Home /News /bihar /

करोड़ों की अवैध संपत्ति का मालिक निकले खनन विभाग के असिस्टेंट डायरेक्टर, EOU की रेड में हुआ खुलासा

करोड़ों की अवैध संपत्ति का मालिक निकले खनन विभाग के असिस्टेंट डायरेक्टर, EOU की रेड में हुआ खुलासा

खनन विभाग के असिस्टेंट डायरेक्टर संजय कुमार के ठिकानों पर ईओयू की रेड.

खनन विभाग के असिस्टेंट डायरेक्टर संजय कुमार के ठिकानों पर ईओयू की रेड.

Corruption in Sand Mining: आर्थिक अपराध इकाई की टीम ने असिस्टेंट डायरेक्टर के खिलाफ अपने ही थाने में आय से अधिक संपत्ति मामले में केस दर्ज किया था. न्यायालय से अनुमति मिलने के बाद बुधवार को छापेमारी की गई. आर्थिक अपराध इकाई की टीम की इस छापेमारी में बिहार एसटीएफ भी शामिल थी.

अधिक पढ़ें ...

पटना. बालू माफियाओं से सांठगांठ और बालू के अवैध उत्खनन के खिलाफ कार्रवाई की जद में आए बिहार के अफसरों की संपत्ति आर्थिक अपराध इकाई की टीम लगातार खंगालने में जुटी हुई है. इसी कड़ी में  बुधवार को आर्थिक अपराध इकाई की टीम ने खनन विभाग के असिस्टेंट डायरेक्टर संजय कुमार के ठिकानों पर छापेमारी की. आर्थिक अपराध इकाई की टीम ने पटना में कदमकुआं थाना क्षेत्र के आर्य कुमार रोड स्थित उनके आलीशान मकान के अलावा एक मेडिकल शॉप और खेतान मार्केट में  खुशी लहंगा स्टोर में एक साथ छापेमारी शुरू की. संजय कुमार पर आरोप है कि उन्होंने आरोपों से घिरे और अवैध उत्खनन में लगे बालू माफियाओं  से साथ सांठगांठ कर क्लीन चिट दी थी.

खनन विभाग के असिस्टेंट डायरेक्टर संजय कुमार के यहां यूओयू की छापेमारी में आय से अधिक 51% अधिक अवैध संपत्ति मिली. बताया जा रहा है कि एक करोड़ 29 लाख 99 हज़ार से अधिक मिली अवैध संपत्तिका पता चला है जो पद का दुरुपयोग कर कमाए गए हैं. इन संपत्तियों में कई फ्लैट्स और दुकान के का पता चला है. इसमें एक दुकान के वो मालिक हैं. साथ ही यूपी के नोयडा में एक 3 बीएचके और एक बीएचके फ्लैट भी मिला है.

खेतान मार्केट पटना में भी खुशी लहंगा नाम के दुकान का स्वामित्व भी संजय कुमार के पास ही है. विभिन्न बैंकों के 16 बचत और एक चालू खाता का भी पता चला है. बैंकों में पासबुक पर 1करोड़ 58 लाख 85 हजार से अधिक जमा व कई लॉकर भी मिले हैं जिन्हें सील किया जा रहा है. एलआईसी, केवीपी, एनएससी में 66 लाख से अधिक निवेश का भी पता चला है और अभी सम्पति का आकलन जारी है.

बता दें कि आर्थिक अपराध इकाई की टीम ने असिस्टेंट डायरेक्टर के खिलाफ अपने ही थाने में आय से अधिक संपत्ति मामले में केस दर्ज किया था. न्यायालय से अनुमति मिलने के बाद बुधवार को छापेमारी की गई. आर्थिक अपराध इकाई की टीम की इस छापेमारी में बिहार एसटीएफ भी शामिल थी.

सूत्रों के अनुसार असिस्टेंट डायरेक्टर ने अवैध रूप से जो अकूत संपत्ति बनाई है, उसके अहम सबूत आर्थिक अपराध इकाई की टीम को मिले हैं. फिलहाल शाम तक छापेमारी चलेगी और उसके बाद यह पता चल पाएगा कि धनकुबेर बने अधिकारी ने कितनी अकूत संपत्ति अर्जित की है.

Tags: Bihar News, Corruption case, Crime In Bihar, Illegal Mining, PATNA NEWS, Sand mafia, Sand Mining

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर