होम /न्यूज /बिहार /बिहार भाजपा के नए 'सम्राट' पर राबड़ी देवी का अजीबोगरीब बयान, जाति को लेकर की विवादित टिप्पणी!

बिहार भाजपा के नए 'सम्राट' पर राबड़ी देवी का अजीबोगरीब बयान, जाति को लेकर की विवादित टिप्पणी!

सम्राट चौधरी और संजय जायसवाल को लेकर राबड़ी देवी ने की जातिगत टिप्पणी.

सम्राट चौधरी और संजय जायसवाल को लेकर राबड़ी देवी ने की जातिगत टिप्पणी.

Bihar Politics: सम्राट चौधरी को भाजपा का अध्यक्ष बनाए जाने को लेकर राजनीतिक प्रतिक्रियाएं आ रही हैं. इसी क्रम में मीडिय ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

बिहार भाजपा के नए अध्यक्ष बने सम्राट चौधरी, राबड़ी देवी ने दी शुभकामनाएं.
सम्राट चौधरी और डॉ. संजय जायसवाल को लेकर राबड़ी का विवादित बयान.
राबड़ी देवी ने कहा- बीजेपी का मन बनिया से भरा तो महतो को अध्यक्ष बनाया.

पटना. बिहार विधान परिषद में नेता प्रतिपक्ष सम्राट चौधरी (Samrat Chaudhary) को बीजेपी का प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है. अब यह साफ हो गया कि बिहार में 2024 में लोकसभा का चुनाव सम्राट चौधरी के नेतृत्व में लड़ा जाएगा. सम्राट को इस जिम्मेदारी दिए जाने के बाद दल के नेताओं का बधाई देने का सिलसिला जारी है. सम्राट चौधरी के प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने पर पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी (Rabri Devi) ने भी बधाई और शुभकामनाएं दीं, लेकिन साथ ही ऐसा बयान भी दे दिया जो राजनीतिक विवाद को बढ़ा सकता है.

दरअसल, सम्राट चौधरी को भाजपा का अध्यक्ष बनाए जाने को लेकर राजनीतिक प्रतिक्रियाएं आ रही हैं. इसी क्रम में मीडियाकर्मियों ने राबड़ी देवी से भी इसको लेकर सवाल पूछ लिया. पहले तो बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने सम्राट चौधरी को बधाई और शुभकामनाएं दीं, लेकिन चलते-चलते उनहोंने जरूर कह दिया कि बीजेपी का मन बनिया से भर गया है, इसके लिए महतो को प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है. जाहिर है राबड़ी देवी के इस बयान के बाद नया सियासी बवाल खड़ा हो सकता है.

बता दें कि पूर्व अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल का कार्यकाल पिछले साल ही खत्म हो गया था. लेकिन नए अध्यक्ष की नियुक्ति नहीं हो रही थी. कयास लगाये जा रहे थे कि केंद्रीय नेतृत्व इनका कार्यकाल बढ़ा देगी. लेकिन, ऐसा नहीं हो सका और एक कद्दावर नेता को बिहार का अध्यक्ष बनाया है. सम्राट चौधरी कुशवाहा समाज से आते हैं. कुशवाहा पर दांव लगाकर भाजपा नेतृत्व ने बड़ी राजनीतिक चाल चली है.

गौरतलब है कि बिहार में सत्ता से हटने के बाद बीजेपी ने भूमिहार बिरादरी से आने वाले विजय सिन्हा को विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष बनाया था, जबकि कुशवाहा समाज से आने वाले सम्राट चौधरी को विधान परिषद में नेता विरोधी दल की जिम्मेदारी दी थी. बिहार का यह दोनों ही समाज राजनीतिक रूप से काफी प्रबुद्ध माना जाता है. अब सम्राट को प्रदेश अध्यक्ष बनाकर बीजेपी नेतृत्व ने विरोधियों को कड़ा मैसेज दिया है.

ऐसे सम्राट चौधरी के लिए चुनौती भी कम नहीं है. 2024 लोकसभा चुनाव में पार्टी को सफलता दिलाना सबसे पहली परीक्षा होगी. बिहार भाजपा के नए अध्यक्ष बनने के बाद सम्राट चौधरी ने न्यूज़ 18 से बातचीत करते हुए कहा कि उनका लक्ष्य 2024 के लोकसभा चुनाव में सभी 40 सीटों पर भाजपा की जीत दिलाना है. साथ ही 2025 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी की सरकार बने इस पर काम करना है.

सम्राट चौधरी ने पार्टी के राष्ट्रीय नेतृत्व का आभार जताते हुए कहा कि जो जिम्मेदारी दी गई है उसे हर हाल में पूरा करूंगा. लगे हाथ उन्होंने महागठबंधन पर निशाना साधते हुए कहा कि लालू यादव और नीतीश कुमार बिहार की राजनीति में अप्रसांगिक हो गए हैं. जहां तक सवाल तेजस्वी का है तो उन्होंने अभी तक कुछ किया नहीं है. युवाओं से जो उन्होंने वादा किया था वह भी पूरे नहीं किए.

सम्राट चौधरी ने कहा कि बीजेपी में वह पिछले 8 वर्षों से हैं. इतने दिनों में पार्टी ने उन्हें पहले भी कई जिम्मेदारियां दी हैं. इस बार एक नई जिम्मेदारी दी गई है. पार्टी का जो एजेंडा होगा उसे वह मजबूती से आगे बढ़ाएंगे.

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें