अपना शहर चुनें

States

तेजस्वी का CM नीतीश पर हमला, कहा- बिहार में सत्ता संरक्षित अपराधियों का तांडव

अजय कुमार की गुमशुदगी का मामला मसौढ़ी थाने में दर्ज किया गया था.  (File Photo)
अजय कुमार की गुमशुदगी का मामला मसौढ़ी थाने में दर्ज किया गया था. (File Photo)

तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने कहा कि बिहार सरकार के कृषि पदाधिकारी अजय कुमार का अपहरण हुआ था, लेकिन हफ़्ते तक पुलिस सोती रही.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 25, 2021, 7:00 PM IST
  • Share this:
पटना. बिहार की राजधानी पटना के मसौढ़ी प्रखंड कृषि पदाधिकारी (BAO) अजय कुमार की हत्या को लेकर अब बिहार में राजनीति शुरू हो गई है. लालू प्रसाद यादव के छोटे बेटे और बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने अजय कुमार की हत्या (Murder) को लेकर नीतीश कुमार की सरकार पर हमला बोला है. उन्होंने कहा है कि बिहार सरकार के कृषि पदाधिकारी अजय कुमार का अपहरण हुआ. हफ़्ते तक पुलिस सोती रही. अब उनका शव बरामद हुआ है. सत्ता संरक्षित अपराधियों ने तांडव मचा रखा है, क्योंकि निर्लज्ज, निकम्मी, अनैतिक और अवैध सरकार के मुखिया दो-दो उपमुख्यमंत्री के साथ हाथ पर हाथ धरे बैठे हैं, क्यों, क्या मजबूरी है?

दरअसल, रविवार को कृषि पदाधिकारी अजय कुमार का शव गौरीचक इलाका स्थित एक नदी के किनारे  मिला था. मसौढ़ी के प्रखंड कृषि पदाधिकारी अजय कुमार पिछले 18 जनवरी से लापता हो गए थे. उनके लापता होने पर पुलिस में परिवार के लोगों ने किडनैपिंग का मामला दर्ज कराया था, जिसके बाद पुलिस की कई टीमों को उनकी बरामदगी के लिए लगाया गया था, लेकिन इसके बाद भी उनकी बरामदगी नहीं हो सकी थी. घटना के 6 दिन बाद रविवार को प्रखंड कृषि पदाधिकारी अजय कुमार का शव नदी के किनारे से मिला. अजय कुमार की गुमशुदगी का मामला मसौढ़ी थाने में दर्ज किया गया था.

बिहार में कृषि अधिकारी की हत्‍या को लेकर तेजस्‍वी यादव ने नीतीश सरकार पर तीखा हमला बोला है. (तेजस्‍वी यादव के ट्वीट का स्‍क्रीनशॉट)





कोरोना से उबर कर पहुंचे थे ऑफिस
एफआईआर में कृषि अधिकारी की पत्नी पूनम ने बताया था कि उनके पति अजय कुमार मूल रूप से लखीसराय के बड़हिया के रहने वाले हैं और उनकी तैनाती मसौढ़ी में है. अजय कुमार परिवार सहित पटना के कंकड़बाग थाना क्षेत्र स्थित बुद्ध नगर रोड नंबर 2 दक्षिणी चांदमारी में रहते थे. कुछ दिन पहले ही वो कोरोना से संक्रमित हो गये थे. कोरोना निगेटिव होने के बाद वो पहले दिन ही कार्यालय गये थे. इसी दौरान उनको अगवा कर लिया गया. पुलिस के मुताबिक हत्या की यह घटना पैसे के लेनदेन के विवाद में हुई है. पुलिस फिलहाल इस मामले की तहकीकात में जुटी है. कृषि पदाधिकारी की हत्या मामले पर भाजपा सांसद रामकृपाल यादव का बयान सामने आया है. पाटलिपुत्र के सांसद ने कहा कि हाल के दिनों में हो रही घटनाएं चिंता का विषय है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज