JEE और NEET परीक्षा पर बोले संजय जायसवाल- सरकार छात्रों का भविष्य सोच रही है, विपक्ष कर रहा राजनीति
Patna News in Hindi

JEE और NEET परीक्षा पर बोले संजय जायसवाल- सरकार छात्रों का भविष्य सोच रही है, विपक्ष कर रहा राजनीति
बिहार भाजपा अध्यक्ष संजय जायसवाल (फाइल फोटो)

28 अगस्त को बिहार के सभी जिलों में कांग्रेस पार्टी JEE-NEET ऑफलाइन परीक्षा कराने के केन्द्र सरकार (Central government) के निर्णय के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करेगी.

  • Share this:
पटना. JEE और NEET की परीक्षा तय समय पर हो या इसे टाला जाए, इस बात को लेकर सियासत काफी तेज है. विपक्ष की तरफ से इसे टालने की मांग की जा रही है, लेकिन, बीजेपी (BJP) इसे छात्रों के भविष्य से जुड़ा विषय बताकर नहीं टालने के पक्ष में खड़ी है. यहां तक कि बिहार में बीजेपी की सहयोगी एलजेपी ने इस मुद्दे पर भी विपक्ष के सुर में सुर मिलाया है. एलजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान ने केंद्रीय शिक्षा मंत्री से लेकर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) तक को भी अपना पत्र लिख कर परीक्षा टालने के लिए पहल की अपील की है. अब बिहार बीजेपी अध्यक्ष संजय जायसवाल ने JEE और NEET परीक्षा तय वक्त पर कराने के सरकारी फैसले का समर्थन करते हुए कहा है कि इस परीक्षा से विद्यार्थियों का एक वर्ष बर्बाद होने से बच जाएगा.

संजय जायसवाल ने कहा, सरकार हर संभव सावधानी के साथ इस परीक्षा का आयोजन करा रही है. परीक्षा आयोजित कराने के मसले पर सुप्रीम कोर्ट ने भी सरकार के हक में फैसला दिया है. सरकार विद्यार्थियों का करियर देख रही है, लेकिन विपक्ष को केवल राजनीति सूझ रही है. इस मसले पर प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष ने सरकार की तारीफ करते हुए कहा, ‘चाहे JEE हो याNEET की परीक्षा, सरकार ने दोनों के लिए ही केंद्रों की संख्या कई गुणा बढ़ा दी है.

उन्होंने आगे कहा कि सरकार ने JEE-NEET की परीक्षा के लिए अधिकांश, बल्कि 99 फीसदी विद्यार्थियों को उनके घर के पास ही परीक्षा-केंद्र दिया है. यहां तक कि अधिकांश छात्र और अभिभावक चाहते हैं कि परीक्षा तय वक्त पर हो जाए. बहुत कम बच्चों ने ही परीक्षा केंद्र बदलने का आवेदन दिया है. ऐसे में दिक्कत क्या है?' विपक्ष पर हमलावर होते हुए बिहार बीजेपी अध्यक्ष ने कहा, दरअसल विपक्ष प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता से बुरी तरह भयभीत हैं और उसके पास कोई मसला भी नहीं है. इसीलिए, वह उलजुलूल बकवास कर रहा है. उन्होंने कहा, सरकार विद्यार्थियों के भविष्य को भी बचाना चाहती है और उनको पूरी सुरक्षा भी देना चाहती है.



डॉ जायसवाल ने कहा कि कुछ ही घंटों के अंदर कुल 15 लाख परीक्षार्थियों में से 90 फीसदी के NEET का एडमिट कार्ड डाउनलोड करने की खबर है. उन्होंने कहा, सरकार ने सोशल डिस्टेंसिंग के लिए एक कमरे में 24 की जगह 12 स्टूडेंट को ही बिठाने के बारे में सोचा है. फिर भी, 'विरोध के लिए विरोध' करनेवालों को क्या ही कहा जाए? सरकार ने JEE-NEET की परीक्षा के लिए दस्ताने और मास्क अनिवार्य कर दिए हैं. 50 एमएल के सैनिटाइज़र की व्यवस्था करनी होगी. लेकिन,  इतनी सुरक्षा और तैयारी के बावजूद विपक्ष के आरोपों पर उन्होंने विपक्ष के आरोप को आधारहीन बताया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज