Assembly Banner 2021

Bihar Panchayat Chunav 2021: चुनाव को लेकर निर्वाचन आयोग का बड़ा फैसला, आरक्षित पदों की लिस्‍ट जारी

सांकेतिक फोटो.

सांकेतिक फोटो.

बिहार के त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव (Bihar Panchayat Election) के लिए राज्य निर्वाचन आयोग ने नया आदेश जारी करते हुए सभी स्तर के आरक्षित पदों को सार्वजनिक करने का निर्देश दिया है. इसका मकसद पंचायत चुनाव को अधिकाधिक पारदर्शी बनाना है.

  • Share this:
पटना. बिहार में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव (Bihar Panchayat Election) लड़ने वाले प्रत्याशियों के लिए एक अहम खबर है. पंचायत चुनाव लड़ने वाले मुखिया, सरपंच, वार्ड सदस्य, पंच पंचायत समिति के सदस्य और जिला पार्षदों के प्रत्याशियों को नामांकन भरने से पहले आरक्षित पदों की संख्या के बारे में विस्तृत जानकारी मिल सकेगी. राजय निर्वाचन आयोग द्वारा सभी जिलों को यह निर्देश जारी किया गया है कि त्रिस्तरीय पंचायतों और ग्राम कचहरी के विभिन्न पदों के लिए होने वाले निर्वाचन में विभिन्न पदों को डिजिटाइज कर दिया जाए. राज निर्वाचन आयोग से अनुमोदित आरक्षित पदों की सूची अभी जिला कार्यालयों में और आयोग कार्यालयों में संरक्षित रखा गया है.

आयोग ने स्पष्ट किया है कि पंचायत के पदों के आरक्षण को डिजिटाइज कराया जाना अनिवार्य है, ताकि प्रत्याशियों के नामांकन उनके नामांकन पत्रों की जांच मतगणना और निर्वाचन प्रमाण पत्र और प्रपत्र 23 तैयार करने में कोई असुविधा न हो.पंचायत चुनाव को अधिकाधिक तरीके से पारदर्शी बनाने के लिए भी राज निर्वाचन आयोग ने सभी स्तर के आरक्षित पदों को सार्वजनिक करने का निर्देश दिया है.

पंचायत चुनाव 2021 की आरक्षण की स्थिति
बिहार के पंचायत राज विभाग के मुताबिक, राज्‍यमें ग्राम पंचायत में मुखिया के कुल पद 8386 हैं जिसमें महिला के लिए 3772 पद आरक्षित हैं.अनुसूचित जाति के लिए 1388 पद आरक्षित हैं जिसमें से महिला के लिए 562 पद तय किए गए हैं. इसी तरह अनुसूचित जनजाति के लिए मुखिया के लिए 92 पद आरक्षित हैं जिसमें 21 अनुसूचित जनजाति महिला के लिए हैं. जबकि पिछड़ा वर्ग के लिए 1441 पद ( महिला 585) आरक्षित हैं.
इसके साथ ग्राम कचहरी मैं सरपंच के कुल 8386 पद हैं. इसमें महिलाओं के लिए 3772 पद आरक्षित हैं. अनुसूचित जाति के लिए 1388 पद ( महिला 562) आरक्षित हैं. अनुसूचित जनजाति के लिए 92 पद आरक्षित हैं जिसमें से महिलाओं के लिए 21 पद हैं. पिछड़े वर्ग के लिए सरपंच पद के लिए 1441 पद आरक्षित हैं जिसमें से महिलाओं के लिए 585 पद हैं.



अगर वार्ड सदस्यों की अगर बात की जाए तो 114733 पदों में से महिलाओं के लिए 51998 पद आरक्षित हैं. इसमें अनुसूचित जाति के लिए 19037 पद (महिला 7469) आरक्षित हैं.अनुसूचित जनजाति के लिए 1223 पद (महिला 300) आरक्षित हैं. जबकि पिछड़े वर्ग में 18561 पद (महिला 7890) के लिए आरक्षित हैं.

पंचायत समिति के सदस्यों लिए कुल 11497 पद होंगे जिसमें महिलाओं के लिए 5341 पद आरक्षित होंगे. इन 11497 में अनुसूचित जाति के लिए 1910 पद आरक्षित हैं जिसमें से महिलाओं के लिए 819 पद होंगे. इसी तरह अनुसूचित जनजाति के लिए 131 पद हैं जिसमें से महिलाओं के लिए 35 पर आरक्षण होगा. पिछड़ा वर्ग के लिए 2049 पद सुरक्षित होंगे जिसमें महिलाओं के लिए 903 पद आरक्षित किए गए हैं.

ऐसा है जिला परिषद का हाला
जिला परिषद सदस्यों के 1161 पदों के लिए चुनाव होगा जिसमें महिलाओं के लिए 548 पद सुरक्षित होंगे. इसमें अनुसूचित जाति के लिए 195 पद आरक्षित होंगे जिसमें महिलाओं के लिए 87 पद रिजर्व होंगे. इसी तरीके से अनुसूचित जनजाति के लिए 13 पद आरक्षित होंगे जिसमें महिलाओं को दो पद मिलेंगे. पिछड़ा वर्ग के 217 पद आरक्षित होंगे जिसमें महिलाओं के लिए 101 पद आरक्षित होंगे.

इसके अलावा प्रमुख के लिए इस बार 538 पदों के लिए चुनाव होगा. महिलाओं के 236 पद महिलाओं के लिए आरक्षित होंगे. अनुसूचित जाति के लिए 92 पद आरक्षित होंगे जिसमें से महिलाओं के लिए 36 पद आरक्षित होंगे. अनुसूचित जनजाति के लिए 5 पद आरक्षित हैं इसमें महिलाओं के लिए कोई आरक्षण नहीं होगा. साथ ही पिछड़ा वर्ग के लिए 93 पद आरक्षित होंगे जिसमें महिलाओं के लिए 36 पद के आरक्षण का प्रावधान किया गया है.

इसी तरीके से जिला परिषद के अध्यक्ष पद के लिए इस बार 38 पदों पर जो चुनाव होगा उसमें से महिलाओं के लिए 18 पद आरक्षित होंगे. इन 38 पदों में अनुसूचित जाति के लिए 6 पद आरक्षित होंगे जिसमें महिलाओं की 3 सीट रिज़र्व होगी. इसी तरीके से अनुसूचित जनजाति के लिए एक पद आरक्षित होगा जिसमें से महिलाओं के लिए कोई आरक्षण नहीं होगा. साथ ही साथ पिछड़ा वर्ग के लिए 7 सीट आरक्षित होंगी जिसमें से महिलाओं को तीन पद मिलेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज