दो युवतियों की मौत ने बिहार के शेल्टर होम्स पर फिर से खड़े किये सवाल

जिस शेल्टर होम में ये घटना हुई है वो पटना के राजीव नगर के नेपाली नगर में है. इससे पहले भी राजीव नगर के इसी आसरा सुधार गृह से शुक्रवार की सुबह कुछ लड़कियों ने भागने की कोशिश की थी

News18 Bihar
Updated: August 12, 2018, 12:55 PM IST
दो युवतियों की मौत ने बिहार के शेल्टर होम्स पर फिर से खड़े किये सवाल
पटना का शेल्टर होम
News18 Bihar
Updated: August 12, 2018, 12:55 PM IST
पटना के शेल्टर होम की दो लड़कियों की मौत ने एक बार फिर से बिहार के सरकारी तंत्र पर सवाल खड़े कर दिये हैं. मुजफ्फरपुर बालिका गृह रेप कांड की घटना के बाद बिहार के शेल्टर होम्स की बदहाली के मामले लगातार सामने आ रहे थे इसी बीच राजधानी पटना के ही एक शेल्टर होम की दो लड़कियों की संदेहास्पद स्थिति में मौत हो गई.

खास बात यह है कि इन शेल्टर होम्स का संचालन विभाग का समाज कल्याण विभाग करता है. दो मौतों को वहां के प्रबंधन ने छिपाये रखा और गुपचुप तरीके से दोनों को इलाज के लिये पटना के सरकारी अस्पताल में भर्ती करा दिया और दोनों की मौत पटना के पीएमसीएच में हुई है. मौत का कारण तो पोस्टमार्टम रिपोर्ट से सामने आयेगा लेकिन सवाल इस बात को लेकर उठ रहे हैं कि आखिर प्रबंधन ने इन मौतों की सूचना पुलिस को क्यों नहीं दी.

ये भी पढ़ें- ब्रजेश ठाकुर के कॉल डिटेल से मिला उसकी 'मिस्ट्री वुमन' मधु का अहम सुराग

पटना के आसरा शेल्टर होम की दोनों युवतियों की मौत शनिवार की शाम को ही हुई थी, लेकिन इस घटना की जानकारी पुलिस को नहीं दी गई और मामले का खुलासा 24 घंटे बाद हुआ. इस मौत के बाद आसरा शेल्टर होम फिर से विवादों में आ गया है.

जिस शेल्टर होम में ये घटना हुई है वो पटना के राजीव नगर के नेपाली नगर में है. इससे पहले भी राजीव नगर के इसी आसरा सुधार गृह से शुक्रवार की सुबह कुछ लड़कियों ने भागने की कोशिश की थी जिन्हें समय रहते पकड़ लिया गया था.

इस बात की जानकारी पुलिस तक पहुंची थी जिसके बाद राजीव नगर थाना की पुलिस ने तमाम पहलुओं पर जांच शुरू की थी लेकिन पुलिस की तफ्तीश के दो दिन बाद ही इसी शेल्टर होम की दो युवतियों की मौत ने कई सवाल एक साथ खड़े कर दिये हैं.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर