बिहार की सरकार में तारकिशोर प्रसाद और रेणु देवी को मिल सकती है उपमुख्‍यमंत्री की जिम्‍मेदारी- सूत्र

तारकिशोर प्रसाद. (फाइल फोटो)
तारकिशोर प्रसाद. (फाइल फोटो)

बिहार की नई सरकार में इस बार दो उपमुख्‍यमंत्री बनाए जा सकते हैं और ये जिम्‍मेदारी तारकिशोर प्रसाद (Tarkishore Prasad) के साथ रेणु देवी (Ranu Devi) को मिल सकती है.

  • Share this:
पटना. बिहार विधानसभा चुनाव में 125 सीट जीतने वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) ने जेडीयू के राष्‍ट्रीय अध्यक्ष और बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) को नेता चुन लिया गया और इसके साथ ही उनके फिर मुख्यमंत्री बनने का रास्‍ता साफ हो गया है. जबकि उपमुख्‍यमंत्री के तौर पर सुशील कुमार मोदी (Sushil Kumar Modi) के नाम पर अभी सस्‍पेंस बरकरार है. हालांकि इस बार तारकिशोर प्रसाद को विधानमंडल दल का नेता और नोनिया समाज से आने वाली रेणु देवी को उपनेता चुना गया है. सूत्रों के मुताबिक, बिहार की नई सरकार में इस बार दो उपमुख्‍यमंत्री बनाए जा सकते हैं और ये जिम्‍मेदारी तारकिशोर प्रसाद (Tarkishore Prasad) के साथ रेणु देवी (Ranu Devi) को मिल सकती है.

सीमांचल और बेतिया को मिलेगी जिम्‍मेदारी!
तारकिशोर प्रसाद का संबंध सीमांचल के कटिहार से है, तो नोनिया समाज से आने वाली रेणु देवी बेतिया से चौथी बार विधायक बनी हैं. विधानमंडल दल का नेता चुने जाने के बाद तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि मुझे यह ज़िम्मेदारी दी गई है और मैं अपनी क्षमता के अनुसार कर्तव्य का निर्वाह करूंगा. जबकि बिहार के डिप्टी सीएम के पद के बारे में पूछे जाने पर तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि मैं इस पर अभी टिप्पणी नहीं कर सकता. तारकिशोर प्रसाद वैश्य समुदाय से आते हैं और चौथी बार विधायक निर्वाचित हुए हैं. वह आरएसएस से संबद्ध अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद में विभिन्न दायित्वों पर काम कर चुके हैं. वहीं, उन्होंने अपने चुनावी हलफनामे में अपना पेशा कृषि और शिक्षा इंटरमीडिएट बताई है.







इससे पहले एनडीए विधानमंडल दल की बैठक में सुशील कुमार मोदी ने कहा कि पार्टी ने मुझे बहुत कुछ दिया है, नेता प्रतिपक्ष बनाया, उपमुख्यमंत्री बनाया विधानमंडल दल का नेता बनाया, लेकिन इस बार मैं चाहता हूं कि कोई चुना हुआ विधायक ही विधानमंडल दल का नेता हो. जबकि खुद सुशील कुमार मोदी ने ही तार किशोर प्रसाद का नाम विधानमंडल दल के नेता के रूप में प्रस्तावित किया, जिस पर प्रेम कुमार और नंदकिशोर यादव ने समर्थन किया. दूसरी तरफ विधानमंडल दल के उप नेता का नाम रेणु देवी का प्रस्ताव विजय सिन्हा ने किया जिसका समर्थन संजय सरावगी ने किया. नोनिया समाज से आने वाली रेणु देवी बेतिया से चौथी बार विधायक बनी हैं. हालांकि नई सरकार में किस दल का कौन मंत्री होगा और कितने मंत्री होंगे. यह भी अभी स्पष्ट नहीं है.

गौरतलब है कि जदयू अध्यक्ष नीतीश कुमार, राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) का नेता चुने जाने के बाद राज्यपाल फागू चौहान से मुलाकात कर सरकार बनाने का दावा पेश कर चुके हैं. सोमवार को नई सरकार का शपथ ग्रहण कार्यक्रम होगा. वहीं, नई सरकार में मंत्रियों की संख्या के बारे में पूछे जाने पर मनोनीत मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि यह भी तय हो जायेगा. जबकि सुशील कुमार मोदी के उपमुख्यमंत्री बनाने के सवाल पर नीतीश कुमार ने कहा कि यह सब थोड़ी देर में तय हो जायेगा. जबकि भाजपा के दिग्‍गज नेता राजनाथ सिंह ने भी उपमुख्यमंत्री के नाम के बारे में पूछे जाने पर कहा कि उचित समय पर जानकारी दे दी जायेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज