Home /News /bihar /

Bihar: मगध यूनिवर्सिटी के VC के ठिकानों पर स्पेशल विजिलेंस का छापा, करोड़ों की काली कमाई का खुलासा

Bihar: मगध यूनिवर्सिटी के VC के ठिकानों पर स्पेशल विजिलेंस का छापा, करोड़ों की काली कमाई का खुलासा

स्पेशल विजिलेंस यूनिट ने मगध विश्वविद्यालय के कुलपति राजेंद्र प्रसाद के ठिकानों पर छापेमारी कर 30 करोड़ रुपयों से ज्यादा की सरकारी संपत्ति में अनियमितता और गड़बड़ी का पता लगाया है

स्पेशल विजिलेंस यूनिट ने मगध विश्वविद्यालय के कुलपति राजेंद्र प्रसाद के ठिकानों पर छापेमारी कर 30 करोड़ रुपयों से ज्यादा की सरकारी संपत्ति में अनियमितता और गड़बड़ी का पता लगाया है

Bihar News: स्पेशल विजिलेंस यूनिट की छापेमारी के दौरान मगध विश्वविद्यालय के कुलपति राजेंद्र प्रसाद के खिलाफ 30 करोड़ रुपये से अधिक सरकारी संपत्ति के गबन और अनियमितता का मामला उजागर हुआ है. उनके गोरखपुर स्थित आवास पर 70 लाख नकद के अलावा एक करोड़ रुपए की अचल संपत्ति का पता चला है. साथ ही यहां से पांच लाख की विदेशी मुद्रा भी जब्त की गई है

अधिक पढ़ें ...

पटना. मगध विश्वविद्यालय के कुलपति (वीसी) राजेंद्र प्रसाद (VC Rajendra Prasad) के ठिकानों पर स्पेशल विजलेंस यूनिट की छापेमारी (Raid) में बड़ा खुलासा हुआ है. स्पेशल विजिलेंस यूनिट (Special Vigilance Unit) की तीन टीमों ने बुधवार को उनके पैतृक गांव गोरखपुर (Gorakhpur) और बोधगया स्थित कार्यालय व सरकारी आवास पर एक साथ छापेमारी की. छापेमारी के दौरान कुलपति राजेंद्र प्रसाद के खिलाफ 30 करोड़ रुपये से अधिक सरकारी संपत्ति के गबन और अनियमितता का मामला उजागर हुआ है. उनके गोरखपुर स्थित आवास पर 70 लाख नकद के अलावा एक करोड़ रुपए की अचल संपत्ति का पता चला है. साथ ही यहां से पांच लाख की विदेशी मुद्रा भी जब्त की गई है.

छापेमारी में यह भी खुलासा हुआ कि मगध विश्वविद्यालय (Magadh University) में केवल 47 गार्ड सुरक्षा के लिहाज से कार्यरत हैं. लेकिन 86 गार्ड के नाम पर भुगतान किया जा रहा था. इसके अलावा हर महीने कुलपति द्वारा कई तरह की आर्थिक अनियमितताएं और गड़बड़ियां की जा रही थीं. स्पेशल बिजनेस यूनिट की टीम ने इससे संबंधित साक्ष्य (सबूत) और कागजात जब्त किये हैं. टीम में शामिल डीएसपी स्तर के अधिकारी लव कुमार गोरखपुर और रंजन कुमार के नेतृत्व में गया में छापेमारी की कार्रवाई की गई.

दरअसल राजेंद्र प्रसाद मगध विश्वविद्यालय, बोधगया के कुलपति के अलावा वीर कुंवर सिंह यूनिवर्सिटी, आरा के भी प्रभारी कुलपति रहे हैं. स्पेशल बिजनेस यूनिट की टीम ने छापेमारी में पाया कि उन्होंने कुलपति के पद का दुरुपयोग और साजिश करते हुए विश्वविद्यालय के नाम पर कई ऐसी चीजों की खरीदी की जिसका उपयोग विश्वविद्यालय के हित में नहीं किया जा सकता.

इसके अलावा, यह भी पता चला कि राजेंद्र प्रसाद ने तमाम प्रक्रिया और निविदा के नियमों को ताक पर रखकर मनचाहे तरीके से खरीदी हुई चीजों और सामानों का भुगतान किया. स्पेशल बिजनेस यूनिट का मानना है कि भुगतान की राशि खुद कुलपति को अपने पास रखनी थी इसलिए उन्होंने मनमाने तरीके से भुगतान की प्रक्रिया को अपनाया. उनके खिलाफ प्रथम दृष्टया मामला सही पाए जाने पर स्पेशल विजलेंस यूनिट की टीम ने निगरानी थाने में केस दर्ज करते हुए न्यायालय से सर्च वारंट हासिल किया है जिसके बाद उनके ठिकाने पर छापेमारी की कार्रवाई की जा रही है.

Tags: Bihar News in hindi, Corruption case, Crime News, PATNA NEWS, Raid

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर