संजीव कुमार सिंघल बने बिहार के नए DGP, गृह विभाग ने जारी की अधिसूचना

सिंघल इससे पहले गुप्तेश्वर पांडे के वीआरएस लेने के बाद डीजीपी का प्रभार संभाल रहे थे. (फाइल फोटो)

सिंघल इससे पहले गुप्तेश्वर पांडे के वीआरएस लेने के बाद डीजीपी का प्रभार संभाल रहे थे. (फाइल फोटो)

गृह विभाग ने अपनी अधिसूचना में कहा है कि एसके सिंघल अगले आदेश तक के लिए बिहार के डीजीपी बने रहेंगे. आपको बता दें कि इससे पहले एसके सिंघल होमगार्ड और अग्निशमन में डीजी सह कमांडेंट जेनरल थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 19, 2020, 10:33 PM IST
  • Share this:
पटना. बिहार के नए पुलिस महानिदेशक (DGP) होंगे एसके सिंघल. सिंघल को डीजीपी की कमान सौंपे जाने की अधिसूचना गृह विभाग ने जारी कर दी है. गृह विभाग ने अपनी अधिसूचना में कहा है कि एसके सिंघल अगले आदेश तक के लिए बिहार के डीजीपी बने रहेंगे. आपको बता दें कि इससे पहले एसके सिंघल होमगार्ड और अग्निशमन में डीजी सह कमांडेंट जेनरल थे. फिलहाल वे डीजीपी के प्रभार में थे. एसके सिंघल 1988 बीच के आईपीएस अधिकारी हैं.

गुप्तेश्वर पांडे के वीआरएस लेने के बाद सिंघल के पास था अतिरिक्त प्रभार

आपको बता दें कि बिहार विधानसभा चुनाव से पहले डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय (Gupteshwar Pandey) ने वीआरएस ले लिया था. जिसके बाद आईपीएस अधिकारी एसके सिंघल को बिहार के डीजीपी का अतिरिक्त प्रभार दिया गया था. एसके सिंघल पर 1996 में सीवान के बाहुबली नेता शहाबुद्दीन ने हमला किया था. उस समय सिंघल बतौर पुलिस अधीक्षक सिवान में तैनात थे. शहाबुद्दीन को इस मामले में विशेष अदालत ने 2007 में 10 साल की सजा सुनाई थी.

शहाबुद्दीन मामले से चर्चा में आए थे सिंघल
बिहार में डीजीपी के पद पर एसके सिंघल की नियुक्ति को इसलिए भी अहम माना जा रहा है कि अभी हाल में ही शहाबुद्दीन को बिहार सरकार की पहल पर सीवान से दिल्ली की तिहाड़ जेल में शिफ्ट कर दिया गया. साल 1996 में जब सिंघल बतौर सिवान एसपी कार्यरत थे, तब बाहुबली सांसद ने सिंघल पर हमला करवाया था. जिसके बाद सिंघल ने शहाबुद्दीन के खिलाफ सीवान के दरौली पुलिस स्टेशन में लिखित शिकायत दर्ज कराई थी. उनकी इसी सक्रियता और कार्रवाई के चलते आखिरकार शहाबुद्दीन को अदालत ने दोषी माना और उसे सजा दिलवाने में सफलता मिली.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज