BJP के 'शत्रु' का पत्ता कटना तय, पटना साहिब सीट से ये लड़ेंगे लोकसभा चुनाव !

पार्टी के विश्वस्त सूत्रों से न्यूज 18 को जो जानकारी मिली है इसके अनुसार इन दावेदारों में दो प्रमुख नाम चर्चा में हैं. इनमें बीजेपी के राज्यसभा सांसद रविशंकर प्रसाद और पार्टी के कद्दावर नेता आरके सिन्हा के पुत्र ऋतुराज सिन्हा शामिल हैं.

News18 Bihar
Updated: March 14, 2019, 3:29 PM IST
BJP के 'शत्रु' का पत्ता कटना तय, पटना साहिब सीट से ये लड़ेंगे लोकसभा चुनाव !
शत्रुघ्न सिन्हा (फाइल फोटो)
News18 Bihar
Updated: March 14, 2019, 3:29 PM IST
बढ़ते तापमान के बीच बिहार में सियासी सरगर्मी भी तेज है. ऐसे में कई प्रत्याशियों के नामों पर चर्चा और कयास भी शुरू हो चुके हैं. इसी क्रम में पटना साहिब सीट से बीजेपी के बागी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा का पत्ता कटना तय माना जा रहा है. बीते दिनों उन्होंने भी सांकेतिक भाषा में ये बता दिया था कि वे 22 मार्च को अपनी नई पार्टी के नाम का ऐलान करेंगे. ऐसे में पटना साहिब सीट से कई लोगों की दावेदारी सामने आ रही है. पार्टी के विश्वस्त सूत्रों से न्यूज 18 को जो जानकारी मिली है इसके अनुसार इन दावेदारों में दो प्रमुख नाम चर्चा में हैं. इनमें बीजेपी के राज्यसभा सांसद रविशंकर प्रसाद और पार्टी के कद्दावर नेता आरके सिन्हा के पुत्र ऋतुराज सिन्हा शामिल हैं.

ये भी पढ़ेंलोकसभा चुनाव 2019: महागठबंधन में पूरा हुआ बंटवारा ! पढ़ें किसको मिली कितनी सीटें



आपको बता दें कि पटना साहिब भारतीय जनता पार्टी का परंपरागत गढ़ है. यहां किसी भी नेता को बीजेपी से टिकट मिल जाए तो उसकी आधी जीत पक्की मानी जाती है. सियासी और जातिगत समीकरण भी भाजपा के पक्ष में ही हमेशा रहे हैं. रविशंकर प्रसाद केंद्रीय मंत्री हैं और वे पीएम मोदी और अमित शाह दोनों के ही करीबी माने जाते हैं. साथ ही वे पटना साहिब में सबसे अधिक आबादी कायस्थ जाति (इसी जाति से शत्रुघ्न सिन्हा हैं) का प्रतिनिधित्व भी करते हैं. ऐसे में बीजेपी उनके नाम पर दांव खेल सकती है.

ये भी पढ़ें- महागठबंधन पर सीट शेयरिंग पर सस्पेंस, JDU ने कसा तंज तो कांग्रेस ने किया पलटवार

दूसरी तरफ, ऋतुराज सिन्हा की भी दमदार दावेदारी है. एक तो वे बीजेपी के कद्दावर नेता आरके सिन्हा के पुत्र हैं. दूसरे वे बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के साथ कोर टीम में भी हैं. बीजेपी अध्यक्ष ने उन्हें लोकसभा चुनाव के लिए महत्वपूर्ण जिम्मेदारी भी सौंपी है.

ऋतुराज सिन्हा को अमित शाह ने लोकसभा चुनाव में पार्टी के प्रचार-प्रसार के लिए वित्तमंत्री अरुण जेटली की अध्यक्षता में आठ सदस्यीय समिति में ऋतुराज सिन्हा को भी शामिल किया है. इस महत्वपूर्ण समिति में रेल मंत्री पीयूष गोयल, मंत्री डॉ. महेश शर्मा, राज्यवर्धन राठौर, अनिल जैन, सतीश उपाध्याय, राजीव चंद्रशेखर को भी शामिल किया गया है.

ये भी पढ़ें-  बिहार पुलिस की फाइलों में क्यों दबे हैं 2000 मौतों के राज? जानिए वजह
Loading...

ऋतुराज सिन्हा बीजेपी की इस राष्ट्रीय समिति में शामिल बिहार से अकेले सदस्य हैं. जाहिर है उन्हें भाजपा ने युवा चेहरे के तौर पर आगे लाने के मन बनाया है. वे पटना संसदीय क्षेत्र में काफी सक्रिय भी हैं और कायस्थ जाति का प्रतिनिधित्व भी करते हैं. ऐसे में भाजपा अगर उन्हें टिकट देती है तो कोई आश्चर्य की बात नहीं है.

हालांकि सुशील कुमार मोदी को लेकर भी चर्चा का बाजार गर्म है, लेकिन पार्टी सूत्रों की मानें तो वे बिहार की राजनीति में अधिक दिलचस्पी रख रहे हैं. दूसरा यह कि वे कायस्थ जाति से भी नहीं आते हैं. ऐसे में पार्टी उनके नाम पर इतना बड़ा रिस्क लेगी, ऐसा नहीं लग रहा.

ये भी पढ़ें- हाजीपुर को लेकर परेशान रामविलास पासवान, बदल सकता है चुनाव नहीं लड़ने का फैसला
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...