Home /News /bihar /

sushil modi taunts on tejashwi yadav gets z plus security brvj

तेजस्वी यादव पर बोले सुशील मोदी- कुर्सी तो वही होती है, मगर बैठने वाले का भाग्य अलग-अलग होता है!

सुशील मोदी ने तेजस्वी यादव को मिली जेड श्रेणी की सुरक्षा पर सवाल उठाए.

सुशील मोदी ने तेजस्वी यादव को मिली जेड श्रेणी की सुरक्षा पर सवाल उठाए.

Bihar News: सुशील कुमार मोदी ने तेजस्वी यादव को मिली जेड प्लस श्रेणी की सुरक्षा व बुलेट प्रूफ गाड़ी पर सवाल उठाए हैं. सुशील मोदी ने इस बहाने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव पर तो तंज कसा ही उन्होंने तेज प्रताप यादव को भी नहीं छोड़ा.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

तेजस्वी यादव को मिले जेड प्लस श्रेणी की सुरक्षा को लेकर सुशील मोदी ने उठाए सवाल.
सुशील मोदी बोले- एनडीए के उपमुख्यमंत्री को तो कभी बलेट प्रूफ गाड़ी की जरूरत नहीं हुई.

पटना. बिहार में सत्ता बदलते ही बीजेपी ने पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी को नीतीश और तेजस्वी के खिलाफ मैदान में उतार दिया है. सुशील मोदी एक बार फिर से अब पुराने तेवर में लौट चुके हैं. महागठबंधन की नई सरकार पर हमले की शुरुआत उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से ही की है. तेज कर दिए हैं. सुशील कुमार मोदी के निशाने पर तेजस्वी यादव भी रहे, जिन्हें जेड प्लस श्रेणी की सुरक्षा मिली है.

सुशील कुमार मोदी ने कहा कि बिहार में मैं 12 साल तक उप मुख्यमंत्री रहा, लेकिन सरकार को न मुझे बुलेट प्रूफ गाड़ी देने की जरूरत महसूस हुई, न जेड-प्लस सुरक्षा की. मामूली सुरक्षा के बीच मैंने 1, पोलो रोड के सरकारी आवास से लंबे समय तक जनता की सेवा की. जिनका राजपाट आते ही जनता सहम जाती है, भला उनको किससे इतना खतरा है कि सुरक्षा बढ़ाई जा रही है?

Koo App

अब के डिप्टी सीएम पहले ही कार्यकाल में 5, देशरत्न मार्ग वाले सरकारी आवास में 46 एसी लगवा चुके हैं। गरीबों के मसीहा ने पद से हटने के बाद भी आलीशान बंगला न छोड़ने के लिए सुप्रीम कोर्ट तक लड़ाई लड़ी, लेकिन दाल नहीं गली। उन्हें लगता था कि जो बंगला एक राजकुमार के लायक बनाया गया, उसमें दूसरा कैसे रह सकता है? उन्हें एनडीए का डिप्टी सीएम तो बीपीएल स्तर की सुविधा के लायक लगता था।

Sushil Kumar Modi (@sushilmodi) 11 Aug 2022


मोदी ने कहा- अब के डिप्टी सीएम पहले ही कार्यकाल में 5, देशरत्न मार्ग वाले सरकारी आवास में 46 एसी लगवा चुके हैं. गरीबों के मसीहा ने पद से हटने के बाद भी आलीशान बंगला न छोड़ने के लिए सुप्रीम कोर्ट तक लड़ाई लड़ी, लेकिन दाल नहीं गली. उन्हें लगता था कि जो बंगला एक राजकुमार के लायक बनाया गया, उसमें दूसरा कैसे रह सकता है?

पूर्व डिप्टी सीएम ने कहा, तेजस्वी यादव को एनडीए का डिप्टी सीएम तो बीपीएल स्तर की सुविधा के लायक लगता था. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अपने नौजवान डिप्टी को जिस आदर और विनम्रता के साथ उनका हाथ पकड़ कर कुर्सी तक ले जाते दिखे, उससे साफ है कि डी-फैक्टो सीएम कौन है और कौन एहसान तले दबा हुआ है. कुर्सी तो वही होती है, लेकिन बैठने वाले का भाग्य अलग-अलग होता है.


सुशील मोदी ने नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव पर तो तंज कसा ही उन्होंने तेज प्रताप यादव को भी नहीं छोड़ा. मोदी ने कहा कि महागठबंधन- 02 में भी बड़े राजकुमार को छोटी कुर्सी मिलेगी, लेकिन उन्हें उनकी पसंद का स्वास्थ्य विभाग ही मिलना चाहिए. इलाज बेहतर हो या न हो, कम से कम जनता का मनोरंजन होते रहना चाहिए.

Tags: Bihar News, Bihar politics, PATNA NEWS, RJD leader Tejaswi Yadav

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर