शरद यादव का नीतीश पर निशाना- जब इंदिरा गांधी से नहीं डरा तो इनसे कैसा डर?

ETV Bihar/Jharkhand
Updated: August 12, 2017, 7:04 PM IST
शरद यादव का नीतीश पर निशाना- जब इंदिरा गांधी से नहीं डरा तो इनसे कैसा डर?
पार्टी में हाशिये पर चल रहे जेडीयू के वरिष्ठ नेता शरद यादव ने बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधा है. (file photo)
ETV Bihar/Jharkhand
Updated: August 12, 2017, 7:04 PM IST
पार्टी में हाशिये पर चल रहे जेडीयू के वरिष्ठ नेता शरद यादव ने बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधा है. उन्‍होंने कहा है कि जदयू केवल नीतीश कुमार की ही नहीं बल्कि उनकी भी पार्टी है.

शरद तीन दिवसीय यात्रा के अंतिम दिन शनिवार को शरद सुपौल- मधेपुरा में थे. शरद महागठबंधन टूटने के बाद वह तीन दिवसीय बिहार दौरे पर हैं. उन्होंने खराब मौसम के बाद भी कई जगहों पर सभा की और अपनी बातों को लोगों तक रखा.

शनिवार को ही उनको राज्यसभा में जेडीयू के नेता पद से हटाये जाने की खबरों को लेकर जब सवाल किये गये तो उन्होंने पद से हटाए जाने के मामले पर चुप्पी साध ली. शरद ने कहा, 'अभी मैं बिहार की जनता से बात करने आया हूं और किसी तरह की प्रतिक्रिया अभी नहीं दे सकता.'

नई पार्टी बनाने के सवाल पर शरद ने कहा कि वह इसका फैसला जनता पर छोड़ रहे हैं. शरद ने कहा कि बिहार में जदयू की दो पार्टी बन चुकी है. एक सरकारी जिसमें नीतीश जी के पास कुर्सी की मोह रखने वाले लोग हैं जबकि दूसरी पार्टी जेडीयू की गैर सरकारी पार्टी है जिसके लोग सच्चे कार्यकर्ता और समर्थक हैं.

शरद ने इमरजेंसी का हवाला देते हुए कहा, 'जब मैं इंदिरा गांधी से नहीं डरा तो नीतीश कुमार से कैसे डर सकता हूं.' उन्होंने आरोप लगाया, 'पार्टी उन्हीं नेताओं के खिलाफ कार्रवाई कर रही है जो मेरे साथ हैं. नीतीश जी के खेमे के कई नेता हमारे कार्यकर्ताओं और नेताओं पर अनावश्यक दवाब बना रहे हैं.'

राजद में शामिल होने के सवाल पर शरद यादव ने कहा कि 'यह जेडीयू द्वारा फैलाया गया भ्रम है लेकिन ये सच है कि आरजेडी और जेडीयू के समर्थक बिहार दौरे में मेरे साथ हैं, लेकिन आरजेडी में शामिल होने की बात अफवाह है.
First published: August 12, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर