बिहार DGP बोले- रिया चक्रवर्ती की 'हैसियत' नहीं कि वह CM नीतीश कुमार पर टिप्पणी करे, सत्य की हुई जीत
Patna News in Hindi

बिहार DGP बोले- रिया चक्रवर्ती की 'हैसियत' नहीं कि वह CM नीतीश कुमार पर टिप्पणी करे, सत्य की हुई जीत
DGP-Gupteshwar-Pandey (फाइल फोटो)

रिया चक्रवर्ती (Rhea Chakraborty) ने सीबीआई जांच (CBI investigation) टालने के लिए सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) और बिहार चुनाव का जिक्र किया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 19, 2020, 2:06 PM IST
  • Share this:
पटना. सुशांत सिंह राजपूत मौत (Sushant singh rajput) मामले में सीबीआई से जांच (CBI investigation) करवाए जाने के सुप्रीम कोर्ट के फैसले का बिहार के पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडेय (DGP Gupteshwar Pandey) ने स्वागत किया है. डीजीपी ने न्यूज़ 18 से बात करते हुए कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले से बिहार के हर घर में खुशी का माहौल है क्योंकि सुशांत सिंह बिहार के बेटे थे. डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने यह भी कहा कि इस फैसले से यह साबित हो गया है कि सच की आखिर में जीत होती है. डीजीपी ने कहा कि इस फैसले से अब सुशांत सिंह के परिजनों को न्याय मिल सकेगा.

डीजीपी  ने कहा कि मैं बहुत प्रसन्न हूं क्योंकि ये अन्याय के विरुद्ध न्याय की जीत है. यह 130 करोड़ लोगों के भावनाओं की जीत है. अब लोगों के अंदर उम्मीद बनी है कि अब सुशांत केस की सच्चाई सामने आएगी. यह पूरे देश के लिए बहुत बड़ी खबर है. वहीं, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर टिप्पणी पर डीजीपी ने रिया चक्रवर्ती को सख्त जवाब दिया है.

डीजीपी ने कहा कि बिहार के सीएम पर कमेंट करने की हैसियत रिया चक्रवर्ती की नहीं है. डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सपोर्ट के कारण ही सुशांत केस में न्याय मिलने की उम्मीद बनी है. मैं इस बात को दोहरा रहा हूं कि रिया चक्रवर्ती की हैसियत नहीं है कि वो बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर टिप्पणी करे.



बता दें कि रिया चक्रवर्ती ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल अपने हलफनामे में इस प्रकरण को बिहार चुनाव से जोड़ते हुए कहा था कि इस मामले में एक राज्य के मुख्यमंत्री इंट्रेस्ट ले रहे हैं. रिया ने हलफनामे में लिखा था कि 'मेरे खिलाफ मीडिया ट्रायल चल रहा है. पिछले कुछ समय में दूसरे अभिनेताओं ने भी आत्महत्या की. लेकिन सुशांत के केस को बढ़ा-चढ़ा कर दिखाया जा रहा है. इसकी वजह बिहार चुनाव है. बिहार के मुख्यमंत्री ने खुद एफआईआर दर्ज होने में दिलचस्पी दिखाई.' इसी मामले में डीजीपी ने ये रिया चक्रवर्ती पर सख्त टिप्पणी की है.
मुंबई पुलिस के आरोपों का जिक्र करते हुए डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा कि हम लोगों पर आरोप लगाए जा रहे थे कि आपने क्यों केस किया. हमको जांच नहीं करने दिया जा रहा था. हमने आईपीएस अफसर को भेजा तो उसे कैदी की तरह रात में क्वारनटीन कर लिया गया. इससे लगा कि कोई न कोई गड़बड़ है.

डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा कि नतीजा आएगा और निश्चित आएगा, क्योंकि यह केवल एक परिवार की लड़ाई नहीं है, यह हिंदुस्तान की जनता की लड़ाई है. संजय राउत के बयान पर डीजीपी ने कहा कि किसी राजनीतिक व्यक्ति पर आरोप लगाना उचित नहीं है. पूरे देश को पता चल गया कि बिहार पुलिस कोई गलत नहीं कर रही थी.

डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा कि यह बहुत हाई प्रोफाइल केस है. कई लोगों को पोल खुल जाने का डर सता रहा है. ऐसे में सीबीआई की जांच में सबकुछ सच सामने आएगा. गौरतलब है कि पटना के राजीव नगर थाना में ही सुशांत सिंह राजपूत का मामला पटना पुलिस ने दर्ज किया था और उसी के बाद चार सदस्यीय टीम मुंबई पहुंची थी. लेकिन वहां मुंबई पुलिस ने सपोर्ट नहीं किया जिसके बाद बिहार सरकार ने सीबीआई जांच की सिफारिश की थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज