Article 370: सवर्ण सेना की चेतावनी, फैसले का विरोध करने वाले सांसदों को भुगतना होगा ये अंजाम

सवर्ण सेना ने कहा कि भारत के ही एक अंग में भारतीयों को समानता का अधिकार नहीं था. ऐसा कानून भारत की एकता और अखंडता के लिए खतरा था.

News18 Bihar
Updated: August 5, 2019, 5:16 PM IST
Article 370: सवर्ण सेना की चेतावनी, फैसले का विरोध करने वाले सांसदों को भुगतना होगा ये अंजाम
सवर्ण सेना की फाइल फोटो
News18 Bihar
Updated: August 5, 2019, 5:16 PM IST
सवर्ण सेना धारा 370 हटाए जाने का विरोध करने वाले सभी सांसदों को क्षेत्र में आने पर जूते का माला पहनाएगी. संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष भागवत शर्मा ने चेतावनी देते हुए कहा कि संसद सत्र के बाद गृह क्षेत्र लौटने पर उनका घेराव किया जाएगा और उन्हें जूतों की माला पहनाई जाएगी.

समर्थन करने वाली सभी पार्टियों का धन्यवाद
भागवत ने कहा कि कश्मीर से धारा 370 को हटाया जाना देश के लिए एक गौरवशाली और ऐतिहासिक निर्णय है. इस निर्णय पर हम पूरी तरह से केंद्र सरकार के साथ हैं. सवर्ण सेना भारत सरकार के इस निर्णय के साथ पूरी मजबूती के साथ खड़ी है. धारा 370 हटाने के लिए उन्होंने वर्तमान भाजपा सरकार एवं इसका समर्थन करने वाली सभी पार्टियों का धन्यवाद दिया.

370 भारत की एकता और अखंडता के लिए खतरा था

सवर्ण सेना ने कहा कि भारत के ही एक अंग में भारतीयों को समानता का अधिकार नहीं था. भारतीयों को जमीन खरीदने का अधिकार नहीं था और वहां की लड़कियों से विवाह करने का अधिकार नहीं था. ऐसा कानून भारत की एकता और अखंडता के लिए खतरा था. इस कानून को हटाकर केंद्र सरकार ने कश्मीर को आज भारत का एक अखंड हिस्सा बना दिया है.

सवर्ण सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने सभी राजनीतिक दलों को चेताते हुए कहा है कि जो भी राजनीतिक दल धारा 370 हटाने का विरोध करेंगे, उनके सभी नेताओं का विरोध किया जाएगा और उनके सांसदों को जूतों की माला पहनाई जाएगी. भागवत शर्मा ने कहा कि उनकी सभी दलों से अपील है कि वे राष्ट्रहित के मुद्दे पर एकजुट रहें. अगर इस मुद्दे का धार्मिक आधार पर ध्रुवीकरण करने का प्रयास किया या समाज को बांटने का प्रयास किया तो नेताओं को बड़ी कीमत चुकानी पड़ेगी.

ये भी पढ़ें- Article 370: JDU केंद्र के फैसले के खिलाफ, नीतीश कुमार पर टिकीं निगाहें
Loading...

अश्विनी चौबे बोले- देश से समाप्त हो गया काला अध्याय

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 5, 2019, 4:25 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...