SSR Death Case: सुशांत सिंह राजपूत मामले में निशाने पर नीतीश, चिराग और तेजस्वी ‘फिर’ साथ-साथ!

चिराग और तेजस्वी के सुशांत सिंह राजपूत मामले में भी नीतीश कुमार पर हमले ने जेडीयू की बेचैनी को बढ़ा दिया है. (File)

SSR Death Case Update: चिराग पासवान (Chirag Paswan) ने सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की मौत मामले में नीतीश कुमार (Nitish Kumar) की खामोशी पर सवाल खड़ा कर दिया. हालांकि, उन्होंने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) से फोन पर बात कर इस पूरे मामले में सीबीआई (CBI) जांच की मांग भी की है.

  • Share this:
पटना. सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की मौत के मामले को लेकर अब बिहार में सियासत भी काफी तेज हो गई है. एलजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान (Chirag Paswan)  ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) पर सबसे पहले हमला बोला और इस मामले में उनकी ‘खामोशी’ पर सवाल खड़ा कर दिया. चिराग पासवान यहीं नहीं रूके. उनकी तरफ से बिहार में बाढ़ और कोरोना के ‘बदतर’ हालात को लेकर भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को कठघरे में खड़ा किया गया. गौरतलब है कि चिराग पासवान पिछले कई महीने से लगातार बिहार की नीतीश सरकार के काम-काज पर सवाल खड़ा करते रहे हैं. चिराग ने एक बार फिर से सुशांत सिंह राजपूत की मौत मामले में नीतीश कुमार की खामोशी पर सवाल खड़ा कर दिया. हालांकि, उन्होंने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से फोन पर बात कर इस पूरे मामले में सीबीआई (CBI) जांच की मांग भी की है.

चिराग के हमले के अगले ही दिन बिहार में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने भी मुख्यमंत्री के खिलाफ मोर्चा खोल दिया. जब अपने ‘सहयोगी’ चिराग की तरफ से इतना बड़ा हमला हुआ तो फिर ‘विरोधी’ तेजस्वी कहां से चुप रहने वाले थे. तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से सवाल किया कि अब तक उन्होंने सुशांत सिंह राजपूत के परिजनों से मुलाकात क्यों नहीं की ? इसके अलावा महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से बात कर सीबीआई जांच की मांग नहीं करने पर भी तेजस्वी ने नीतीश कुमार पर सवाल उठाए. तेजस्वी ने एक बार फिर से बिहार के राजगीर में बन रहे फिल्म सिटी का नाम सुशांत सिंह राजपूत के नाम पर नहीं किए जाने को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को घेरा.

सियासत के दो चेहरे मगर सुर एक

तेजस्वी यादव से पहले चिराग पासवान ने भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से बात करने का आग्रह किया था. लेकिन, चिराग का कहना है कि उस पत्र पर कोई संज्ञान नहीं लिया गया. इसके बाद चिराग पासवान अब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमलावर हो गए हैं. बिहार की सियासत के दो युवा चेहरे चिराग पासवान और तेजस्वी यादव के सुर पहले भी मिलते रहे हैं. बिहार विधानसभा चुनाव के समय को लेकर भी दोनों की राय जुदा नहीं है. चिराग और तेजस्वी कोरोना काल में लोगों के स्वास्थ्य को सियासत से उपर रखने के पक्षधर हैं.

ये भी पढ़ें:  राफेल से बढ़ा देश का जोश, सुशील मोदी ने कहा: कांग्रेस-राजद खेमे में 'सियापा' क्यों ? 

विधानसभा चुनाव से पहले सियासत

चिराग और तेजस्वी के सुशांत सिंह राजपूत मामले में भी नीतीश कुमार पर हमले ने जेडीयू की बेचैनी को बढ़ा दिया है. एनडीए में शामिल जेडीयू की सहयोगी एलजेपी की तरफ से किए गए हमले ने जेडीयू को परेशान कर दिया है. पार्टी की तरफ से सीबीआई जांच की मांग का समर्थन तो किया गया है लेकिन, सुशांत के परिवार वालों की मांग के आधार पर. जेडीयू के प्रधान महासचिव के सी त्यागी ने इस मुद्दे पर नीतीश कुमार का बचाव करते हुए कहा कि नीतीश कुमार बिहार के पहले नेता थे, जिन्होंने सुशांत के मसले पर अपनी संवेदना प्रकट की. उन्होंने सुशांत की मौत को पूरे बिहार के लिए क्षति बताते हुए इस मसले पर सियासत से बचने की सलाह दी.

ये भी पढ़ें: COVID-19: कोरोना को चुनौती देगी मेरठ की स्पोर्ट्स इंडस्ट्री, IPL पर टिकी है निगाहें 

बिहार में विधानसभा चुनाव से पहले बाढ़ से लेकर कोरोना तक और अब सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले पर भी सियासत होनी ही है. सियासत हो भी रही है. लेकिन, इन मुद्दों पर तेजस्वी के साथ-साथ चिराग के तेवर ने सत्ताधारी जेडीयू को परेशान कर दिया है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.