Home /News /bihar /

बेरोजगारी के मुद्दे पर नीतीश सरकार को घेरेगें तेजस्वी यादव, मार्च में पटना में करेंगे महारैली

बेरोजगारी के मुद्दे पर नीतीश सरकार को घेरेगें तेजस्वी यादव, मार्च में पटना में करेंगे महारैली

तेजस्वी यादव पटना में बेरोजगारी के मुद्दे पर रैली करेंगे  (फाइल फोटो)

तेजस्वी यादव पटना में बेरोजगारी के मुद्दे पर रैली करेंगे (फाइल फोटो)

RJD Berojgar Rally:  तेजस्वी यादव ने ऐलान किया है कि वो मार्च के महीने में बेरोजगारी महारैली करेंगे. तेजस्वी यादव के इस ऐलान पर NDA ने पलटवार किया है और कहा कि फिलहाल बिहार जंगलराज से आगे निकलकर देश में सबसे ज्यादा रोजगार देने वाले राज्यों में शामिल हो गया है.

अधिक पढ़ें ...

पटना. बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) बेरोजगारी के मुद्दे पर एक बार फिर से सरकार को घेरने के मूड में हैं. विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) के वक़्त तेजस्वी यादव ने दस लाख रोज़गार का वादा किया था और बेरोजगारी का मुद्दा ऐसा उठाया था जिसका जवाब NDA को खोजे नहीं मिल रहा था. भले ही तेजस्वी यादव को सत्ता नहीं मिली लेकिन NDA को भी सत्ता पाने में पसीने छूट गए थे. विधानसभा चुनाव तो ख़त्म हो गया लेकिन तेजस्वी यादव इस मुद्दे को अपने हाथ से जाने नही देना चाहते हैं. अब उन्होंने एलान कर दिया है कि 2022 में मार्च महीने में किसी दिन राजधानी पटना में बेरोजगारी के मुद्दे पर बेरोजगारी महारैला का आयोजन करेंगे.

तेजस्वी जनता को बताएंगे कि बिहार में पांच लाख से ज़्यादा सरकारी नौकरी के पद ख़ाली हैं लेकिन सरकार उसे नहीं भर पा रही है. उनकी सरकार आएगी तो खाली पड़े तमाम सरकारी नौकरी के पद भरे जाएंगे. जाहिर है कि तेजस्वी यादव को पता है कि बिहार में युवाओं की संख्या बहुत ज़्यादा है और बड़ी संख्या में युवा रोजगार को लेकर भटक रहे हैं, वहीं बिहार में उद्योग धंधो का हाल भी ठीक नहीं है, ऐसे में  जब युवाओं को रोजगार और वो भी सरकारी रोजगार बिहार में ही देने की बात करेंगे तो युवाओं का झुकाव राजद की तरफ बढ़ेगा, जिसका असर तेजस्वी यादव ने विधानसभा चुनाव में देख लिया है जब उनकी चुनावी सभाओं में बड़ी संख्या में युवाओं की भीड़ जुटती थी.

तेजस्वी यादव के बेरोज़गारी महारैली करने के एलान के बाद बिहार की सियासत गर्मा गई है और JDU के मुख्य प्रवक्ता नीरज कुमार ने तेजस्वी यादव को चुनौती देते हुए कहा कि तेजस्वी यादव को चुनौती देता हूं कि बिहार के किसी भी एक ऐसा पंचायत बता दें जहां संगठित क्षेत्र में 30 से 35 लोगों को रोज़गार ना दिया गया हो, वहीं अगर असंगठित क्षेत्र को जोड़ दें तो ये संख्या और बढ़ जाएगी. बिहार की आबादी के लिहाज से अगर देखा जाए तो देश के किसी भी राज्य के मुकाबले बिहार में सबसे ज़्यादा रोजगार दिया गया है. नीरज कुमार इस बात पर चुटकी भी लेते हैं कि हमारी सरकार रोज़गार के नाम पर किसी की जमीन नहीं लिखाती है.

राजद के वरिष्ठ नेता श्याम रजक ने JDU के दावे पर सवाल उठाते हुए कहा कि अगर नीतीश सरकार हर पंचायत में नौकरी की बात करती है तो एक सीट की वैकेन्सी पर लाखों लोग क्यों आवेदन करते हैं. लाखों की संख्या में युवा पलायन क्यों करते हैं. स्कूल में शिक्षक नहीं हैं. सरकारी अस्पताल में कर्मियों की कमी है सिर्फ़ दावे से क्या होगा. हमारी सरकार जब आएगी तो तमाम सरकारी रिक्तियाँ जल्द से जल्द भर दी जाएंगी. तेजस्वी यादव सिर्फ दावा नहीं करते हैं बल्कि वो इसे धरातल पर भी उतारने का पूरा ब्लू प्रिंट तैयार कर रखा है.

Tags: Bihar News, Bihar politics, Nitish par tejashwi ka nishana, Tejashwi Yadav

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर