Home /News /bihar /

tejashwi yadav came in support of arrested fact checker alt news founder mohammed zubair nodmk8

गिरफ्तार अल्ट न्यूज के मो. ज़ुबैर का तेजस्वी यादव ने किया समर्थन, शायरी कर साधा निशाना

तेजस्वी यादव गिरफ्तार फैक्ट चेकर अल्ट न्यूज के सह-संस्थापक मोहम्मद जुबैर के समर्थन में उतर आए हैं (फाइल फोटो)

तेजस्वी यादव गिरफ्तार फैक्ट चेकर अल्ट न्यूज के सह-संस्थापक मोहम्मद जुबैर के समर्थन में उतर आए हैं (फाइल फोटो)

Bihar News: तेजस्वी यादव ने गिरफ्तार फैक्ट चेकर और अल्ट न्यूज़ के सह-संस्थापक मोहम्मद जुबैर के साथ अपनी एकजुटता दर्शाने के लिए हैशटैग ‘स्टैंड विद जुबैर’ के साथ अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, ‘ऐ आखं वालो इबरत हासिल करो. कोई जालिम कोई जाबिर हमेशा न रहा है न रहेगा. एक दिन उसको जरूर अपने आमाल का हिसाब देने अपने रब के रूबरू हाजिर होना है’

अधिक पढ़ें ...

पटना. बिहार विधानसभा में नेता विपक्ष और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के नेता तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने गिरफ्तार फैक्ट चेकर और अल्ट न्यूज (Alt News) के सह-संस्थापक मोहम्मद जुबैर (Mohammed Zubair) का समर्थन किया है. उन्होंने मोहम्मद जुबैर के साथ अपनी एकजुटता दर्शाने के लिए हैशटैग ‘स्टैंड विद जुबैर’ के साथ अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, ‘ऐ आखं वालो इबरत हासिल करो. कोई जालिम कोई जाबिर हमेशा न रहा है न रहेगा. एक दिन उसको जरूर अपने आमाल का हिसाब देने अपने रब के रूबरू हाजिर होना है.’

बता दें कि दिल्ली पुलिस ने मोहम्मद जुबैर को उसके एक आपत्तिजनक ट्वीट से धार्मिक भावनाएं आहत करने के आरोप में गिरफ्तार किया था. मोहम्मद जुबैर के खिलाफ आईपीसी की धारा 153ए और 295ए के तहत केस दर्ज किया गया है. पुलिस के मुताबिक जुबैर के खिलाफ आपत्तिजनक ट्वीट करने के लिए शिकायत दर्ज कराई गई थी. मोहम्मद जुबैर को दिल्ली पुलिस ने पूछताछ के लिए सोमवार को बुलाया था. इसके बाद स्पेशल सेल की IFSO यूनिट ने मोहम्मद जुबैर को गिरफ्तार कर लिया था.

उसे सोमवार की रात ही एक ड्यूटी मजिस्ट्रेट के समक्ष (सामने) पेश किया गया जिन्होंने उसे एक दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया था.

मंगलवार को दिल्ली पुलिस ने जुबैर की हिरासत की एक दिन की अवधि समाप्त होने के बाद उसे मुख्य मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट स्निग्धा सरवरिया के समक्ष पेश किया और उसकी हिरासत पांच दिन बढ़ाने का अनुरोध किया था. सरवरिया ने दिल्ली पुलिस और आरोपी की दलीलें सुनने के बाद जुबैर की हिरासत की अवधि को चार दिन के लिए बढ़ाने का आदेश सुनाया.

पुलिस ने अदालत से कहा कि आरोपी मोहम्मद जुबैर जांच एजेंसी के साथ सहयोग नहीं कर रहा और उस उपकरण के बारे में जानकारी जुटाने के लिए उससे हिरासत में पूछताछ जरूरी है जिससे आरोपी ने ट्वीट किया था. वहीं, सुनवाई के दौरान मोहम्मद जुबैर की ओर से वकील ने अदालत में कहा कि आरोपी ने ट्वीट में जिस तस्वीर का इस्तेमाल किया था वो वर्ष 1983 में आई ऋषिकेश मुखर्जी की हिंदी फिल्म ‘किसी से ना कहना’ की है और उस फिल्म पर रोक नहीं लगी थी.

Tags: Bihar News in hindi, Delhi police, Tejashwi Yadav

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर