शहाबुद्दीन के निधन पर पुष्पम प्रिया चौधरी के ट्वीट पर मचा हंगामा

शहाबुद्दीन की मौत पर पुष्पम प्रिया चौधरी ने सोशल मीडिया पोस्ट के जरिए शाहबुद्दीन को हैशटैग कर कमेंट लिखा है.

शहाबुद्दीन की मौत पर पुष्पम प्रिया चौधरी ने सोशल मीडिया पोस्ट के जरिए शाहबुद्दीन को हैशटैग कर कमेंट लिखा है.

शहाबुद्दीन के निधन की खबर के बाद बिहार में सियासी बयानबाजी भी देखने को मिल रही है. शहाबुद्दीन की मौत पर पुष्पम प्रिया चौधरी ने सोशल मीडिया पोस्ट के जरिए शाहबुद्दीन को हैशटैग कर कमेंट लिखा है. जिसके बाद सियासत तेज हो गई.

  • Share this:
पटना. राजद के पूर्व सांसद और बाहुबली शहाबुद्दीन ( Shahabuddin) का शनिवार को कोरोना संक्रमण की वजह से निधन हो गया.शनिवार को तिहाड़ जेल प्रशासन ने शहाबुद्दीन की मौत की पुष्टि की. उन्हें पिछले महीने 20 अप्रैल को अस्पताल में भर्ती कराया गया था. शहाबुद्दीन के निधन की खबर के बाद बिहार में सियासी बयानबाजी भी देखने को मिल रही है. शहाबुद्दीन की मौत पर पुष्पम प्रिया चौधरी ने सोशल मीडिया पोस्ट के जरिए शाहबुद्दीन को हैशटैग कर कमेंट लिखा है. जिसके बाद सियासत तेज हो गई. पुष्पम प्रिया ने बिहार चुनाव में खुद को सीएम कैंडिडेट घोषित किया था.

बिहार की राजनीति में उतरी पुष्पम प्रिया ने भी सोशल मीडिया पर शहाबुद्दीन का हैशटैग कर एक पोस्ट शेयर की है. उन्होंने लिखा.' हमारी संपूर्ण पीढ़ी ने बाहर बिहारियों के गुंडा और क्रिमिनल होने का आक्षेप झेला है. आज अगर मैं इसके एक प्रतीक के जेल में मौत पर अफसोस जाहिर करूंगी तो यह करोड़ों बिहारियों का अपमान होगा. मुझे कोई अफसोस नहीं है. फुल स्टॉप.'

Pushpam priya,
शहाबुद्दीन के निधन पर पुष्पम प्रिया चौधरी के ट्वीट पर बवाल मच गया.


शहाबुद्दीन की मौत के बाद सोशल मीडिया पर तमाम तरह की बयानबाजी तेज हो गई है. लालू प्रसाद यादव की बेटी रोहिणी आचार्य ने शहाबुद्दीन की मौत पर ट्वीट कर दुख प्रकट किया. उन्होंने लिखा- पापा के सहयोगी और समाजवादी नेता डा. शहाबुद्दीन साहब के निधन की खबर सुन कर दुखीत हूं. भगवान से उनके आत्मा की शांति और परिवार वालों को सब्र की कामना करती हूंं.
rohini acharya
लालू प्रसाद यादव की बेटी राहिणी आचार्य ने शहाबुद्दीन की मौत पर ट्वीट कर दुख प्रकट किया.


आपको बता दें कि तिहाड़ जेल में उम्र कैद की सजा काट रहे शहाबुद्दीन को पिछले महीने अस्पताल में भर्ती किया गया था. कोरोना संक्रमण की वजह से हालत बिगडऩे के बाद उन्हें आईसीयू में एडमिट किया गया. उसके बाद से ही उनकी हालत गंभीर होने की खबरें सामने आ रही थीं. आपको बता दें कि शहाबुद्दीन के खिलाफ तीन दर्जन से अधिक आपराधिक मामले चल रहे हैं. तिहाड़ जेल जाने से पहले वे बिहार के भागलपुर और सीवान की जेल में भी लंबे समय तक सजा काट चुके हैं. साल 2018 में जमानत मिलने के बाद जेल से बाहर आए, लेकिन जमानत रद्द होने के कारण उन्हें वापस जेल जाना पड़ा. 15 फरवरी 2018 को सुप्रीम कोर्ट ने पूर्व राजद सांसद को सीवान से तिहाड़ जेल लाने का आदेश दिया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज