लाइव टीवी

लालू यादव को फिर RJD का अध्यक्ष चुने जाने पर सुशील मोदी ने ली चुटकी, कही ये बात...

News18 Bihar
Updated: December 4, 2019, 10:04 AM IST
लालू यादव को फिर RJD का अध्यक्ष चुने जाने पर सुशील मोदी ने ली चुटकी, कही ये बात...
जेल में रहते हुए लालू प्रसाद को फिर से राजद का मुखिया चुने जाने को सुशील मोदी दुर्भाग्यपूर्ण कहा. (फाइल फोटो)

चारा घोटाले के अलग-अलग मामलों में सजायाफ्ता लालू यादव मंगलवार को लगातार 11वीं बार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में निर्विरोध निर्वाचित घोषित किये गए थे.

  • Share this:
पटना. लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) 11वीं बार राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के प्रमुख चुन लिए गए हैं. वो सजायाफ्ता हैं और उनका चयन जेल के भीतर रहते हुए किया गया है. इसको लेकर अब सवाल उठने लगे हैं कि आखिर जेल के भीतर रहते हुए कोई कैसे निर्वाचन प्रक्रिया में भाग लेने वाली पार्टी का मुखिया हो सकता है. इसको लेकर बिहार (Bihar) के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी (Sushil Kumar Modi) ने भी सवाल उठाए हैं. सुशील मोदी ने तंज कसते हुए कहा कि आरजेडी को चाहिए कि वो लालू यादव को आजीवन अपना अध्यक्ष चुन ले.

डिप्टी सीएम मोदी ने अपने ट्वीट में लिखा, 'बिहार एक हजार करोड़ के जिस चारा घोटाला के कारण देश भर में शर्मसार हुआ, उसमें लंबी न्यायिक प्रक्रिया के बाद तत्कालीन मुख्यमंत्री लालू यादव को अब तक चार मामलों में दोषी पाकर सजा सुनायी जा चुकी है. यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि सजायाफ्ता होने के कारण जो व्यक्ति मुखिया तक का चुनाव लड़ने के लिए अयोग्य घोषित है, उसे एक पार्टी 11वीं बार अपना अध्यक्ष चुन रही है.'

उन्होंने तंज कसते हुए आगे लिखा, उन्होंने जेल से इस बार शीर्ष पद के लिए नामांकन की सारी प्रक्रिया पूरी की और समर्थकों ने महाभ्रष्टाचार के दोषी व्यक्ति के ऐसा करने को इस तरह बयां किया जैसे वो किसी नेक काम के लिए दंडित किये गये हों. आरजेडी को बार-बार चुनाव का ढोंग करने के बजाय लालू यादव को आजीवन अध्यक्ष चुन लेना चाहिए.


बता दें कि चारा घोटाला मामलों में सजा काट रहे पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी के संस्थापक लालू यादव मंगलवार को लगातार 11वीं बार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में निर्विरोध निर्वाचित घोषित किए गए. वर्ष 1997 में जनता दल से अलग होकर आरजेडी के गठन के समय से ही राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के लिए प्रत्येक बार लालू यादव को ही निर्विरोध चुना जाता रहा है. यह पहला मौका था जब लालू यादव की गैरमौजूदगी में उनका नामांकन पत्र भी उनके प्रतिनिधियों ने दाखिल किया और वो जेल में रहते हुए निर्वाचित हुए.

ये भी पढ़ें:

11वीं बार RJD अध्यक्ष बने लालू, क्यों तेजस्वी पर दांव लगाने से पीछे हटी RJD

गर्ल्‍स स्‍कूल में पुलिस कैंप के दौरान जवान ने छात्रा के साथ की गंदी 'हरकत'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 4, 2019, 8:55 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर