Bihar Assembly Elections: समाजवादी पार्टी का बड़ा ऐलान, बिहार चुनाव में RJD का करेगी समर्थन


सपा के समर्थन का आरजेडी को चुनाव में फायदा मिल सकता है.
सपा के समर्थन का आरजेडी को चुनाव में फायदा मिल सकता है.

बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections) को लेकर समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) ने बड़ा फैसला लिया है. पार्टी ने राष्ट्रीय जनता दल (Rashtriya Janata Dal) के उम्मीदवारों का समर्थन करने का ऐलान किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 22, 2020, 12:31 AM IST
  • Share this:
पटना/ लखनऊ. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections) की तारीखों का जल्‍द ऐलान होने वाला है और इस समय सभी राजनीतिक दल अपनी-अपनी तैयारियों में लगे हुए हैं. जबकि इस चुनाव में असली लड़ाई बिहार एनडीए और महागठबंधन के बीच रहने वाली है. इस बीच, चुनाव से पहले आरजेडी और तेजस्‍वी यादव (Tejashwi Yadav) के लिए बड़ी खुशखबरी सामने आई है. जी हां, समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) ने घोषणा की है कि वह बिहार विधानसभा चुनाव में पार्टी राष्ट्रीय जनता दल के उम्मीदवारों का समर्थन करेगी. सपा के इस कदम का आरजेडी को चुनाव में फायदा मिल सकता है.

समाजवादी पार्टी ने ट्विटर पर किया ऐलान
बिहार में आरजेडी के उम्‍मीदवारों के समर्थन का समाजवादी पार्टी ने ट्विटर पर ऐलान किया है. पार्टी की तरफ से ट्विटर पर लिखा गया,' आगामी बिहार विधानसभा चुनावों में समाजवादी पार्टी किसी भी पार्टी से गठबंधन ना करते हुए राष्ट्रीय जनता दल के उम्मीदवारों का समर्थन करेगी.'





आरजेडी के पोस्‍टर पर भाजपा का तंज
आरजेडी के नए पोस्टर को लेकर विवाद थमता नहीं दिख रहा है. पोस्टर पर अपनी अकेली तस्वीर को लेकर तेजस्वी यादव विरोधियों के निशाने पर हैं. चुनाव से पहले बिना लालू प्रसाद यादव के आरजेडी के इस पोस्टर के कई मायने निकाले जा रहे हैं. इसे कोई इसे तेजस्वी का अहंकार बता रहा है, तो कोई इसे लालू की छवि से दूर जाने की तेजस्वी की कोशिश. इस बीच, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने इसे लेकर तेजस्वी पर बड़ा हमला बोल दिया है. जायसवाल ने कहा है कि तेजस्वी यादव को देखकर औरंगजेब की याद आती है. स्वर्गीय रघुवंश बाबू के साथ उन्होंने जो किया, वो तो सबको याद ही होगा, लेकिन अपने पिता और आरजेडी के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद के साथ वह क्या करना चाहते हैं, यह थोड़ा शोध का विषय है. आप कहीं भी देख लीजिए, तेजस्वी के अलावा किसी का चेहरा आरजेडी के पोस्टर पर नहीं लगता और लालू प्रसाद पूरी तरह से गायब हैं. आखिर, तेजस्वी का एजेंडा क्या है, वे उस चेहरे से क्यों भाग रहे हैं, जो उनके पिता भी होते हैं.

यही नहीं, तेजस्‍वी यादव भी लगातार भाजपा और सीएम नीतीश कुमार पर बेरोजगारी, शिक्षा और कोरोना वायरस को लेकर तंज कसते रहते हैं. हालांकि महागठबंधन में शामिल दलों के बीच सीट शेयरिंग और सीएम फेस को लेकर अभी तक बात बनती नहीं दिख रही है. जबकि आरजेडी ने तेजस्‍वी यादव को महागठबंधन का चेहरा घोषित कर दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज