ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण को कम करने के लिए होगा सैनिटाइजेशन, भीड़-भाड़ वाले क्षेत्रों को प्राथमिकता

बिहार के ग्रामीण इलाकों में कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए सरकार सैनिटाइजेशन कराएगी. (फाइल फोटो)

बिहार के ग्रामीण इलाकों में कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए सरकार सैनिटाइजेशन कराएगी. (फाइल फोटो)

Bihar Corona Update: बिहार के ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना के बढ़ते प्रभाव को कम करने के लिए सरकार सैनिटाइजेशन कराएगी. पंचायती राज मंत्री सम्राट चौधरी ने बताया कि संक्रमण पंचायतों में बढ़ने के कारण बचाव के लिए सोडियम हाइपोक्लोराइड से सैनिटाइजेशन शुरू किया जाएगा.

  • Share this:

पटना. बिहार सरकार ने राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना के बढ़ते प्रभाव को कम करने के लिए सैनिटाइजेशन करने की तैयारी में है. बिहार के पंचायती राज मंत्री सम्राट चौधरी के मुताबिक, कोरोना महामारी का संक्रमण तेज गति से पंचायतों में बढ़ने के कारण बचाव के लिए सोडियम हाइपोक्लोराइड से सैनिटाइजेशन प्रक्रिया शुरू की जाएगी. यह प्रक्रिया पंचायत में उपलब्ध 15वें वित्त आयोग के अनटाइड अनुदान से कराया जाएगा.

पंचायती राजमंत्री ने सैनिटाइजेशन कराए जाने को कोरोना से बचाव और रोकथाम के लिए प्रभावकारी कदम बताया है. सैनिटाइजेशन का कार्यक्रम पंचायत सचिव की देखरेख में होगा. खासतौर से इसमें ग्रमीण क्षेत्र के धार्मिक स्थल, सामुदायिक भवनों, पंचायत सरकार भवनों, हाट बाजार और भीड़-भाड़ भरे क्षेत्र को शामिल किया गया है. इन जगहों पर बड़े पैमाने पर सैनेटाइजेशन करने का निर्देश दिया गया है.

Youtube Video

प्रखण्ड पंचायत राज पदाधिकारी का यह दायित्व होगा कि अपने अधीन आने वाले प्रखण्ड के सभी पंचायतों में सैनेटाइजेशन कार्य का व्यक्तिगत रूप से नियमित तौर पर निरीक्षण करेंगे. साथ ही सरकार की तरफ से यह भी कहा गया है कि सैनेटाइजेशन का डेली रिपोर्ट जिला पंचायती राज पदाधिकारी को देना सुनिश्चित करेंगे. इसके अलावा जिला पंचायती राज पदाधिकारी को भी इस बात का निर्देश दिया गया है कि अपने जिला का समेकित प्रतिवेदन पंचायती राज विभाग, पटना में देंगे. सरकार की तरफ से गांव-गांव में फैल रहे कोरोना के प्रभाव को कम करने और बचाव के लिए सरकार की यह तैयारी अब पंचायत स्तर पर हो रही है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज