Bihar Assembly Election Result 2020 : हरियाणा का वो चेहरा, जिसने बदल दी बिहार की सियासत

बिहार चुनाव का परिणाम जो भी हो पर संजय यादव की चर्चा हर तरफ होने लगी है.
बिहार चुनाव का परिणाम जो भी हो पर संजय यादव की चर्चा हर तरफ होने लगी है.

Bihar Assembly Election: तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) एक दिन में 18-19 सभाएं करते थे. इन सभाओं में क्या बोलना है और कितने देर तक बोलना है. इस पर संजय यादव (Sanjay Yadav) की नजर रहती थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 10, 2020, 7:00 AM IST
  • Share this:
पटना. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections) के मतगणना में अब कुछ ही देर बचे हैं. ऐसे में तकरीबन सभी एग्जिट पोल (Exit Polls) में महागठबंधन (Mahagathbandhan) के सीएम कैंडिडेट तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) का डंका बज रहा है. 9 नवंबर को अपना 31वां जन्मदिन मना रहे है तेजस्वी को लेकर ही हर तरफ चर्चा हो रही है. ऐसे में उन चेहरों के बारे में भी लोग जानना चाह रहे हैं, जिन्होंने तेजस्वी यादव की राजनीतिक तकदीर बदलने में अहम रोल अदा किया. आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) की गैरमौजूदगी में तेजस्वी को राजनीतिक दांव-पेंच समझाने में आरजेडी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह (Jagada Nand Singh) की भूमिका से इनकार नहीं किया जा सकता, लेकिन एक चेहरा और भी है जो पर्दे के पीछे रह कर तेजस्वी की हर रणनीति को धरातल पर उतार दिया. तेजस्वी के राजनीतिक सचिव संजय यादव (Sanjay Yadav) की चर्चा अब शुरू हो गई है.

इसलिए हो रही हर तरफ संजय यादव की चर्चा
37 साल के संजय यादव हरियाणा के महेंद्रगढ़ जिले के नांगल सिरोही गांव के रहने वाले हैं. मीडिया में खबर आ रही है कि संजय यादव पिछले एक दशक से तेजस्वी यादव से जुड़े हुए हैं. तेजस्वी और संजय की मुलाकात साल 2010 में दिल्ली में हुई थी. तेजस्वी यादव 10 साल पहले आईपीएल में दिल्ली डेयरडेविल्स की तरफ से अपना किस्मत आजमा रहे थे. बाद में तेजस्वी की एक बहन की शादी हरियाणा में भी हुई.

Sanjay yadav, political adviser of tejashwi yadav, haryana connections, jagdanad singh, lalu prasad yadav, bihar assembly election 2020, tejashwi yadav, nitish kumar, rjd, nda, narendra modi, तेजस्वी यादव, संजय यादव, तेजस्वी के राजनीतिक सलाहकार, जगदानंद सिंह, हरियाणा कनेक्शन, नीतीश कुमार, आरजेडी, पीएम नरेंद्र मोदी, बिहार विधानसभा चुनाव 2020, 37 साल के संजय यादव हरियाणा के महेंद्रगढ़ जिले के नांगल सिरोही गांव के रहने वाले हैं.
37 साल के संजय यादव हरियाणा के महेंद्रगढ़ जिले के नांगल सिरोही गांव के रहने वाले हैं.

कोरोना काल के बाद बनाई रणनीति


ऐसा कहा जा रहा जब कोरोना काल में जेडीयू और बीजेपी के नेता तेजस्वी यादव को बिहार में ढूंढ रहे थे तब तेजस्वी और संजय दिल्ली में रह कर बिहार चुनाव की तैयारियों को लेकर रणनीति बना रहे थे. एक तरफ बीजेपी के बड़े-बड़े चुनाव मैनेजर रणनीति बना रहे थे तो उस समय संजय यादव बिहार चुनाव में उठने वाले मुद्दे और स्लोगन पर विचार-विमर्श कर रहे थे. ऐसा कहा जा रहा है कि तेजस्वी अपने नजदीकी नेताओं से भीड़ और रैली में 'हम तो ठैठ बिहारी हैं' जैसे शब्दों के साथ बिहार चुनाव में जीतने की पटकथा लिख रहे थे.

बिहार में नीतीश का चलेगा तीर या तेजस्वी की लालटेन होगी रोशन? यहां पढ़ें चुनाव परिणाम के लाइव नतीजे

ऐसे जवाब दिया जेडीयू और बीजेपी के कैंपेन को
पटना के बड़े-बड़े होटलों में जहां बीजेपी और जेडीयू के रणनीतिकार और आईटी मैनेजर बैठकर मीडिया और सोशल मीडिया में जंगलराज और लालू राज जैसे स्लोगन को ट्रेंड करा रहे थे, तब इन लोगों को संजय यादव की भावी रणनीति की भनक भी नहीं थी. तेजस्वी यादव को छोड़ कर लालू यादव, राबड़ी देवी सहित परिवार के किसी भी सदस्य भी सदस्यों को पोस्टर से गायब करना, पीएम मोदी को टारगेट नहीं करना, इस तरह की रणनीति संजय यादव और उनकी टीम ने बनाई थी.

Sanjay yadav, political adviser of tejashwi yadav, haryana connections, jagdanad singh, lalu prasad yadav, bihar assembly election 2020, tejashwi yadav, nitish kumar, rjd, nda, narendra modi, तेजस्वी यादव, संजय यादव, तेजस्वी के राजनीतिक सलाहकार, जगदानंद सिंह, हरियाणा कनेक्शन, नीतीश कुमार, आरजेडी, पीएम नरेंद्र मोदी, बिहार विधानसभा चुनाव 2020, कंटेंट से लेकर अगले दिन की सभाओं के लिए प्रशासनिक इंतजाम संजय करते थे.
कंटेंट से लेकर अगले दिन की सभाओं के लिए प्रशासनिक इंतजाम संजय करते थे.


ये भी पढ़ें: क्या अबकी बार चिराग पासवान के हाथ में होगी बिहार की सत्ता की चाबी? तय करेगा एलजेपी की ये सीटें

प्रशांत किशोर की तरह संजय की भी होगी चर्चा?
बिहार चुनाव का परिणाम जो भी हो पर संजय यादव की चर्चा हर तरफ होने लगी है. अधिकांश एक्जिट पोल में तेजस्वी यादव को मुख्यमंत्री बनना तय बताया गया है. ऐसे में अगले कुछ दिनों तक संजय यादव की उसी तरह चर्चा होगी जिस तरह प्रशांत किशोर की साल 2014 में हो रही थी. उस समय भी कहा जा रहा था कि बीजेपी की रणनीति बनाने में प्रशांत किशोर की अहम भूमिका थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज