लालू यादव की बेटी रोहिणी आचार्य ने सुशील मोदी पर कसा तंज, कहा- इनके बेटे का गुजारा तो मनरेगा में मजदूरी से होता है

लालू प्रसाद यादव की दूसरी बेटी रोहिणी आचार्य

लालू प्रसाद यादव की दूसरी बेटी रोहिणी आचार्य

Bihar Politics: कोरोना के लगातार बढ़ते प्रकोप के बीच स्वास्थ्य व्यवस्था को बदहाल बताकर सवाल खड़े कर हुए लालू यादव की बेटी रोहिणी आचार्य ने ट्वीट कर हमला बोला है.

  • Share this:

पटना. राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव की बेटी रोहिणी आचार्य और बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम व वर्तमान राज्यसभा सांसद सुशील मोदी के बीच ट्विटर पर जंग छिड़ी हुई है. सुशील मोदी के ट्वीट पर भड़कते हुए रोहिणी आचार्य ने एक के बाद एक कई ट्वीट कर सवाल खड़े किए. रोहिणी के सोशल मीडिया पर लगातार सक्रिय होने को राजनीति में एंट्री के रूप में बताया गया था. इस पर रोहिणी ने आड़े हाथों लेते हुए कहा कि बहन-बेटी का राजनीति के बाजार में स्वार्थ पूर्ति के लिए उपयोग करने पर बहन-बेटी जवाब देना जानती है. अब इसमें किसी को मिर्च लगी तो मैं क्या करूं?

राज्यसभा में जाने की अटकलों पर रोहिणी ने ट्वीट करते हुए कहा कि उनकी मंशा में ऐसा कुछ नही है. ऐसे लोग मुझे सृजन चोरनी के भाई की तरह समझते हैं जो हमेशा चोर दरवाजे से मेवा खाते हैं. सुशील मोदी द्वारा तेजस्वी की दो बहनों को MBBS डॉक्टर बताते हुए ट्वीट के जवाब में रोहिणी ने तंज कसते हुए कहा कि इनके बेटे मजदूर हैं और मनरेगा से रोजाना गुजारा होता है. देखे नहीं है का इनके बेटे को...सूख गया है सब.

रोहिणी आचार्य के ट्वीट का स्क्रीन शॉट

बता दें कि सुशील मोदी ने लालू की दो डॉक्टर बेटियों पर तंज कसते हुए कहा था कि दोनों से कोरोना संक्रमण के दौरान सेवाएं क्यों नहीं ली गईं. इसी बात पर लालू यादव की दूसरी बेटी रोहिणी ने सुशील मोदी को निशाना बनाना शुरू कर दिया और उनके इंजीनियर बेटों पर टिप्पणी की. सुशील मोदी और रोहिणी आचार्य के बीच फिलहाल ट्विटर पर बहसबाजी और तेज हो सकती है. इस बीच रोहिणी ने सीएम नीतीश कुमार पर भी सामुदायिक किचेन को लेकर हमला बोला है.
नीतीश कुमार पर भी हमला

कोरोना के लगातार बढ़ते प्रकोप और स्वास्थ्य व्यवस्था पर सवाल खड़े कर हुए लालू यादव की बेटी रोहिणी आचार्य में ट्वीट कर नीतीश पर अब सवाल खड़े किए हैं. ट्वीट करते हुए कहा कि कैसे कहें सुशासन बाबू. जनता स्वास्थ सुविधाओं के लिए मारे-मारे फिर रही है एम्बुलेंस और स्वास्थ्य सुविधाओं के अभाव में लोगों की मौत हो रही है. भूत बंगला बना रखा है स्वास्थ्य केंद्रों का हाल फिर कैसे कहें सुशासन बाबू.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज