लाइव टीवी

कार और बाइक वालों को प्याज नहीं देता पटना का ये दुकानदार, जानें क्यों

Brijam Pandey | News18 Bihar
Updated: December 15, 2019, 3:09 PM IST
कार और बाइक वालों को प्याज नहीं देता पटना का ये दुकानदार, जानें क्यों
पटना की सड़कों पर प्याज बेचते विनय

विनय बिहारी ने प्याज (0nion) बेचने के कुछ नियम भी रखे हैं. मोटरसाइकिल सवार (Bikers) और कार सवार को अपना प्याज को नहीं बेचते हैं.

  • Share this:
पटना. प्याज की महंगाई (Onion Price Hike) को लेकर जहां पूरे पूरे देश में हाय-तौबा मची है, राजनीति हो रही है और विपक्ष-सत्तारूढ़ दल पर प्याज की बढ़ती की कीमत के लिए आरोप लगाते हुए हमलावर है वहीं बिहार (Bihar) में एक शख्स लोगों को सब्सिडी रेट पर प्याज (Onion) उपलब्ध करा रहा है वो भी घूम-घूम कर. बिस्कोमान और पप्पू यादव (Pappu Yadav0 की तर्ज पर ये व्यक्ति लोगों को सब्सिडी रेट में प्याज मुहैया करा रहा है.पटना की सड़कों पर प्याज बेचने वाले इस शख्स का नाम विनय बिहारी साव है जो साइकिल पर प्याज लेकर लोगों को सब्सिडी कीमत पर प्याज मुहैया कराते हैं.

सब्सिडी रेट पर बेचते हैं प्याज

विनय बिहारी साव पेशे से बिस्किट फेरी वाले हैं. वो अपनी साइकिल पर बिस्किट लेकर दुकान-दुकान जाकर बेचते हैं लेकिन जब से प्याज की कीमत बढ़ी है तब से विनय अपने काम पर निकलने से पहले 2 घंटा सब्सिडी रेट पर प्याज भी बेचते हैं.

30 से 40 रुपए का होता है नुकसान

विनय बताते हैं कि मार्केट से 80 से 90रु प्रति किलो प्याज खरीद कर वह 50 से ₹45 प्रति किलो प्याज लोगों को मुहैया कराते हैं. इसमें उनको प्रतिकिलो 30 से 40 रु का नुकसान होता है.

बाइक और कार वालों को प्याज नही बेचते

विनय बिहारी ने प्याज बेचने के कुछ नियम भी रखे हैं. मोटरसाइकिल सवार और कार सवार को अपना प्याज को नहीं बेचते हैं. वो उन्हीं लोगों को प्याज देते हैं जो गरीब तबके से ताल्लुक रखते हैं या उन तक महंगा प्याज नहीं पहुंच पाता है.लोगों मे प्याज को लेकर जागरूकता भी फैलाते हैं

विनय ने अपनी साइकिल पर एक बैनर भी लगा रखा है जिस पर बढ़ती कीमत प्याज को लेकर कई कोटेशन लिखे हैं. साथ ही अपने साथ पोर्टेबल माइक भी रखते हैं और लोगों को प्याज को लेकर बताते हैं उन्हें कैसे प्रयोग करना है. जब कीमत ज्यादा रहे तो प्याज का उपयोग कम से कम करें .

कमाई का एक हिस्सा समाज सेवा के लिए

विनय बताते हैं कि वह प्रतिदिन ₹500 कमाते हैं तो ₹300 अपने परिवार पर खर्चा करते हैं और बाकी ₹200 समाज के लिए रखते हैं. ऐसी मुश्किल घड़ी में हो अपनी जेब से प्याज खरीद कर सब्सिडी कीमत पर लोगों को प्याज मुहैया कराते हैं. विनय कहते हैं उन्हें इस काम में बहुत संतुष्टि मिलती है. वो सरकार से कोई अपेक्षा नहीं रखते हैं. उनका मानना है कि यदि समाज में कुछ लोग इस तरह से जागरूकता अपनाएंगे तो इस तरह की दिक्कत नहीं होगी.

ये भी पढ़ें- लोजपा ने NRC पर उठाए सवाल, चिराग पासवान बोले-स्थिति साफ करें गृह मंत्री

ये भी पढ़ें- मॉर्निंग वॉक के दौरान RJD नेता पर ताबड़तोड़ फायरिंग, हालत नाजुक

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 15, 2019, 3:06 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर