• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • 'मजदूरों की पीड़ा पर सियासत करने की मिली सजा', RJD में भगदड़ पर सुशील मोदी का वार

'मजदूरों की पीड़ा पर सियासत करने की मिली सजा', RJD में भगदड़ पर सुशील मोदी का वार

सुशील मोदी ने कहा कि अब राबड़ी देवी को सदन में विरोधी दल के नेता पद से हाथ धोना पड़ेगा (फाइल फोटो)

सुशील मोदी ने कहा कि अब राबड़ी देवी को सदन में विरोधी दल के नेता पद से हाथ धोना पड़ेगा (फाइल फोटो)

सुशील मोदी (Sushil Modi) ने कहा कि कोरोना संकट (Corona Crisis) और लॉकडाउन (Lockdown) जैसी विषम परिस्थितियों में जिस निर्लज्जता के साथ आरजेडी (RJD) ने सरकार के राहतकार्यों की सिर्फ आलोचना की, उसकी सजा तो मिलनी तय थी.

  • Share this:
पटना. बिहार चुनाव (Bihar Election) से पहले आरजेडी (RJD) को बड़ा झटका लगा है. मंगलवार को राजद को एक के बाद एक, तीन बड़े झटके लगे. पहला, जेडीयू ने राजद खेमे में बड़ी सेंधमारी करते हुए पांच विधानपार्षदों को अपने पाले में कर लिया. दूसरा, विधानपरिषद में पूर्व सीएम राबड़ी देवी (Rabri Devi) की नेता विरोधी दल की कुर्सी को लगा है. तीसरा बड़ा झटका, राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह (Raghuvansh Pd Singh) ने अपने पद से इस्तीफ दे दिया. एक के बाद एक, तीन बड़े झटकों से राजद तिलमिला उठा. वहीं सूबे के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी (Sushil Modi) ने इसको लेकर राजद पर करारा वार किया.

'मजदूरों पर सियासत करने की मिली सजा'
सुशील मोदी ने कहा कि लालू प्रसाद की पार्टी ने कोरोना संकट और लॉकडाउन जैसी विषम परिस्थितियों में भी जिस निर्लज्जता के साथ सरकार के राहतकार्यों की सिर्फ आलोचना की, उस अंधनकारात्मकता का नतीजा है कि पार्टी के पांच विधानपार्षदों ने राजद से नाता तोड़ लिया. अब राबड़ी देवी को सदन में विरोधी दल के नेता पद से भी हाथ धोना पड़ेगा. उन्हें गरीबों-मजदूरों की पीड़ा पर राजनीति करने और विकास में अड़ंगेबाजी करने की सजा मिलना तय था.

'वंशवाद के चलते रघुवंश बाबू की हुई अवहेलना'
सुशील मोदी ने रघुवंश प्रसाद सिंह के इस्तीफे को लेकर राजद पर निशाना साधते हुए कहा कि लालू प्रसाद ने अपने अच्छे-बुरे हर दौर के साथी रघुवंश प्रसाद सिंह की सलाह न मान कर ऊंची जातियों को 10 फीसद आरक्षण देने के एनडीए सरकार के फैसले का विरोध जारी रखा. और पुत्र मोह में उनकी लगातार उपेक्षा भी करते रहे. एम्स से पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पद से उनका इस्तीफा देना, जाहिर करता है कि राजद को परिवारवाद किस हद तक निगल चुका है. लोकसभा चुनाव में जीरो पर आउट होने वाली पार्टी से एक साथ पांच माननीय सदस्यों का मोहभंग और वरिष्ठ पदाधिकारी का इस्तीफा देना, तेजस्वी यादव के नेतृत्व को दूसरा बड़ा झटका है.

 

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज