बिहार: अजब प्रेम की गजब कहानी! पुलिस साथ लेकर आई युवती ने रुकवाई शादी, फिर छोटे भाई संग दुल्हन की हुई विदाई

पालीगंज के शादी समारोह में तब ट्विस्ट आ गया जब एक युवती पुलिस लेकर पहुंच गई.

Bihar News: दूल्हा-दुल्हन एक दूसरे के गले में फूलों का हार डाल कर जयमाल की प्रक्रिया कर रहे थे. ठीक उसी समय फिल्मी स्टाइल मे पुलिस के साथ पहुंचकर एक युवती ने दूल्हे को उसका पति होने का दावे करते हुए शादी रुकवा दी.

  • Share this:
दानापुर. कल प्यार, आज शादी फिर कल तलाक... आजकल अक्सर युवाओं के प्रेम और शादी का परिणाम देखने को मिलता है. जब मन किया शादी कर ली, फिर मन भर गया तो पहली को छोड़कर दूसरी से शादी रचा ली. अजब प्रेम की गजब कहानी आजकल खूब देखने और सुनने को मिल रही है. न प्रेम करते देर लग रही है न शादी करते देर. इसका दुष्परिणाम भी कम नहीं देखने को मिल रहा है. कुछ इसी तरह की कहानी बुधवार की रात पालीगंज में देखने को मिली. जब एक युवती पुलिस लेकर वहां पहुंच गई जहां उसके कथित पति की शादी हो रही थी. पालीगंज में जयमाल के समय पहुंचकर प्रेमिका सह पत्नी ने शादी रुकवाई.

इस मामले के बारे में बताया जा रहा है कि युवक प्रेमिका से शादी रचाने के बाद दूसरी शादी रचाने चला था. दूल्हा बने युवक की बारात पहुंचने पर जयमाल की रस्म अदा हो रही थी. दूल्हा-दुल्हन एक दूसरे के गले मे फूलों का हार डाल कर जयमाल की प्रक्रिया कर रहे थे. ठीक उसी समय फिल्मी स्टाइल मे पुलिस के साथ पहुंचकर एक युवती ने अपने दूल्हे को उसका पति होने का दावे करते हुए शादी रुकवा दी.

बारात मे साक्षी के तौर पर  शामिल रहे सेंकडों लोगों के साथ-साथ लड़की वाले और सराती पार्टी को स्तब्ध और भवच्चक्के कर दिया. युवती के पुख्ता दावे और ठोस सबूत दिखाने के बाद शादी की जयमाल रस्म रोक दी गई. खास बात यह थी कि युवक ने भी युवती के दावे को सही बताते हुए कहा कि परिजनों के दबाव के बाद मजबूर होकर हम शादी करने को विवश हो गए थे.

यह घटना पालीगंज अनुमंडल के सिगोडी थाने  क्षेत्र की है. दरअसल मुरारचक गांव में जहां भीम यादव की सुपुत्री कुमारी पिंकी की शादी के लिए बारात पालीगंज थाने के सियारामपुर गाँव से संजय यादव के पुत्र अनिल कुमार की बारात धूमधाम से मुरारचक  गई थी, लेकिन नाटकीय ढंग से यह शादी लड़की की दावेदारी के बाद पुलिस ने रुकवा दी. फिर आज सुबह वही लड़की कुमारी पिंकी से लड़के के छोटे भाई से  शादी करवाई गई और बारात के साथ दुल्हन की विदाई की गई.

मिली जानकारी के अनुसार पालीगंज थाने के सडसी गांव के एक लड़की से सियामपुर गांव के लड़का के बीच काफी दिनों से  प्रेम चल रहा था. दोनों ने शादी भी रचा ली और एक साल से दोनों  पति- पत्नी के रूप मे चोरी छिपे रहने लगे. इसी बीच लड़के पर उसके परिजनों ने शादी के लिए दबाव डालते हुए दूसरी जगह शादी करने को मजबूर कर दिया. लड़के ने मजबूर होकर शादी की सहमति दे दी.

शादी ठीक होने के बाद बीते 15 जून को उक्त लड़के की शादी थी. बारात मुरारचक गांव पहुंच गई थी.  जैसे ही लड़की को  यह बात पता चली की आज बारात गई है उसने सिगोडी थाने पहुंचकर पुलिस को सबूत दिखाए. पुलिस से शादी को तत्काल रुकवाने की आग्रह किया . उक्त लड़की के दावे और उसके द्वारा शादी की अनेकों तस्वीरें और सबूत पेश करने के बाद पुलिस ने युवती का साथ दिया और दलबल के साथ पहुंचकर शादी रुकवा दी.

मिली जानकारी के अनुसार उक्त लड़के ने भी लड़की के दावे को सही बताते हुए माना कि वे लोग विगत एक साल शादी कर पति-पत्नी के रूप मे एक साथ रह रहे हैं. लेकिन परिजनों के दबाव के आगे विवश होकर शादी करने मजबूर हो गए थे.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.