बिहार से 6 मंत्रियों ने ली पद व गोपनीयता की शपथ, गिरिराज को प्रमोशन
Patna News in Hindi

बिहार से 6 मंत्रियों ने ली पद व गोपनीयता की शपथ, गिरिराज को प्रमोशन
फाइल फोटो

नरेंद्र मोदी ने आज शाम 7 बजे लगातार दूसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ ली. तकरीबन 8,000 मेहमानों की उपस्थिति में राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में होने वाले इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री के साथ-साथ 58 मंत्रियों ने भी शपथ ली.

  • Share this:
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार से छह नेताओं को अपनी टीम में शामिल होने के लिए सेलेक्ट किया. इनमें लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष रामविलास पासवान, बीजेपी के पटना साहिब से सांसद रविशंकर प्रसाद, पूर्व केंद्रीय राज्यमंत्री गिरिराज सिंह को प्रमोशन देते हुए कैबिनेट मंत्री की शपथ दिलाई गई. वहीं, आरके सिंह को राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार और अश्विनी चौबे व बिहार बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय को राज्यमंत्री के तौर पर शपथ दिलाई गई.

बता दें कि नरेंद्र मोदी ने आज शाम 7 बजे लगातार दूसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ ली. तकरीबन 8,000 मेहमानों की उपस्थिति में राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में होने वाले इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री के साथ-साथ 58 मंत्रियों ने भी शपथ ली. इनमें बिहार के जिन छह नेताओं ने मंत्री पद की शपथ ली, उनसे जुड़े कुछ खास तथ्यों पर नजर डालते हैं...

रामविलास पासवान
लोजपा सुप्रीमो रामविलास पासवान ने बतौर कैबिनेट मंत्री शपथ ली है. पासवान को भारतीय दलित राजनीति के प्रमुख नेताओं में एक माना जाता है. पासवान लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष व राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) की सरकार में केंद्रीय मंत्री भी हैं. उन्होंने 16वीं लोकसभा में बिहार के हाजीपुर लोकसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व किया था. इस बार उन्होंने चुनाव नहीं लड़ा है. वो राज्यसभा से सांसद बनेंगे.



शपथ लेते हुए रामविलास पासवान




रविशंकर प्रसाद
17वें लोकसभा चुनाव में पटना साहिब से सांसद के तौर पर निर्वाचित रविशंकर प्रसाद भी मोदी कैबिनेट में शामिल किए गए हैं. ये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के करीबी माने जाते हैं. पिछली सरकार में वह सूचना व प्रौद्योगिकी और कानून व न्याय मंत्री के तौर पर देश की सेवा कर रहे थे. इस बार भी उन्होंने पटना साहिब सीट से कठिन माने जा रहे मुकाबले में कांग्रेस के शत्रुघ्न सिन्हा को बड़े अंतराल से हराया.

रविशंकर प्रसाद शपथ लेते हुए


गिरिराज सिंह 
गिरिराज सिंह पिछली मंत्रिपरिषद में राज्यमंत्री थे, लेकन इस बार उन्हें प्रमोशन दिया गया और वह कैबिनेट मंत्री बनाए गए हैं. गिरिराज एक ओर जहां हिन्‍दुत्‍व का झंडा बुलंद करते हैं तो दूसरी ओर पीएम मोदी के 'हनुमान' कहे जाते हैं. दरअसल, ये नाम उन्हें इसलिए मिला है क्योंकि वह खुद कहते हैं कि पीएम मोदी के हनुमान हैं. पीएम मोदी जो आदेश करेंगे, वह वही करेंगे. इस बार भी जब नवादा से सीट बदली गई तो पीएम मोदी के कहने पर बेगूसराय से चुनाव लड़ने को तैयार हो गए और सीपीआई के कन्हैया कुमार के खिलाफ 4 लाख 22 हजार मतों के बड़े अंतर से जीते.

शपथ लेते हुए गिरिराज सिंह


राजकुमार सिंह
बिहार की आरा लोकसभा सीट से बीजेपी सांसद और केंद्रीय मंत्री राजकुमार सिंह (आरके सिंह) ने राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार के तौर पर शपथ ली है. उनकी गिनती मोदी कैबिनेट के परफॉर्मर मंत्रियों में होती है. नौकरशाह से राजनेता बने आरके सिंह इस बार भी आरा सीट से बड़े अंतर से जीतकर आए हैं. उन्होंने भाकपा माले के राजू यादव को मात दी थी. आरके सिंह के बारे में कहा जाता है कि वह राजनेता बनने के बाद भी कड़क हैं और अपने सिद्धांतों के बूते ही काम करते हैं.

आरके सिंह ने राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) पद की शपथ ली


अश्विनी कुमार चौबे
केंद्र की मोदी सरकार में अश्विनी चौबे राज्यमंत्री बनाए गए हैं. उनकी पहचान बीजेपी के फायरब्रांड नेता के तौर पर होती है. बक्सर सीट जीतकर लोकसभा पहुंचे बिहार बीजेपी के इस सीनियर नेता को इस बार भी मोदी मंत्रिपरिषद में जगह मिली है. चौबे मूल रूप से भागलपुर के दरियापुर के रहने वाले हैं और सांसद बनने से पहले बिहार विधानसभा के लिए लगातार पांच बार चुने गए. वह पीएम मोदी के चहेते माने जाते हैं. दरअसल, जब नरेंद्र मोदी गुजरात के सीएम हुआ करते थे तब इन्होंने गिरिराज सिंह के साथ सबसे पहले पीएम पद के लिए नरेंद्र मोदी के नाम की चर्चा की थी.

पद व गोपनीयता की शपथ लेते हुए अश्विनी कुमार चौबे


नित्यानंद राय
बिहार बीजेपी अध्यक्ष नित्यानंद राय पहली बार केंद्रीय मंत्रिपरिषद में शामिल किए गए हैं. वह अमित शाह के बेहद करीबी माने जाते हैं और अब पीएम मोदी की मंत्रिपरिषद का हिस्सा होने जा रहे हैं. वर्ष 2016 में बीजेपी का अध्यक्ष बनने के बाद बीते ढाई वर्षों में उन्होंने गुटों में बंटी बिहार बीजेपी को भी आम सहमति के मंच पर ला खड़ा किया. 1990 में अपने नौजवानी के दिनों में लालू यादव की सत्ता को चुनौती दी थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading