• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • बिहार विधानमंडल मानसून सत्र: सदन में हेलमेट और काला मास्क पहनकर पहुंचे विपक्षी विधायक, बोले- डर लगता है!

बिहार विधानमंडल मानसून सत्र: सदन में हेलमेट और काला मास्क पहनकर पहुंचे विपक्षी विधायक, बोले- डर लगता है!

बिहार विधान मंडल के मानसून सत्र की शुरुआत. सीएम नीतीश कुमार ने स्पीकर को पुष्प गुच्छ भेंट किए.

बिहार विधान मंडल के मानसून सत्र की शुरुआत. सीएम नीतीश कुमार ने स्पीकर को पुष्प गुच्छ भेंट किए.

Monsoon Session of Bihar Legislature: बिहार विधानमंडल का मॉनसून सत्र आज यानी 26 जुलाई से शुरू होकर आगामी 5 दिनों तक चलेगा और 30 जुलाई को खत्म हो जाएगा. इस छोटे सत्र के दौरान सरकार की प्राथमिकता कई विधायकों को पास कराने की होगी.

  • Share this:
    पटना. बिहार विधानमंडल के मानसून सत्र (Bihar Vidhan Mandal Monsoon Session) की शुरुआत हो गई है. जबकि सत्र की शुरुआत विधानसभा अध्यक्ष के संबोधन से हुई. पहले दिन दिवंगत नेताओं को श्रद्धांजलि दी गई. इसके बाद विपक्षी दलों ने हंगामा शुरू कर दिया. बीते 23 मार्च को विधानसभा के भीतर विधायकों के साथ दुर्व्यवहार का मामले के विरोध में विपक्ष के कई विधायक हेलमेट पहन कर पहुंचे. विधायकों का कहना है कि उन्हें सदन में आने से डर लगता है, इसलिए उन्होंने हेलमेट पहन रखा है. राजद विधायक सतीश दास और मुकेश रोशन ने जहां हेलमेट पहनकर विरोध प्रदर्शन किया. RJD और माले के कई विधायकों ने ब्‍लैक मास्क लगाकर विरोध किया. वहीं, माले विधायकों ने ने 23 मार्च को विधानसभा में हुई घटना पर सरकार से माफी मांगने की मांग की. बता दें कि विपक्षी दलों का आरोप है कि बजट सत्र के दौरान बीते 23 मार्च को सरकार के इशारे पर विरोधी दलों के विधायकों के साथ मारपीट की गई थी.

    विधानसभा में डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव सत्र के शुरू होने से पहले पहुंच चुके थे. इस बीच विपक्ष के विधायकों ने कोविड काल के दौरान मृत हुए लोगों के परिजनों को 4 लाख मुआवजा देने की मांग की. हालांकि, इस दौरान विधानसभा परिसर में कोविड 19 के प्रोटोकॉल का उल्लंघन भी होता रहा. RJD, BJP और कांग्रेस के विधायक कई विधायक बिना मास्क पहने नजर आए. हालांकि, जब न्यूज18 ने इस बाबत सवाल पूछा तो उन्होंने मास्क नहीं लगाने को लेकर माफी मांग ली.

    गौरतलब है कि बिहार विधानमंडल का मानसून सत्र आज यानी 26 जुलाई से शुरू होकर आगामी 5 दिनों तक चलेगा और 30 जुलाई को खत्म हो जाएगा. इस छोटे सत्र के दौरान सरकार की प्राथमिकता कई विधायकों को पास कराने की होगी. इसके अलावा सदन में कई वित्तीय कार्य भी निपटाए जाएंगे. इसके अलावा सदन में राज्यपाल द्वारा स्वीकृत आदेशों की प्रतियां रखी जाएंगी.

    वहीं, विधानसभा में अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा सदन संचालन के लिए कार्य मंत्रणा समिति का गठन करेंगे. इसके अलावा अभ्यासी सदस्यों का मनोनयन भी किया जाएगा. उसके बाद कार्यवाही 27 जुलाई तक के लिए स्थगित हो जाएगी. 27 और 28 जुलाई को सदन में राजकीय विधेयक पेश किए जाएंगे. वहीं, 29 जुलाई को वित्तीय वर्ष 2021-22 के प्रथम अनुपूरक बजट पर चर्चा और उससे जुड़े विनियोग विधेयक का दिन रखा गया है, जबकि 30 जुलाई यानी सत्र के आखिरी दिन गैर सरकारी संकल्प लिए जाएंगे.

    मानसून सत्र में पेश होंगे ये विधेयक
    मानसून सत्र में सरकार की ओर से जो विधेयक पेश किए जाने हैं, उनमें बिहार पंचायती राज संशोधन विधेयक 2021, बिहार खेल विश्वविद्यालय विधेयक 2021, बिहार अभियंत्रण विश्वविद्यालय विधेयक 2021, बिहार स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय विधेयक 2021, आर्यभट्ट ज्ञान विश्वविद्यालय (संशोधन) विधेयक 2021, बिहार राजकोषीय उत्तरदायित्व विधेयक, बजट प्रबंधन (संशोधन) विधेयक और बिहार माल एवं सेवा कर (संशोधन) विधेयक 2021 शामिल हैं. बता दें कि विधानसभा में 26 जुलाई को वित्तीय वर्ष 2021-22 का प्रथम अनुपूरक पेश किया जाएगा. जबकि 29 जुलाई को इस पर चर्चा होगी और उसके बाद मतदान. इसके बाद सदन में विनियोग विधेयक पेश किया जाएगा.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज