यह बिहार एनडीए में तूफान से पहले की शांति तो नहीं!
Patna News in Hindi

यह बिहार एनडीए में तूफान से पहले की शांति तो नहीं!
फाइल फोटो

जब न्यूज18 संवाददाता आनंद अमृतराज ने जनता दल (यूनाईटेड) के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह को सीट शेयरिंग पर गुरुवार को कुरेदा तो उन्होंने कहा, "एनडीए में सब ठीक है. कोई दिक्कत नहीं है. सीटों का बंटवारा महीने के आखिर तक हो जाएगा."

  • Share this:
उपेद्र कुशवाहा के खीर वाले बयान के बाद जितनी तेजी से सियासी सुगबुगाहट तेज हुई थी, उतनी ही तेजी से मंद पड़ती नज़र आ रही है. एनडीए में शामिल एक राजनीतिक पार्टी के दफ्तर में चर्चा थी.. कहीं ये तूफान से पहले की शांति तो नहीं है.

वहीं दूसरी ओर जब न्यूज18 संवाददाता आनंद अमृतराज ने जनता दल (यूनाइटेड) के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह को सीट शेयरिंग पर गुरुवार को कुरेदा तो उन्होंने कहा, "एनडीए में सब ठीक है. कोई दिक्कत नहीं है. सीटों का बंटवारा महीने के आखिर तक हो जाएगा."

जब उनसे पूछा गया कि महीने के आखिर का मतलब कब तक, तो जवाब मिला.. नहीं उससे पहले ही..



वशिष्ठ नारायण ने ही 28 अगस्त को बयान दिया था कि जेडीयू और बीजेपी के बीच सीटों के तालमेल पर सहमति बन चुकी है, लेकिन संख्या की घोषणा दोनों दलों के बड़े नेता करेंगे. इसी बयान के बाद खबर आई कि बीजेपी ने 20-20 के पुराने फॉर्मूले पर ही लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा), जेडीयू और कुशवाहा की राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) को सीटें देने का प्रस्ताव दिया है.
न्यूज18 ने नौ अप्रैल को ही बता दिया था कि एनडीए में गैर भाजपाई दल ही 20-20 फॉर्मूले पर सीटों का बंटवारा चाहते हैं. इसके तहत 20 सीटें बीजेपी रखे और बाकी 20 सहयोगियों के लिए छोड़ने का प्रस्ताव था. हालांकि कई उपचुनावों और कर्नाटक विधानसभा में बीजेपी की पटखनी के बाद सहयोगी दलों के सौदे की ताकत बढ़ी और इस फॉर्मूले पर जेडीयू खुद भी नाराज बताई गई. उसे 12 सीटें देने का प्रस्ताव है.

अब ऐसा लग रहा है कि पर्दे के पीछे मुद्दे को सुलझाने की कोशिश की जा रही है. 16 सितंबर को जेडीयू की कार्यकारिणी की बैठक है जिसमें खुद नीतीश कुमार हिस्सा लेंगे. पार्टी सूत्रों के मुताबिक इससे पहले ही सीट बंटवारे पर फैसला हो सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading