एलिमेंट करार देकर समर्थन देने से इनकार कर दिया. अब इसमें नया ट्विस्ट ये आ गया है कि महागठबंधन के साथी RLSP ने अनंत सिंह की दावेदारी का समर्थन कर दिया है.

राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष नागमणि ने कहा है कि महागठबंधन को चाहिए कि वह अनंत सिंह को मुंगेर से महागठबंधन का उम्मीदवार बनाए. उन्होंने कहा के एनडीए कैंडिडेट को हराने के लिए वह बेहतर प्रत्याशी हो सकते हैं, इसके लिए मैंने लालू यादव से भी मांग की है.

ये भी पढ़ें-  मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस: इन 'गुनहगारों' ने बच्चियों की जिंदगी नर्क बना दी



जाहिर है अनंत सिंह की दावेदारी पर महागठबंधन के भीतर अलग-अलग मत ने इस मामले को नया मोड़ दे दिया है. आपको बता दें कि मुंगेर सांसद वीणा देवी ने शुक्रवार को मोकामा के बाहुबली विधायक और छोटे सरकार के नाम से मशहूर अनंत सिंह पर जमकर हमला बोला. साथ ही जेडीयू के कद्दावर नेता और बिहार सरकार के मंत्री ललन सिंह की मुंगेर से उम्मीदवारी पर अपनी सहमति दी थी.
ये भी पढ़ें-  CBI चार्जशीट: ब्रजेश ठाकुर की 'लंका' में बच्चियों को ब्लू फिल्म दिखा, कुर्सी से बांधकर करते थे रेप

इससे पहले चिराग पासवान ने भी कहा है कि एनडीए के भीतर अगर सहमति बनती है तो वह मुंगेर सीट की अदला-बदली कर सकते हैं. बहरहाल आरएलएसपी के समर्थन के बाद ये माना जा रहा है कि अनंत सिंह इस सीट से महागठबंधन की तरफ से  लड़ सकते हैं. हालांकि उन्होंने ये भी घोषणा कर रखी है कि अगर सहमति नहीं बनेगी तो वे निर्दलीय चुनाव लड़ेंगे.

इनपुट- आनंद अमृतराज

ये भी पढ़ें-  अश्विनी चौबे का विवादित बोल, 'महागठबंधन को दी मेढक की उपाधि'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज