Assembly Banner 2021

NEET-JEE: सुपर 30 फेम आनन्द बोले- सरकार अपने फैसले पर दोबारा करे विचार

सुपर 30 फेम आनंद कुमार की फाइल फोटो (सौजन्य से ट्विटर)

सुपर 30 फेम आनंद कुमार की फाइल फोटो (सौजन्य से ट्विटर)

नीट (NEET) और जेईई मेन (JEE Main) की परीक्षा को लेकर पूरे देश में सियासत जारी है और अधिकांश लोग इसकी परीक्षा की तिथि को बढ़ाने की मांग कर रहे हैं.

  • Share this:
रिपोर्ट- धर्मेंद्र कुमार

पटना. जेईई (JEE) मेन और नीट (NEET Exam) की परीक्षा सितंबर में होनी है जबकि कोविड-19 के केस देश भर में काफी तेजी से फैल रहे हैं. इसको लेकर छात्रों और शिक्षकों के साथ-साथ देश भर में लोगो के बीच एक बहस ने जन्म ले लिया है. इस परीक्षा को लेकर सुपर 30 (Super 30) फेम आनन्द कुमार ने भी सवाल खड़े किए हैं. जब उनसे पूछा गया कि परीक्षा को लेकर वो क्या सोचते हैं तो उन्होंने कहा कि बहुत दिनों से अनिश्चितता बनी हुई थी तो परीक्षा की घोषणा करके सरकार ने अच्छा काम किया है लेकिन इन सबके बीच हम शिक्षकों की गुजारिश है सरकार इसकी तिथि पर फिर से विचार करे.

परीक्षा को लेकर बच्चों पर बन रहा है दबाव



आनंद ने कहा कि बहुत से माता-पिता परीक्षा को लेकर अपने बच्चों पर दबाव बना रहे हैं या उनके दबाव से प्रभावित हो रहे हैं और चाहते हैं कि परीक्षा हो इसको लेकर ही सरकार ने 1 सितंबर से 5 सितंबर तक परीक्षा की तिथी की घोषणा की है. आनंद ने कहा कि सितंबर पहले सप्ताह में परीक्षा होनी है उसमे कई समस्याएं हैं, क्योंकि पहले बच्चों की जान बहुत महत्वपूर्ण है. परीक्षा के क्रम में कोई बच्चा अगर मास्क लगाकर जाता है तो उसे 3 घंटे तक वैसे ही मास्क लगाए रखे तो वो खुद को उतना कंफर्टेबल नहीं महसूस कर पायेगा और वो अपना सौ प्रतिशत नहीं दे पाएगा.
Youtube Video


कोरोना संक्रमण का है खतरा

अगर वो कोरोना पीड़ित हो गया तो भी बहुत बुरा होगा, अगर नहीं भी होता है तो वो संक्रमित होने के खतरे से डरा रहेगा. आनंद ने कहा कि माता-पिता अगर ध्यान से सुनें तो एक साल से कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए. गणितज्ञ आनन्द ने यह भी कहा कि बहुत लोग प्रश्न उठाते हैं कि एक साल अगर बच्चा को ड्राप कर दिया जाए तो अगले साल तक हमलोग को वैक्सीन मिल चुका होगा और अगले साल परीक्षा हो जाएगी पर अगले साल दो बैच हो जाएंगे उसमे दो तीन माह का गैप कर और एक का सिलेबस थोड़ा रिड्यूस करके जल्दी पढ़कर भी मैनेज किया जा सकता है.

सरकार बनाये कमिटी

आनंद ने मांग करते हुए कहा कि सरकार एक कमिटी बनाये जो लोगों से इस मसले पर राय ले. वैसे सरकार के पास भी अच्छे अच्छे लोग हैं. वाइसचांसलर से लेकर डायरेक्टर आदि हैं तो वो एक प्रावधान निकाल सकते हैं और मेरा यही अनुरोध है कि अच्छा होगा कि परीक्षा की तिथि को कुछ महीनें और बढ़ाया जाए ताति कुछ चीजें और नॉर्मल हो.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज