शेल्टर होम केस: कोर्ट की फटकार के बाद विपक्ष के निशाने पर नीतीश कुमार, मांगा इस्तीफा

दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस करते आरजेडी के सांसद मनोज झा और जय प्रकाश ना. यादव

दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस करते आरजेडी के सांसद मनोज झा और जय प्रकाश ना. यादव

शरद यादव ने कहा कि बिहार सरकार के खिलाफ विपक्ष ने उतना नहीं बोला है जितना कि सुप्रीम कोर्ट ने बोला है. उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का ऐसा ऑब्जर्बेशन आज तक किसी सरकार के लिए नहीं हुआ होगा.

  • News18 Bihar
  • Last Updated: November 27, 2018, 11:19 PM IST
  • Share this:
मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस में बिहार सरकार को सुप्रीम कोर्ट की फटकार के बाद सियासत तेज हो गई है. आरजेडी ने नीतीश सरकार पर मामले की लीपापोती करने का आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार सत्ता में बने रहने का नैतिक आधार खो चुकी है. वहीं शरद यादव ने कहा कि जिस तरह से इस घटना को छिपाने की कोशिश की गई और मुख्य सचिव को सुप्रीम कोर्ट में माफी मांगनी पड़ी, इससे नीतीश सरकार का इकबाल सड़क पर आ गया है. उन्होंने आरोप लगाया कि बिहार अखबारों और टीवी चैनलों ने इस खबर को उतनी तवज्जो इसलिए नहीं दी क्योंकि वहां मीडिया पर बड़ा सेंसरशिप लागू है.



शरद यादव ने कहा कि बिहार सरकार के खिलाफ विपक्ष ने उतना नहीं बोला है जितना कि सुप्रीम कोर्ट ने बोला है. उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का ऐसा ऑब्जर्बेशन आज तक किसी सरकार के लिए नहीं हुआ होगा. बच्चियों के साथ घृणित अपराध को जिस तरह से दबाने की कोशिश की गई वह बेहद निंदनीय है. उन्होंने कि अब नीतीश कुमार अपनी छवि को सुधारने के लिए हर रोज 3-4 करोड़ रुपये प्रचार-प्रसार पर खर्च कर रहे हैं.



ये भी पढ़ें-  शेल्टर होम केस: नीतीश सरकार को SC की फटकार, कहा- 24 घंटे में दर्ज करें पॉक्सो के तहत FIR





इस बीच आरजेडी ने दिल्ली में इसी मसले को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस किया और सीएम नीतीश कुमार का इस्तीफा मांगा. आरजेडी सांसद जय प्रकाश नारायण यादव ने कहा कि बिहार के शेल्टर होम में घटनाएं घटी तो दुनिया हिल गई. लेकिन बिहार का शासन-प्रशासन तंत्र दोषियों को बचाने में लगा रहा. वहीं पार्टी के सांसद मनोज झा ने एफआईआर को कमजोर करने का आरोप लगाते हुए कहा कि बच्चियों का बलात्कार करने वाले लोग सत्ता के शीर्ष लोगों के संरक्षण में हैं.
उन्होंने कहा कि ऐसा दुखद क्षण बिहार के इतिहास में कभी नहीं दिखा था. सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी राज्य सरकार के लिए शर्मनाक है. सरकार का तंत्र गुनाहगार है तो किससे गुहार लगाएं. उन्होंने कहा कि संसद के शीतकालीन सत्र में आरजेडी बिहार के शेल्टर होम के मामले को जबरदस्त तरीके से उठाएगा.



इनपुट-दिवाकर/निरंजन



ये भी पढ़ें-  बिहार में एक और बड़ा घोटाला ! सीएजी ने ‘बुडको’ में पकड़ी 1300 करोड़ रुपये की वित्तीय गड़बड़ी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज