लाइव टीवी

केन्द्रीय बजट मंदी से मुकाबला करने वाला, बिहार को होगा बड़ा फायदाः सुशील कुमार मोदी
Patna News in Hindi

Neelkamal | News18Hindi
Updated: February 1, 2020, 11:13 PM IST
केन्द्रीय बजट मंदी से मुकाबला करने वाला, बिहार को होगा बड़ा फायदाः सुशील कुमार मोदी
सुशील मोदी ने कहा कि इस बजट से 15 वें वित्त आयोग की अनुशंसा पर केन्द्रीय करों में पिछले वर्ष की तुलना में बिहार की हिस्सेदारी में 15 हजार करोड़ की वृद्धि होगी. फाइल फोटो

सुशील मोदी ने कहा कि बजट में आयकर के सरलीकरण, लघु एवं मध्यम उद्योगों, आवासीय व कृषि प्रक्षेत्रों के लिए जो अनेक प्रावधान किए गए हैं उससे जहां रोजगार का सृजन होगा, लोगों की आमदनी बढ़ेगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 1, 2020, 11:13 PM IST
  • Share this:
पटना. केन्द्रीय बजट 2020-21 पर बिहार के उपमुख्यमंत्री सह वितमंत्री सुशील कुमार मोदी ने इसे सूबे के लिए फायदे वाला बताया. उन्होंने कहा कि इससे रोजगार सृजन, आम लोगों की आमदनी बढ़ाने मे मदद मिलेगी. वहीं बेहत्तर तरीके से मंदी का मुकाबला भी हो सकेगा. उन्होंने कहा कि यह एक बेहतरीन बजट है और इससे देश की अर्थव्यवस्‍था को काफी फायदा होने की उम्मीद है.

सूबे को होगा फायदा
उन्होंने कहा कि इस बजट से 15 वें वित्त आयोग की अनुशंसा पर केन्द्रीय करों में पिछले वर्ष की तुलना में बिहार की हिस्सेदारी में 15 हजार करोड़ की वृद्धि होगी. मोदी ने कहा कि एन के सिंह की अध्यक्षता वाले 15 वें वित्त आयोग की अनुशंसा को 2020-21 के बजट में शामिल करने का फायदा हमें होगा.

केंद्रीय करो में बढ़ी बिहार की हिस्सेदारी

केन्द्रीय करों में बिहार की हिस्सेदारी 0.396 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 2019-20 की 9.665 प्रतिशत की तुलना में बढ़ कर 2020-21 में 10.061 प्रतिशत हो गई है. इसके परिणामस्वरूप पिछले साल जहां केन्द्रीय करों में बिहार की हिस्सेदारी के तौर पर 63,406 करोड़ का प्रावधान था. वहीं इस साल बिहार का हिस्सा 15 हजार करोड़ की वृद्धि के साथ 78,896 करोड़ होगा.

पंचायती राज में भी बिहार को फायदा
पूरे देश में पिछले वर्ष की तुलना में 20-21 में पंचायती राज संस्थाओं के बजट में 11 हजार करोड़, नगर निकायों के लिए 4500 करोड़ और आपदा प्रबंधन अनुदान में 10062 करोड़ की वृद्धि का सर्वाधिक लाभ बिहार जैसे राज्य को मिलेगा.लोगो के हाथ में आएगा ज्यादा पैसा
सुशील मोदी ने कहा कि बजट में आयकर के सरलीकरण, लघु एवं मध्यम उद्योगों, आवासीय व कृषि प्रक्षेत्रों के लिए जो अनेक प्रावधान किए गए हैं उससे जहां रोजगार का सृजन होगा, लोगों की आमदनी बढ़ेगी. लोगों के हाथों में ज्यादा पैसा आएगा, बचत होगी जिससे आर्थिक सुस्ती का बेहतर तरीके से मुकाबला संभव होगा.

ये भी पढ़ेंः बजट से थीं काफी उम्मीदें लेकिन बिहार के लिए मन में रह गई थोड़ी कसक

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 1, 2020, 11:13 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर