पैसे नहीं थे तो आठवीं क्लास के बच्चे ने रच डाली खुद के अपहरण की साजिश

बेटे के अगवा होने की शिकायत लेकर दीनानाथ ने एसएसपी को जानकारी दी जिसके बाद पुलिस ने पूरे मामले का खुलासा किया और अपहृत छात्र को मीठापुर बस स्टैंड से बरामद कर लिया गया.

News18 Bihar
Updated: October 14, 2018, 12:31 PM IST
पैसे नहीं थे तो आठवीं क्लास के बच्चे ने रच डाली खुद के अपहरण की साजिश
मामले की जानकारी देते पटना के एसएसपी
News18 Bihar
Updated: October 14, 2018, 12:31 PM IST
राजधानी पटना में आठवीं क्लास में पढ़ने वाले नाबालिग ने अपने उपर आए कर्ज को चुकाने के लिए अपहरण की साजिश रची लेकिन पुलिस ने समय रहते उसे नाकाम कर दिया. पुलिस ने कुछ ही घंटे में अपहरण की इस कोशिश को नाकाम करने के साथ ही उसके मंसूबों को नाकाम कर दिया.

दरअसल पटना पुलिस को शनिवार की दोपहर एक नाबालिग को अगवा करने की खबर मिली जिसके बाद पुलिस ने जाल बिछाया और कुछ ही देर में कथित तौर से अपहृत को बरामद कर लिया. इसके बाद पूछताछ में जो बातें निकल कर आई वो सच में हैरान करने वाली थी. दरअसल पोस्टल पार्क रोड इलाके में रहने वाले आठवीं के छात्र ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर अपने अपहरण की साजिश रची थी.

इस साजिश का कारण था उस कर्ज को चुकाना जो उसने अपने दोस्तों से मौज-मस्ती के लिए लिए थे. फिरौती के तौर पर उसने अपने पिता को फोन कर तीन लाख की फिरौती भी मांगी. पटना के एसएसपी मनु महाराज ने मामले का पर्दाफाश किया और बताया कि अपहृत छात्र दोस्तों से मौज-मस्ती के लिए कर्ज लेता था. इस दौरान कर्ज बढ़ते-बढ़ते 60 हजार रुपए हो गया. जब उसके दोस्त पैसे मांगने लगे, तो उसने अपने अपहरण की साजिश रच डाली और अपने पिता दीनानाथ राय से 3 लाख रुपए फिरौती की मांग की.

ये भी पढ़ें- नौबतपुर: अपराधियों ने युवक को गोलियों से भून दिया, इलाके में खौफ

बेटे के अगवा होने की शिकायत लेकर दीनानाथ ने एसएसपी को जानकारी दी जिसके बाद पुलिस ने पूरे मामले का खुलासा किया और अपहृत छात्र को मीठापुर बस स्टैंड से बरामद कर लिया गया. पटना पुलिस ने इस मामले में छात्र के तीन नाबालिग दोस्तों को भी पकड़ा है जो उसी के साथ पढ़ते थे. पुलिस के मुताबिक कर्ज के पैसे चुकाने के बाद सभी ने एक स्पीड बाइक खरीदने का भी प्लान कर रखा था. पुलिस फिलहाल तीनों से पूछताछ कर रही है.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर