होम /न्यूज /बिहार /

Bihar Political Crisis: RJD का CM नीतीश को ऑफर- BJP से नाता तोड़ने पर JDU से हाथ मिलाने को तैयार

Bihar Political Crisis: RJD का CM नीतीश को ऑफर- BJP से नाता तोड़ने पर JDU से हाथ मिलाने को तैयार

बिहार में यह यह चर्चा आम है कि नीतीश कुमार आरजेडी के करीब चले गए हैं. (फाइल फोटो)

बिहार में यह यह चर्चा आम है कि नीतीश कुमार आरजेडी के करीब चले गए हैं. (फाइल फोटो)

Bihar News: आरजेडी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने कहा कि अगर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एनडीए को छोड़ने का फैसला लेते हैं तो हमारे पास उन्हें गले लगाने के अलावा और क्या विकल्प है. आरजेडी बीजेपी से लड़ने के लिए प्रतिबद्ध है. अगर मुख्यमंत्री इस लड़ाई में शामिल होने का फैसला करते हैं तो हमें उन्हें अपने साथ लेना ही होगा

अधिक पढ़ें ...

पटना. बिहार में सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) के घटक दलों, जनता दल युनाइटेड (जेडीयू) और बीजेपी में ‘मनमुटाव’ की अटकलों के बीच राज्य में सियासी हलचल तेज हो गई है. बिहार विधानसभा में मुख्य विपक्षी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) ने कहा है कि अगर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) बीजेपी के साथ संबंध तोड़ देते हैं तो वो उन्हें और उनकी पार्टी को गले लगाने के लिए तैयार है. आरजेडी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी (Shivanand Tiwari) ने सोमवार को पटना (Patna) में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि मंगलवार को दोनों दलों के द्वारा विधायकों की बैठक बुलाना इस बात का स्पष्ट संकेत है कि स्थिति असाधारण है.

उन्होंने कहा कि मुझे मौजूदा घटनाक्रम के बारे में व्यक्तिगत रूप से कुछ पता नहीं है. लेकिन, हम इस तथ्य को नजरअंदाज नहीं कर सकते हैं कि दोनों दलों (जिनके पास बहुमत हासिल करने के लिए पर्याप्त संख्या है) ने उस समय ऐसी बैठकें बुलाई हैं, जब विधानसभा का सत्र संचालन में नहीं है. शिवानंद तिवारी ने कहा कि अगर नीतीश कुमार एनडीए को छोड़ने का फैसला लेते हैं तो हमारे पास उन्हें गले लगाने के अलावा और क्या विकल्प है. आरजेडी बीजेपी से लड़ने के लिए प्रतिबद्ध है. अगर मुख्यमंत्री इस लड़ाई में शामिल होने का फैसला करते हैं तो हमें उन्हें अपने साथ लेना ही होगा.

शिवानंद तिवारी ने कहा कि अगर सीएम नीतीश कुमार एनडीए को छोड़ने का फैसला लेते हैं तो हमारे पास उन्हें गले लगाने के अलावा और क्या विकल्प है (फाइल फोटो)

वहीं, आरजेडी के राज्यसभा सांसद मनोज झा ने बिहार में सरकार के कथित संकट पर कहा कि जो पिछले 48 घंटे में हुआ है उस पर तेजस्वी यादव नजर बनाए हुए हैं. बिहार में सरोकार परिवर्तन आवश्यक है, सत्ता परिवर्तन हो या न हो.

बिहार में सियासी बैठकों का शुरू होने वाला है दौर

इस बीच, जेडीयू के द्वारा मंगलवार की सुबह 11 बजे अपने सभी सांसदों की मुख्यमंत्री आवास पर बैठक बुलाई गई है. वहीं, आरजेडी ने भी मंगलवार को पटना में राबड़ी देवी के आवास पर अपने सांसदों और विधायकों की बैठक बुलाई है. आरजेडी ने अपने विधायकों को बुधवार तक पटना में रहने का निर्देश दिया है. इधर, बिहार के राजनीतिक हालात पर कांग्रेस की भी नजर है. पार्टी सोमवार को अपने विधायकों के साथ बैठक करने वाली है.

बता दें कि वर्तमान में बिहार विधानसभा में सत्तारूढ़ एनडीए गठबंधन के 127 सदस्य हैं जबकि आरजेडी नीत विपक्षी महागठबंधन के 96 सदस्य हैं. वहीं, कांग्रेस के 19 और एआईएमआईएम के एक सदस्य हैं. आरजेडी 79 विधायकों के साथ विधानसभा में सबसे बड़ी पार्टी है. वहीं, 77 विधायकों वाली बीजेपी दूसरी सबसे बड़ी पार्टी है. जेडीयू 45 सदस्यों के साथ तीसरे नंबर की पार्टी है. (भाषा से इनपुट)

Tags: Bihar News in hindi, Bihar politics, Bjp jdu, NDA

अगली ख़बर